सक्सेस स्टोरीज

स्व-कर निर्धारण योजना से दूरस्थ अंचल के व्यापारियों को भी मिला फायदा

भोपाल : सोमवार, फरवरी 26, 2018, 16:53 IST

देवास जिले के दूरस्थ गांव सतवास, लोहारदा और पुंजापुरा तक के व्यापारियों को वाणिज्यिक कर विभाग की स्व-कर निर्धारण योजना का फायदा मिला है। इन व्यापारियों को घर बैठे स्व-कर निर्धारण के आदेश प्राप्त हुए हैं।

देवास जिले में वेट अधिनियम में यह प्रावधान रखा गया था कि प्रत्येक व्यापारी हर तीन माह में फार्म भरेगा, जिसे विवरण पत्र कहा जाता है। इस विवरण पत्र में तीन महीने की खरीद-बिक्री के सारे ब्यौरे सूची बनाकर ऑनलाइन देंगे। ऐसे विवरण पत्रों की वाणिज्यक कर विभाग द्वारा बहुत सूक्ष्म की जाती है। स्क्रूटनी में यदि व्यापारियों के विवरण पत्रों में कोई कमी पाई जाती है तो उनकी विस्तृत जांच पड़ताल का‍विधान है। ऐसे में पहले व्यापारियों को अपने घर से बही-खाते लेकर वाणिज्यिक कर विभाग में अधिकारियों के समक्ष हाजिर होना पड़ता था। जिसमें काफी समय खराब हो जाया करता था।

पिछले दिनों वाणिज्यिक कर विभाग ने स्व-कर निर्धारण के योजना के तहत कारोबारियों को उनके द्वारा प्रस्तुत विवरण पत्रों को ज्यों का त्यों स्वीकार करने के लिए विभाग के अधिकारियों को निर्देश जारी किये थे। इन निर्देशों के पालन में विभाग के अधिकारियों ने उदार भाव से व्यापारियों के विवरण पत्रों को स्वीकार कर उन्हे स्व-कर निर्धारण योजना का लाभ दिया। एक करोड रूपये तक कारोबार करने वाले वार्ड-ए देवास सिटी के 225, वार्ड-बी अर्थात इडस्ट्रियल एरिया के 275 व्यापारियों तथा वार्ड-सी अर्थात देवास जिले के सोनकक्ष हाटपीपल्या, बावली, कन्नोद, खोतगांव आदि के 360 व्यापारियों ने स्व-कर निर्धारण योजना के विवरण पत्र तैयार कर घर से ही भिजवाए। वहीं एक करोड़ रूपये से अधिक का कारोबार करने वाले जिले के गल्ला, दलहन के व्यवसायी और अनेक व्यापारियों द्वारा पेश विवरण पत्रों एवं ऑडिट रिपोर्ट को सही मान कर 690 व्यापारियों को वाणिज्य कर अधिकारी द्वारा स्व-कर निर्धारण योजना का फायदा पहुँचाया गया।

देवास जिले में 15 करोड़ रूपये से अधिक का कारोबार करने वाले 95 व्यापारियों को इस स्व-कर निर्धारण योजना का लाभ दिया गया है। इस तरह से व्यापारियों को पेशी आदि से मुक्त रखकर उनके व्यापार को आसान किया गया है। सोनकक्ष के रामकिशोर-राजेन्द्र कुमार, बरोठा के सुखराम-खूबचंद हाटपिपल्या के गजराज-नाथूसिंह, कन्नोद के बृजमोहन धूत एण्ड कम्पनी और व्यापारी हरिप्रसाद का कहना है कि वाणिज्यक कर विभाग के अधिकारियों की सलाह और समन्वय से देवास जिले में व्यापारियों का काम आसान हुआ है।

सक्सेस स्टोरी (देवास)


मुकेश मोदी
मुख्यमंत्री स्व-रोजगार योजना से युवा बन रहे हैं सफल व्यवसायी
फार्म पौण्ड और स्प्रिंकलर से सिंचाई कर बढ़ाया फसल उत्पादन
दीनदयाल रसोई में पाँच रुपये में मिल रहा भरपेट स्वादिष्ट भोजन
आजीविका मिशन ने गरीब परिवारों को बनाया आर्थिक रूप से सशक्त
"नैचुरल हनी" ब्राँड शहद के मालिक हैं युवा किसान अनिल धाकड़
बच्चों की गंभीर बीमारियों का हुआ मुफ्त इलाज
प्रेमसिंह और राधेश्याम की पक्के मकान की चाह पूरी हो गई
टमाटर की खेती से किसान लखनलाल की आर्थिक स्थिति हुई मजबूत
श्रमिकों के आये अच्छे दिन, मिले पक्का मकान
श्रमिकों के आये अच्छे दिन, मिले पक्का मकान
प्रधानमंत्री आवास योजना से पूरी हुई अपने घर की अभिलाषा
श्रमिक पर्वतलाल और महेश को भी मिला पक्का घर
मछली विक्रेता की बेटी मनीषा ने शूटिंग में बनाया विश्व रिकॉर्ड
समाधान एक दिन में योजना से आम आदमी को मिली राहत
दुर्लभ और विलुप्त पौधों की प्रजातियों को संरक्षित कर रहे हैं दिनेश गजानन
अलीराजपुर जिले को निरक्षरता के कलंक से मुक्त कर रहा सक्षम अभियान
कमलेश रजक और मेंतीबाई को मिला शौचालययुक्त पक्का घर
सोलर पंप से बची बिजली, कम हुई खेती की लागत
चित्रकूट की गौशाला में किया जा रहा है गौवंश नस्ल सुधार
कृषक रूपेश ने मक्का खेती से कमाया दोगुना फायदा
बकाया बिजली बिल माफी से गरीबों को मिली राहत
उज्जवला योजना से खुशहाल हुई रम्मोबाई, राजाबेटी, वर्षा और सुनीता की जिन्दगी
बुढ़ापे का सहारा बना प्रधानमंत्री आवास योजना में मिला पक्का घर
खेती के साथ पशुपालन कर रही है महिला कृषक शाँति
समाधान एक दिन योजना से तुरंत मिल रहे दस्तावेज
सरकारी मदद के बलबूते पर जिन्दगी को दी नई दिशा
हिमांशु और शीर्ष अब सुन सकते हैं माँ की आवाज़
ह्रदय रोगी बच्चों को मिली नि:शुल्क चिकित्सा
प्रधानमंत्री आवास योजना से पूरी हुई अपने पक्के घर की अभिलाषा
बड़वाह के किसान प्रकाश ने अजमेरी गुलकंद से बढ़ाया पान का जायका
1 2 3 4 5 6 7 8 9 10 ...