सक्सेस स्टोरीज

मुख्यमंत्री बिजली बिल माफी स्कीम से गरीबों के घरों में आयी खुशहाली

16 लाख परिवारों के 5 हजार 179 करोड़ के बिजली बिल माफ

भोपाल : गुरूवार, जुलाई 5, 2018, 14:04 IST

मुख्यमंत्री जन-कल्याण (संबल) योजना में मुख्यमंत्री बकाया बिजली का बिल माफी स्कीम के अंतर्गत ग्वालियर शहर के धर्मेन्द्र चौहान, अशोकनगर जिले में रूसल्ला बुजुर्ग निवासी प्रभुलाल, रीवा जिले के गंगाराम, अनीता जाटव, रमाशंकर चतुर्वेदी, कलावती साकेत, बिष्णु बंसल, कटनी नगर निगम निवासी महेश शैली, राम विशाल चक्रवर्ती, कमलाबाई कोल, शहडोल जिले में सिंहपुर निवासी अबुल करीम, बोड़री निवासी राजकुमार उन 16 लाख खुश किस्मत लोगों में से हैं, जिनके छोटे-छोटे बिजली बिलों को जोड़कर मुख्यमंत्री श्री शिवराज सिंह चौहान द्वारा16 लाख परिवारों के 5 हजार 179 करोड़ रुपये के बिजली बिल माफ कर दिए है। इन सभी हितग्राहियों को हर माह मात्र 200 तक ही बिजली बिल भरना होगा।

प्रसन्न है धर्मेन्द्र का परिवार: ग्वालियर जिले में निम्बालकर की गोठ में रहकर प्रिंटिंग का काम करने वाले धर्मेन्द्र चौहान के लिये यह योजना वरदान बन कर आई है। मासिक 6 से 7 हजार रूपये की आय में 14 हजार 636 रूपये के विद्युत बिल बकाया होना बहुत बड़ी परेशानी का कारण बन गया था, लेकिन बिल माफी का प्रमाण-पत्र और आगे से 200 रूपये में बिजली मिलने से पूरा परिवार प्रसन्न है, चिंतामुक्त हो गया है।

फूला नहीं समा रहा प्रभुलाल: अशोकनगर जिले के रूसल्ला बुजुर्ग निवासी प्रभुलाल का 24 हजार 8 रुपये का विद्युत बिल माफ हो जाने से प्रभूलाल फूला नही समा रहा है। मुख्यमंत्री का आभार भी व्यक्त कर रहा है।

दिल से साधुवाद दे रहे हैं रीवा के गरीब परिवार: रीवा जिले के विवेक जाटव का 36 हजार 980 रूपये, गंगाराम का एक हजार 312 रूपये, अनीता जाटव का 38 हजार 840 रूपये का, रामचरण लखेरा का 6 हजार 192 रूपये का, कलावती का 40 हजार 766 रूपये का, अच्छे लाल बसौर का 88 हजार, विष्णु बंसल का 75 हजार 344 रूपये बकाया का बिल एक ही झटके में राज्य सरकार ने मुख्यमंत्री बकाया बिजली बिल माफी स्कीम में माफ कर दिये हैं। यह सभी दिल से मुख्यमंत्री को साधुवाद दे रहे हैं।

अब भरेंगे बच्चों की स्कूल फीस: कटनी जिले के दैनिक मजदूर महेश कोल की 20 हजार रूपये, राम विशाल चक्रवर्ती की 21 हजार 586 रूपये , कमलाबाई कोल के 16 हजार 542 रूपये के बकाया विद्युत बिल माफ कर दिये गये हैं। उनके दिल और दिमाग से बिजली कटने का डर निकल गया है। उन्हें मालूम है कि अगले माह से 200 का फिक्स बिल आएगा। इन लोगों ने अब इस पैसे का उपयोग बच्चों की पढ़ाई में करने का फैसला किया है।

चेहरे पर आया निश्चितता का भाव: शहडोल जिले में सिंहपुर निवासी अब्दुल करीम का 6 हजार 154 रूपये, ग्राम बोड़री के राजकुमार का 7 हजार 894 रूपये का विद्युत बिल मुख्यमंत्री विद्युत बिल माफी स्कीम में माफ कर दिया गया है। उन्हें प्रमाण-पत्र भी प्राप्त हो गया है। उनके चेहरे पर निश्चिंतता का भाव साफ-साफ दिखाई देता है।


सक्सेस स्टोरी (ग्वालियर, अशोकनगर, रीवा, कटनी, शहडोल)


अनिल वशिष्ठ​
स्व-सहायता समूह बनाकर ग्रामीण महिलाएँ बनीं आत्म-निर्भर
शासन से मिली सहायता तो नीरज पहुंचे विदेश पढ़ाई करने
राजबहोट में दस मिनट में मिला विकलांग पेंशन का लाभ
वॉटर शेड परियोजना से खेतों को मिल रहा भरपूर पानी
मासूम भोला की हुई नि:शुल्क चिकित्सा : दस्तक अभियान से स्वस्थ हुआ ओमप्रकाश
आजीविका मिशन से सीमा ने बनाई नई पहचान
राष्ट्रीय कृषि विकास योजना से समृद्ध बनीं महिला किसान जानकी बाई
स्व-रोजगार योजना से कमलेश जाटव बने डेयरी मालिक
प्रधानमंत्री आवास योजना से पूरा हुआ अपने घर का सपना
नन्हीं पायल बोलने और सुनने लगी है
प्रधानमंत्री कृषि सिंचाई और उद्यानिकी विकास योजनाओं से किसान हुए समृद्ध
प्रधानमंत्री ग्राम सड़क से ग्राम औरीना और मुडकी में पहुँची विकास की रोशनी
आजीविका मिशन से जरूरतमंदों को मिल रहा संबल
मनरेगा की मदद से कृषक गोविंद के खेतों में बना कूप और तालाब
तत्काल आवश्यक दस्तावेज मिलने से आम आदमी को मिली राहत
गुलाब की खेती से सालाना 10-12 लाख कमा रहे युवा किसान आशीष
शाहपरी, सज्जाद और नासिर का माफ हुआ बकाया बिजली बिल
आजीविका मिशन की ताकत से महिलाओं के लिये प्रेरणा बनी किरणदीप कौर
प्रधानमंत्री आवास योजना ने गरीब परिवारों को बनाया पक्के घरों का मालिक
श्रमिक सुनीता, संध्या और शशि को मिले पक्के घर
गरीबों, जरूरतमंदों का भोजनालय बनी दीनदयाल रसोई
मुख्यमंत्री स्व-रोजगार योजना से युवा बन रहे हैं सफल व्यवसायी
फार्म पौण्ड और स्प्रिंकलर से सिंचाई कर बढ़ाया फसल उत्पादन
दीनदयाल रसोई में पाँच रुपये में मिल रहा भरपेट स्वादिष्ट भोजन
आजीविका मिशन ने गरीब परिवारों को बनाया आर्थिक रूप से सशक्त
"नैचुरल हनी" ब्राँड शहद के मालिक हैं युवा किसान अनिल धाकड़
बच्चों की गंभीर बीमारियों का हुआ मुफ्त इलाज
प्रेमसिंह और राधेश्याम की पक्के मकान की चाह पूरी हो गई
टमाटर की खेती से किसान लखनलाल की आर्थिक स्थिति हुई मजबूत
श्रमिकों के आये अच्छे दिन, मिले पक्का मकान
1 2 3 4 5 6 7 8 9 10 ...