सक्सेस स्टोरीज

प्रधानमंत्री आवास योजना से नीमच जिले में 4,209 गरीबों को मिले घर

भोपाल : शुक्रवार, फरवरी 23, 2018, 16:20 IST
 

प्रधानमंत्री आवास योजना के तहत नीमच जिले में 4,209 गरीब परिवारों को नि:शुल्क पक्का मकान मिल जाने से अब ये परिवार जंगली जानवरों, सांप, बिच्छु, कीड़े-मकोडों से सुरक्षित हो गए हैं। इन पक्के मकानों में शौचालय सुविधा होने से अब इन परिवारों को खुले में शौच से भी मुक्ति मिल गई है।

नीमच जिले की जावद जनपद क्षेत्र की 76 ग्राम पंचायतों में अब तक एक हजार 574 गरीब परिवारों को पक्के मकान बनाकर दिये गये हैं। जावद क्षेत्र की ग्राम पंचायत बधवा में 80, बावलनई 54, धानगॉव 34, ताल 46 एवं तुम्बा 54 में 38 गरीब परिवारों को पक्के मकान प्रधानमंत्री आवास योजना की बदौलत मिल गये हैं।

मनासा जनपद क्षेत्र की 98 ग्राम पंचायतों में प्रधानमंत्री आवास योजना की बदौलत अब तक एक हजार 742 गरीब परिवार अपने पक्के मकान के मालिक बन गए हैं। ग्राम पंचायत अल्हेड में 36, आंत्री बुजुर्ग 50, बारवाडिया 30, बखतुनी 25, बरथून 23, भदाना 27, बेसला 18, भदवास 30, भमेसर 35, भाटखेडी बुजुर्ग 27, डायली 26, देवरान 32, धाकडखेडी 33, ढोढर ब्लॉक 28, फोफलिया 32, हनमतंतिया 33, कचौली 28, कंजार्डा 63, खजुरी 38, कुण्डवासा 32, लसुडिया आंत्री 43, मजिरिया 35, पलासिया 33, पडदा 38, पिपलिया हाडी 42, रावतपुरा 27 एवं ग्राम पंचायत सोनडी में 25 गरीब परिवार अपने स्वयं के पक्के मकान के मालिक बन गए हैं।

इसी तरह, नीमच जनपद क्षेत्र की 66 ग्राम पंचायतों में अब तक 893 परिवारों को प्रधानमंत्री आवास योजना का लाभ मिला है। क्षेत्र की ग्राम पंचायत अडमालिया में 34, अरनिया बोराना 22, बामनबर्डी 21, चीताखेड़ा 32,छांयन 29, दारू 29, दुदरसी 23, डुंगलावदा 26, कराकिडया महारजा 32, कुचडौद 26, रेवली-देवली 24, सावन 25, सेमली मेवाड 27 एवं ग्राम पंचायत थडोली में 30 परिवारों को अपने स्वयं के पक्के मकान का मालिकाना हक मिल गया है।

पक्का मकान मिलने से खुश है कचरू भील : प्रधानमंत्री आवास योजना के तहत पक्का मकान पाकर नीमच जिले की जावद तहसील के ग्राम आलोरी निवासी कचरूमल भील बेहद खुश हैं। कचरूमल भील जन्म से ही दृष्टि बाधित हैं। माता-पिता का साया बचपन में ही उठ गया था। वह गांव के सार्वजनिक मंदिर में भजन-कीर्तन कर वहीं मंदिर परिसर में रात गुजारने को मजबूर रहते थे।

ऐसे में ग्राम पंचायत आलोरी द्वारा कचरूमल भील को आवास निर्माण के लिए आवासीय भू-खंड उपलब्ध करवाया गया। प्रधानमंत्री आवास योजनान्तर्गत एक लाख 20 हजार की सहायता राशि आवास निर्माण के लिए स्वीकृत कर, पंचायत के पदाधिकारियों और कर्मचारियों ने अपनी देख-रेख में दृष्टि बाधित आदिवासी कचरूमल भील के लिए पक्के मकान का निर्माण कार्य पूर्ण करवाया। मनरेगा के अन्तर्गत 90 दिवस की मजदूरी 15 हजार 480 रुपये भी कचरूमल को मिली।

बुढ़ापे में नौजीबाई को मिला अपना घर: जिले की जनपद जावद की ग्राम पंचायत बराडा निवासी 70 वर्षीय नौजीबाई बावरी कच्चे कवेलूपोश मकान में जीवन व्यतीत कर रही थी। उसकी आजीविका का जरिया कृषि मजदूरी एवं वृद्धावस्था पेंशन ही था। वृद्धावस्थ में अपना स्वयं का पक्के मकान का निर्माण होते देख नौजीबाई बहुत खुश हुई। नौजीबाई के पुत्र वयस्क होते ही अपने-अपने परिवार के साथ अलग रहने लगे थे। जैसे ही नौजीबाई का पक्का मकान बन कर तैयार हो गया, तो वो भी अब नौजीबाई की पूछ-परख करने लगे।

 सक्सेस स्टोरी(नीमच)


ऋषभ जैन
मुख्यमंत्री स्व-रोजगार योजना से युवा बन रहे हैं सफल व्यवसायी
फार्म पौण्ड और स्प्रिंकलर से सिंचाई कर बढ़ाया फसल उत्पादन
दीनदयाल रसोई में पाँच रुपये में मिल रहा भरपेट स्वादिष्ट भोजन
आजीविका मिशन ने गरीब परिवारों को बनाया आर्थिक रूप से सशक्त
"नैचुरल हनी" ब्राँड शहद के मालिक हैं युवा किसान अनिल धाकड़
बच्चों की गंभीर बीमारियों का हुआ मुफ्त इलाज
प्रेमसिंह और राधेश्याम की पक्के मकान की चाह पूरी हो गई
टमाटर की खेती से किसान लखनलाल की आर्थिक स्थिति हुई मजबूत
श्रमिकों के आये अच्छे दिन, मिले पक्का मकान
श्रमिकों के आये अच्छे दिन, मिले पक्का मकान
प्रधानमंत्री आवास योजना से पूरी हुई अपने घर की अभिलाषा
श्रमिक पर्वतलाल और महेश को भी मिला पक्का घर
मछली विक्रेता की बेटी मनीषा ने शूटिंग में बनाया विश्व रिकॉर्ड
समाधान एक दिन में योजना से आम आदमी को मिली राहत
दुर्लभ और विलुप्त पौधों की प्रजातियों को संरक्षित कर रहे हैं दिनेश गजानन
अलीराजपुर जिले को निरक्षरता के कलंक से मुक्त कर रहा सक्षम अभियान
कमलेश रजक और मेंतीबाई को मिला शौचालययुक्त पक्का घर
सोलर पंप से बची बिजली, कम हुई खेती की लागत
चित्रकूट की गौशाला में किया जा रहा है गौवंश नस्ल सुधार
कृषक रूपेश ने मक्का खेती से कमाया दोगुना फायदा
बकाया बिजली बिल माफी से गरीबों को मिली राहत
उज्जवला योजना से खुशहाल हुई रम्मोबाई, राजाबेटी, वर्षा और सुनीता की जिन्दगी
बुढ़ापे का सहारा बना प्रधानमंत्री आवास योजना में मिला पक्का घर
खेती के साथ पशुपालन कर रही है महिला कृषक शाँति
समाधान एक दिन योजना से तुरंत मिल रहे दस्तावेज
सरकारी मदद के बलबूते पर जिन्दगी को दी नई दिशा
हिमांशु और शीर्ष अब सुन सकते हैं माँ की आवाज़
ह्रदय रोगी बच्चों को मिली नि:शुल्क चिकित्सा
प्रधानमंत्री आवास योजना से पूरी हुई अपने पक्के घर की अभिलाषा
बड़वाह के किसान प्रकाश ने अजमेरी गुलकंद से बढ़ाया पान का जायका
1 2 3 4 5 6 7 8 9 10 ...