social media accounts







सक्सेस स्टोरीज

बेवा कुसमा बाई को मिला पक्का घर

भोपाल : सोमवार, दिसम्बर 4, 2017, 15:10 IST

 

ग्राम धमनई जिला बड़वानी की 65 वर्षीय बेवा कुसमा बाई कनौजे का पक्का घर का सपना प्रधानमंत्री आवास योजना से पूरा हो गया है। अब उनकी इच्छा है कि छोटा पुत्र पटवारी बने और बड़े पुत्र की दो पुत्रियाँ पढ़कर डाक्टर बनें। इसके लिये कुसमा बाई ने अपने नव-निर्मित मकान के बाहर ओटला भी बनवाया है जिस पर उनका छोटा पुत्र मन्नालाल और दो पोतियाँ वंदना एवं पयाल शाम को बैठकर बल्ब की रोशनी में पढ़ाई करती हैं।

बड़वानी नगर से 7 किलोमीटर दूर ग्राम धमनई में कुसमा बाई, पति के गुजरने के बाद मजदूरी कर अपने परिवार का गुजर-बसर करती हैं। इनकी सवा एकड़ भूमि पर इतनी उपज नहीं होती कि अपने परिवार का साल भर अच्छी तरह से पालन-पोषण कर सकें। ऐसे में पक्के घर का सपना बस सपना ही बन गया था। जब कुसमा बाई को पता चला की प्रधानमंत्री आवास योजना में उन्हें 1 लाख 20 हजार रूपये की राशि तथा मनरेगा के तहत अलग से 18 हजार रूपये मजदूरी की राशि भी मिलने वाली है, तो सरपंच से मिलकर इस योजना का फायदा लिया। माँ-बेटे ने अपने ही मकान में मजदूरी कर निर्धारित समय में ही अपने घर के सपने को आकार दे दिया है।

ग्राम धनमई में 564 परिवार रहते हैं। इनमें से 103 परिवार पूर्व में ही मुख्यमंत्री आवास योजना के अंतर्गतअपना घर बना चुके हैं। इस गांव में प्रधानमंत्री आवास योजना के तहत 25 और परिवारों ने भी अपने घर बना लिये हैं। 564 परिवारों में से 561 परिवार बीपीएल श्रेणी में दर्ज हैं। ऐसे में मुख्यमंत्री तथा प्रधानमंत्री आवास योजना का क्या महत्व है, यह कोई इस गांव में आकर ही महसूस कर सकता है।

सफलता की कहानी (बड़वानी)


दुर्गेश रायकवार
पन्ना जिले में बेसहारा बच्चों का सहारा बनी फॉस्टर केयर योजना
जड़ी-बूटियाँ बनीं चित्रकूट की वनवासी महिलाओं का आर्थिक संबल
खुशी से फूले नहीं समा रहे इन्द्राना के चौधरी दम्पत्ति
अब के बरस सावन में जानकी बाई चैन से रहेगी अपने पक्के घर में
सोचा नहीं था कि आज ही कान की मशीन मिल जायेगी
बीकानेरी पापड़ बन रहे हैं पन्ना की पहचान
प्रधानमंत्री आवास में चैन की नींद सो पा रहे हैं हितग्राही
मुख्यमंत्री बाल हृदय उपचार योजना से निशा को मिली नई जिंदगी
खेतिहर मजदूर कमलेश जाटव मुख्यमंत्री स्व-रोजगार योजना से हुए आत्म-निर्भर
मंशाराम ने पत्नी से 45 वर्ष पहले के वादे को पूरा किया
सोलर पम्प से रूपवती की खेती लाभ का धंधा बनी
प्रधानमंत्री सड़क से ग्राम गांगपुर बना रमणीक स्थल
स्व-सहायता समूह से जुड़कर सशक्त महिला बनी अनीता
गरीबों के हमदर्द हैं मध्यप्रदेश के मुख्यमंत्री
कम्बाइन हारवेस्टर और व्हील स्प्रेयर अविष्कार के लिये पुरस्कृत होंगे कृषक राजपाल
खानाबदोशों को प्रधानमंत्री आवास योजना में मिले पक्के घर
फिर से मुस्कुराने लगी है मासूम गरिमा
जैविक खेती और वर्मी कम्पोस्ट यूनिट से सालाना मुनाफा हुआ 5 लाख
मासूम नमन को मुख्यमंत्री बाल हदय उपचार योजना से मिला नया जीवन
मुख्यमंत्री युवा स्व-रोजगार योजना से स्वावलम्बी बनते लोग
बकाया बिजली बिल माफी से गरीबों के घर फिर हुए रौशन
मछली पालन और पशुपालन से करोड़पति बने वर्मा बंधु
केन्द्रीय राज्य मंत्री श्री वीरेन्द्र कुमार ने सराही प्रधानमंत्री आवास की गुणवत्ता
राष्ट्रीय बाल स्वास्थ्य कार्यक्रम ने बदली नन्ही सविता की जिंदगी
कुपोषण से मुक्त हुआ छोटू ; यूनीसेफ के रिकार्ड में दर्ज हुई अनुसुईया
मासूम सीता, गीता और मीनाक्षी के होठों पर आई मुस्कान : रीतेश पैरों पर खड़ा हुआ
अनाज-दालों के साथ सब्जी से आई रामरतन के जीवन में खुशहाली
प्रधानमंत्री आवास योजना ने बढ़ाया लक्ष्मणदास का मान सम्मान
कुपोषण से मुक्ति के अभियान में मुनगा (सुरजना) से मिल रही कामयाबी
मासूम बच्चों को गंभीर बीमारियों से छुटकारा दिलवा रहीं स्वास्थ्य योजनायें
1 2 3 4 5 6 7 8 9 10 ...