सक्सेस स्टोरीज

वंश के बोल पर मिली तालियों की गड़गड़ाहट

भोपाल : मंगलवार, फरवरी 20, 2018, 15:09 IST

नन्हा-मुन्हा बालक वंश बेहिचक गिनती सुनाए जा रहा था, तब राष्ट्रपति श्री रामनाथ कोविंद सहित अन्य अतिथि तालियाँ बजाकर उसे शाबाशी दे रहे थे। यूँ तो छ: वर्षीय बच्चे के लिये गिनती सुना देना साधारण सी बात है। मगर वंश जन्म से ही बोलने और सुनने में असमर्थ था। अब वह कान में “मुख्यमंत्री बाल श्रवण योजना” से कोक्लियर इम्प्लांट लगाकर फर्राटे से हिंदी और अंग्रेजी वर्णमाला और गिनती सुनाने लगा है।

ग्वालियर निवासी दिहाड़ी श्रमिक अरविंद योगी के घर लगभग 6 वर्ष पूर्व जन्मे वंश को लगभग दो साल की उम्र का होने पर भी बोलने-सुनने में बहुत परेशानी हो रही थी। पिता अरविंद सहित पूरे परिवार की चिंता बढ़ गई। वे कहते हैं कि जहाँ भी लोगों ने बताया, वहाँ वंश को लेकर मन्नतें करने गये, लेकिन उसके मुँह से बोल नहीं फूटे। चार साल की उम्र में डॉक्टर को फिर दिखाया तो पता चला कि यदि वंश के कान में कोक्लियर इम्प्लांट लग जाए तो वह बोल और सुन सकेगा। मगर इस पर लगभग 7 लाख रूपये का खर्चा आएगा। अरविंद बताते हैं कि इतना खर्चा सुनकर हमारे तो पैरों तले की जमीन ही खिसक गई। ऐसे विपरीत हालातों में मध्यप्रदेश सरकार द्वारा संचालित “मुख्यमंत्री बाल श्रवण योजना” हमारे परिवार के लिए वरदान बन गई।

सरकार ने इस योजना से 6 लाख रूपये से अधिक राशि खर्च कर भोपाल के दिव्या ईएनटी हॉस्पिटल में वंश के कान में कोक्लियर इम्प्लांट लगवाया और सरकारी खर्च पर स्पीच थैरेपी भी करवाई। अब सरकार के प्रति कृतज्ञता जताते हुए अरविंद दम्पत्ति नहीं थकते। उनका कहना है कि सरकार ने हमें दोहरी खुशियाँ दी हैं। पहले हमें एफोर्डेबल हाउसिंग योजना के तहत सिंधिया नगर में पक्का घर दिया और अब जन्म से ही बोलने-सुनने में असमर्थ हमारे बेटे के कान में कोक्लियर इम्प्लांट लगवाया।

ग्वालियर में दिव्यांग एवं वृद्धजन के सहायतार्थ आयोजित मेगा शिविर में वंश एवं उसके पिता अरविंद सरकार को धन्यवाद देने आए थे। वंश ने इस अवसर पर राष्ट्रपति श्री रामनाथ कोविंद सहित अन्य अतिथियों को गिनती सुनाई, तो अतिथियों ने तालियाँ बजाकर और पीठ थपथपाकर वंश का उत्साहवर्धन किया।

 सक्सेस स्टोरी (ग्वालियर)


दुर्गेश रायकवार
शाहपरी, सज्जाद और नासिर का माफ हुआ बकाया बिजली बिल
आजीविका मिशन की ताकत से महिलाओं के लिये प्रेरणा बनी किरणदीप कौर
प्रधानमंत्री आवास योजना ने गरीब परिवारों को बनाया पक्के घरों का मालिक
श्रमिक सुनीता, संध्या और शशि को मिले पक्के घर
गरीबों, जरूरतमंदों का भोजनालय बनी दीनदयाल रसोई
मुख्यमंत्री स्व-रोजगार योजना से युवा बन रहे हैं सफल व्यवसायी
फार्म पौण्ड और स्प्रिंकलर से सिंचाई कर बढ़ाया फसल उत्पादन
दीनदयाल रसोई में पाँच रुपये में मिल रहा भरपेट स्वादिष्ट भोजन
आजीविका मिशन ने गरीब परिवारों को बनाया आर्थिक रूप से सशक्त
"नैचुरल हनी" ब्राँड शहद के मालिक हैं युवा किसान अनिल धाकड़
बच्चों की गंभीर बीमारियों का हुआ मुफ्त इलाज
प्रेमसिंह और राधेश्याम की पक्के मकान की चाह पूरी हो गई
टमाटर की खेती से किसान लखनलाल की आर्थिक स्थिति हुई मजबूत
श्रमिकों के आये अच्छे दिन, मिले पक्का मकान
प्रधानमंत्री आवास योजना से पूरी हुई अपने घर की अभिलाषा
श्रमिक पर्वतलाल और महेश को भी मिला पक्का घर
मछली विक्रेता की बेटी मनीषा ने शूटिंग में बनाया विश्व रिकॉर्ड
समाधान एक दिन में योजना से आम आदमी को मिली राहत
दुर्लभ और विलुप्त पौधों की प्रजातियों को संरक्षित कर रहे हैं दिनेश गजानन
अलीराजपुर जिले को निरक्षरता के कलंक से मुक्त कर रहा सक्षम अभियान
कमलेश रजक और मेंतीबाई को मिला शौचालययुक्त पक्का घर
सोलर पंप से बची बिजली, कम हुई खेती की लागत
चित्रकूट की गौशाला में किया जा रहा है गौवंश नस्ल सुधार
कृषक रूपेश ने मक्का खेती से कमाया दोगुना फायदा
बकाया बिजली बिल माफी से गरीबों को मिली राहत
उज्जवला योजना से खुशहाल हुई रम्मोबाई, राजाबेटी, वर्षा और सुनीता की जिन्दगी
बुढ़ापे का सहारा बना प्रधानमंत्री आवास योजना में मिला पक्का घर
खेती के साथ पशुपालन कर रही है महिला कृषक शाँति
समाधान एक दिन योजना से तुरंत मिल रहे दस्तावेज
सरकारी मदद के बलबूते पर जिन्दगी को दी नई दिशा
1 2 3 4 5 6 7 8 9 10 ...