सक्सेस स्टोरीज

मछली पालन और पशुपालन से करोड़पति बने वर्मा बंधु

भोपाल : मंगलवार, जुलाई 10, 2018, 14:55 IST

धार जिले के सुन्द्रेल ग्राम निवासी दो भाई रमेशचन्द्र वर्मा और कैलाशचन्द्र वर्मा सरकारी योजनाओं की मदद से आज जाने-माने मछली बीज व्यवसायी बन गये हैं। इन्होंने गाँव में अपनी 7 बीघा जमीन पर मछली विभाग के सहयोग से 2 लाख 18 हजार रुपये का लोन लेकर कच्चे फिश पॉण्ड बनाकर मछली बीज उत्पादन का व्यवसाय शुरू किया था।

मछली पा लन विभाग की योजनाओं में मिले ऋण और अनुदान की मदद से वर्मा बंधु ने अपने व्यवसाय को 120 बीघा क्षेत्र तक बढ़ा लिया है। आज इनके पास 40 पक्की नर्सरियाँ और हेचरीज हैं। इनके द्वारा उत्पादित मछली बीज प्रदेश के साथ-साथ महाराष्ट्र के विभिन्न अंचलों में भी बिकते हैं। वर्मा बंधु के मछली बीज मत्स्य महासंघ के गाँधी सागर, बाण सागर, इंदिरा सागर, ओंकारेश्वर, कोलार, हलाली और बारना जलाशयों को मछलियों के फिंगरलिंग की आपूर्ति करते हैं।

वर्मा बंधु मछली के कॉमन कॉर्प, मेजर कॉर्प, उतला, रोहू, मृगल आदि मत्स्य बीज का उत्पादन कर रहे हैं। इनकी नर्सरीज और हेचरीज को कुएँ के अलावा सीधे नर्मदा नदी से पाइप लाइन बिछाकर पानी की पूर्ति की जा रही है। इन्होंने वर्ष 2017-18 में मछली के 8560 लाख स्पॉन और 2890 लाख फ्राई बीजों का उत्पादन कर प्रदेश में निजी मत्स्य बीज उत्पादन के क्षेत्र में रिकार्ड स्थापित किया है। वर्मा बंधु ने मछली बीज उत्पादन व्यवसाय के साथ-साथ अब पशुपालन का व्यवसाय भी शुरू कर दिया है। आज इनके पास 40 भैंस, गाय और बैल हैं।

राज्य शासन की मछली पालन और पशुपालन योजनाओं का भरपूर लाभ उठाकर वर्मा बंधु की सालाना आय 30 लाख रुपये तक पहुँच गई है। कभी कच्चे घर में रहकर मछली पालन का छोटा-मोटा व्यवसाय करने वाले इन भाइयों ने व्यवसाय की कमाई से ही आधुनिक सुविधाओं से सुसज्जित घर बनाया है। वर्मा बंधु की तरक्की राज्य शासन की योजनाओं की सार्थकता का सशक्त प्रमाण है।

 सक्सेस स्टोरी(धार)


महेश दुबे
शाहपरी, सज्जाद और नासिर का माफ हुआ बकाया बिजली बिल
आजीविका मिशन की ताकत से महिलाओं के लिये प्रेरणा बनी किरणदीप कौर
प्रधानमंत्री आवास योजना ने गरीब परिवारों को बनाया पक्के घरों का मालिक
श्रमिक सुनीता, संध्या और शशि को मिले पक्के घर
गरीबों, जरूरतमंदों का भोजनालय बनी दीनदयाल रसोई
मुख्यमंत्री स्व-रोजगार योजना से युवा बन रहे हैं सफल व्यवसायी
फार्म पौण्ड और स्प्रिंकलर से सिंचाई कर बढ़ाया फसल उत्पादन
दीनदयाल रसोई में पाँच रुपये में मिल रहा भरपेट स्वादिष्ट भोजन
आजीविका मिशन ने गरीब परिवारों को बनाया आर्थिक रूप से सशक्त
"नैचुरल हनी" ब्राँड शहद के मालिक हैं युवा किसान अनिल धाकड़
बच्चों की गंभीर बीमारियों का हुआ मुफ्त इलाज
प्रेमसिंह और राधेश्याम की पक्के मकान की चाह पूरी हो गई
टमाटर की खेती से किसान लखनलाल की आर्थिक स्थिति हुई मजबूत
श्रमिकों के आये अच्छे दिन, मिले पक्का मकान
प्रधानमंत्री आवास योजना से पूरी हुई अपने घर की अभिलाषा
श्रमिक पर्वतलाल और महेश को भी मिला पक्का घर
मछली विक्रेता की बेटी मनीषा ने शूटिंग में बनाया विश्व रिकॉर्ड
समाधान एक दिन में योजना से आम आदमी को मिली राहत
दुर्लभ और विलुप्त पौधों की प्रजातियों को संरक्षित कर रहे हैं दिनेश गजानन
अलीराजपुर जिले को निरक्षरता के कलंक से मुक्त कर रहा सक्षम अभियान
कमलेश रजक और मेंतीबाई को मिला शौचालययुक्त पक्का घर
सोलर पंप से बची बिजली, कम हुई खेती की लागत
चित्रकूट की गौशाला में किया जा रहा है गौवंश नस्ल सुधार
कृषक रूपेश ने मक्का खेती से कमाया दोगुना फायदा
बकाया बिजली बिल माफी से गरीबों को मिली राहत
उज्जवला योजना से खुशहाल हुई रम्मोबाई, राजाबेटी, वर्षा और सुनीता की जिन्दगी
बुढ़ापे का सहारा बना प्रधानमंत्री आवास योजना में मिला पक्का घर
खेती के साथ पशुपालन कर रही है महिला कृषक शाँति
समाधान एक दिन योजना से तुरंत मिल रहे दस्तावेज
सरकारी मदद के बलबूते पर जिन्दगी को दी नई दिशा
1 2 3 4 5 6 7 8 9 10 ...