सक्सेस स्टोरीज

निजी स्कूलों को मात करती है ग्राम नवादपुरा की आँगनवाड़ी

भोपाल : बुधवार, फरवरी 21, 2018, 15:33 IST

धार जिले के ग्राम नवादपुरा में स्वामी विवेकानंद आदर्श आँगनवाड़ी-सह-बालवाड़ी निजी स्कूलों में मौजूद सुख-सुविधाओं को टक्कर दे रही है। प्राथमिक विद्यालय स्थानांतरित होने से शासकीय भवन खाली पड़ा था। गाँव के श्री कमल पटेल ने अपने पूर्वजों की स्मृति में 4 कक्षों का रंग-रोगन और पेंटिंग कर उन्हें सुंदर स्वरूप दिया है। यही नहीं श्री कमल पटेल और ग्रामीणों ने जन-सहयोग से गाँव में हर आधुनिक सुविधा जुटाकर इसे आदर्श बना दिया है।

ए.सी. युक्त कक्षों में लगेगी स्मार्ट-क्लॉस : दो कक्षों को स्मार्ट-क्लॉस बनाकर इनमें एयर कंडीशनर भी लगाये गये हैं। बच्चों को खेल-खेल में शिक्षा देने के लिये सभी आवश्यक सामग्री भी उपलब्ध कराई गई है। बच्चों के लिये छोटा-सा स्वीमिंग-पूल, साफ-सुथरा शौचालय, पीने के लिये आर.ओ. का पानी और खेलने के लिये आधुनिक खिलौनों का इंतजाम किया गया है। पूरे परिसर को सुंदर पेंटिंग और कार्टूनों से सजाया गया है। इस साज-सज्जा पर सांवरिया फाउण्डेशन ने 10 लाख रुपये खर्च किये हैं।

परिसर में 2 आँगनवाड़ी संचालित की जा रही हैं, जिनमें मध्यान्ह भोजन और नाश्ता भी दिया जा रहा है। एक स्मार्ट टीचर और बच्चों के आने जाने के लिये ट्रस्ट ने वाहन सुविधा की व्यवस्था की है। आगामी दिनों में पहली से तीसरी तक की कक्षाएँ संचालित की जायेंगी। इसमें गाँव के शिक्षित युवक-युवतियाँ और बुजुर्ग अपनी सेवाएँ देंगे।

प्रधानमंत्री के आदर्श ग्राम से ली प्रेरणा, पिंक-विलेज है नवादपुरा : श्री कमल पटेल बताते हैं उन्होंने यह प्रेरणा प्रधानमंत्री श्री नरेन्द्र मोदी की आदर्श ग्राम बनाने की पहल से ली है। वर्ष 2017 से यह गाँव खुले में शौच से मुक्त हो चुका है। संभाग का यह पहला आईएसओ सर्टिफाइड ग्राम, पिंक-विलेज है। यहाँ सभी घर गुलाबी रंग से पुते हुए हैं। एटीएम मशीन, पीने के लिये ठंडा आर.ओ. पानी, प्राथमिक एवं माध्यमिक विद्यालय में सुरक्षा की दृष्टि से सी.सी. टी.व्ही. कैमरे लगाये गये हैं। कैशलेस पंचायत, स्वच्छता के लिये डस्टबिन, आरामदायक कुर्सियों के साथ एक छोटा बगीचा भी गाँव में जन-सहयोग से बनाया गया है। रोचक बात यह है कि इन कामों के लिये कोई सरकारी सहायता नहीं ली गई है।

सक्सेस स्टोरी (धार)


सुनीता दुबे
शाहपरी, सज्जाद और नासिर का माफ हुआ बकाया बिजली बिल
आजीविका मिशन की ताकत से महिलाओं के लिये प्रेरणा बनी किरणदीप कौर
प्रधानमंत्री आवास योजना ने गरीब परिवारों को बनाया पक्के घरों का मालिक
श्रमिक सुनीता, संध्या और शशि को मिले पक्के घर
गरीबों, जरूरतमंदों का भोजनालय बनी दीनदयाल रसोई
मुख्यमंत्री स्व-रोजगार योजना से युवा बन रहे हैं सफल व्यवसायी
फार्म पौण्ड और स्प्रिंकलर से सिंचाई कर बढ़ाया फसल उत्पादन
दीनदयाल रसोई में पाँच रुपये में मिल रहा भरपेट स्वादिष्ट भोजन
आजीविका मिशन ने गरीब परिवारों को बनाया आर्थिक रूप से सशक्त
"नैचुरल हनी" ब्राँड शहद के मालिक हैं युवा किसान अनिल धाकड़
बच्चों की गंभीर बीमारियों का हुआ मुफ्त इलाज
प्रेमसिंह और राधेश्याम की पक्के मकान की चाह पूरी हो गई
टमाटर की खेती से किसान लखनलाल की आर्थिक स्थिति हुई मजबूत
श्रमिकों के आये अच्छे दिन, मिले पक्का मकान
प्रधानमंत्री आवास योजना से पूरी हुई अपने घर की अभिलाषा
श्रमिक पर्वतलाल और महेश को भी मिला पक्का घर
मछली विक्रेता की बेटी मनीषा ने शूटिंग में बनाया विश्व रिकॉर्ड
समाधान एक दिन में योजना से आम आदमी को मिली राहत
दुर्लभ और विलुप्त पौधों की प्रजातियों को संरक्षित कर रहे हैं दिनेश गजानन
अलीराजपुर जिले को निरक्षरता के कलंक से मुक्त कर रहा सक्षम अभियान
कमलेश रजक और मेंतीबाई को मिला शौचालययुक्त पक्का घर
सोलर पंप से बची बिजली, कम हुई खेती की लागत
चित्रकूट की गौशाला में किया जा रहा है गौवंश नस्ल सुधार
कृषक रूपेश ने मक्का खेती से कमाया दोगुना फायदा
बकाया बिजली बिल माफी से गरीबों को मिली राहत
उज्जवला योजना से खुशहाल हुई रम्मोबाई, राजाबेटी, वर्षा और सुनीता की जिन्दगी
बुढ़ापे का सहारा बना प्रधानमंत्री आवास योजना में मिला पक्का घर
खेती के साथ पशुपालन कर रही है महिला कृषक शाँति
समाधान एक दिन योजना से तुरंत मिल रहे दस्तावेज
सरकारी मदद के बलबूते पर जिन्दगी को दी नई दिशा
1 2 3 4 5 6 7 8 9 10 ...