सक्सेस स्टोरीज

प्रधानमंत्री आवास योजना में 1902 गरीब मजदूरों को मिले सुकून के आश्रय स्थल

भोपाल : मंगलवार, फरवरी 27, 2018, 16:58 IST

प्रधानमंत्री आवास योजना में उज्जैन जिले की नगरीय निकाय नागदा तथा नगर निगम उज्जैन में कच्चे मकान में रहने वाले 1902 गरीब बेघर लोगों को अपनी जिन्दगी बेहतरीन तरीके से बसर करने के लिये सुकून का आश्रय मिल गया है। प्रधानमंत्री का संकल्प सबका साथ सबका-विकास को साकार करने में इन दोनों निकायों ने अग्रणी भूमिका सुनिश्चित की है। नगर निगम उज्जैन ने 1567 मकान पूर्ण कर सम्बन्धित हितग्राही को उपलब्ध करवा दिये हैं। इसी तरह नगर पालिका परिषद नागदा ने 335 हितग्राहियों को पक्के मकान उपलब्ध करवा दिये हैं।

मजदूरी में जीवन गुजारने वाले इन गरीबों को यह पता नहीं था कि एक दिन उनके भी पक्के मकान होंगे। उनके जीवन में एक नया उजाला आया, जब प्रधानमंत्री आवास योजना में सर्वे में उनका नाम आया और उनके लिये पक्के मकान बनाने की कार्यवाही शुरू हुई। इन निर्धन परिवारों को अपना पक्का आश्रय स्थल प्राप्त हो गया है। सरकार के सहयोग से आवास में लगने वाली सामग्री उपलब्ध करवाई गई, आवासों की गुणवत्ता का समय-समय पर नगरीय निकायों के अमले द्वारा निरीक्षण किया गया। योजना के अन्तर्गत हितग्राहियों को उनके खाते में किश्तों में पैसे दिया गया।

उज्जैन नगर पालिक निगम ने प्रथम चरण में 831 के लक्ष्य के विरूद्ध 776 और द्वितीय चरण में 2884 के लक्ष्य के विरूद्ध 791 आवास पूर्ण कर हितग्राहियों को उपलब्ध करवा दिये हैं। शेष हितग्राहियों के पक्के मकान पूर्ण करने की कार्यवाही प्रचलित है। उज्जैन नगर पालिक निगम ने अभी तक प्रधानमंत्री आवास योजना में 56 करोड़ 93 लाख 75 हजार रूपये की राशि व्यय की है। इसी प्रकार नगर पालिका नागदा में 335 आवास पूर्ण कर 10 करोड़ 39 लाख रूपये व्यय किये जा चुके हैं। नगर पालिका खाचरौद में 349 आवास निर्माण सम्बन्धी कार्य प्रचलन में है तथा हितग्राहियों के खाते में अभी तक छह करोड़ 61 लाख प्रथम, द्वितीय एवं तृतीय किश्त की राशि अन्तरित की गई है। उज्जैन जिले के अन्य नगरीय निकाय बड़नगर, महिदपुर, तराना, उन्हेल व माकड़ोन में आवास निर्माण के लिये डीपीआर स्वीकृत होकर आवंटन का प्रस्ताव नगरीय निकाय संचालनालय को प्रेषित किया गया है। जैसे ही शासन से आवंटन प्राप्त होगा, उक्त योजना में गरीबों के मकान पक्के बनाने की कार्यवाही प्रारम्भ कर दी जायेगी।

सक्सेस स्टोरी (उज्जैन)


राजेश पाण्डेय
शाहपरी, सज्जाद और नासिर का माफ हुआ बकाया बिजली बिल
आजीविका मिशन की ताकत से महिलाओं के लिये प्रेरणा बनी किरणदीप कौर
प्रधानमंत्री आवास योजना ने गरीब परिवारों को बनाया पक्के घरों का मालिक
श्रमिक सुनीता, संध्या और शशि को मिले पक्के घर
गरीबों, जरूरतमंदों का भोजनालय बनी दीनदयाल रसोई
मुख्यमंत्री स्व-रोजगार योजना से युवा बन रहे हैं सफल व्यवसायी
फार्म पौण्ड और स्प्रिंकलर से सिंचाई कर बढ़ाया फसल उत्पादन
दीनदयाल रसोई में पाँच रुपये में मिल रहा भरपेट स्वादिष्ट भोजन
आजीविका मिशन ने गरीब परिवारों को बनाया आर्थिक रूप से सशक्त
"नैचुरल हनी" ब्राँड शहद के मालिक हैं युवा किसान अनिल धाकड़
बच्चों की गंभीर बीमारियों का हुआ मुफ्त इलाज
प्रेमसिंह और राधेश्याम की पक्के मकान की चाह पूरी हो गई
टमाटर की खेती से किसान लखनलाल की आर्थिक स्थिति हुई मजबूत
श्रमिकों के आये अच्छे दिन, मिले पक्का मकान
प्रधानमंत्री आवास योजना से पूरी हुई अपने घर की अभिलाषा
श्रमिक पर्वतलाल और महेश को भी मिला पक्का घर
मछली विक्रेता की बेटी मनीषा ने शूटिंग में बनाया विश्व रिकॉर्ड
समाधान एक दिन में योजना से आम आदमी को मिली राहत
दुर्लभ और विलुप्त पौधों की प्रजातियों को संरक्षित कर रहे हैं दिनेश गजानन
अलीराजपुर जिले को निरक्षरता के कलंक से मुक्त कर रहा सक्षम अभियान
कमलेश रजक और मेंतीबाई को मिला शौचालययुक्त पक्का घर
सोलर पंप से बची बिजली, कम हुई खेती की लागत
चित्रकूट की गौशाला में किया जा रहा है गौवंश नस्ल सुधार
कृषक रूपेश ने मक्का खेती से कमाया दोगुना फायदा
बकाया बिजली बिल माफी से गरीबों को मिली राहत
उज्जवला योजना से खुशहाल हुई रम्मोबाई, राजाबेटी, वर्षा और सुनीता की जिन्दगी
बुढ़ापे का सहारा बना प्रधानमंत्री आवास योजना में मिला पक्का घर
खेती के साथ पशुपालन कर रही है महिला कृषक शाँति
समाधान एक दिन योजना से तुरंत मिल रहे दस्तावेज
सरकारी मदद के बलबूते पर जिन्दगी को दी नई दिशा
1 2 3 4 5 6 7 8 9 10 ...