आज के समाचार

पिछला पृष्ठ
.

अपनो के लिए अमेरिका से आई मदद

अपनी बचत पूँजी में से रिटायर्ड दंपत्ति ने की एक हजार डॉलर की मदद  

भोपाल : गुरूवार, मई 13, 2021, 14:39 IST

'अपि स्वर्णमयी लङ्का न मे लक्ष्मण रोचते।

जननी जन्मभूमिश्च स्वर्गादपि गरीयसी ॥'

(अनुवाद : ' लक्ष्मण! यद्यपि यह लंका सोने की बनी है, फिर भी इसमें मेरी कोई रुचि नहीं है। (क्योंकि) जननी और जन्मभूमि स्वर्ग से भी महान हैं।)

मर्यादा पुरुषोत्तम श्री राम द्वारा लक्ष्मण को कहे गए ये वचन अमेरिका में रह रहे शाजापुर निवासी सक्सेना दंपत्ति ने वर्तमान में प्रासंगिक सिद्ध कर दिए। नि:स्वार्थ समर्पण का भाव लिए श्री आर.सी. सक्सेना (दद्दा) और श्रीमती इंदु सक्सेना ने कोरोना संकट के दौरान अमेरिका से एक हज़ार डॉलर (लगभग 73 हजार रुपए) की मदद शुजालपुर में 'अपनों के लिए-अपना कोविड केयर सेंटर' को देकर एक अनुकरणीय उदाहरण प्रस्तुत किया। सक्सेना दंपत्ति ने यह राशि शुजालपुर के वरिष्ठ शिक्षक श्री दिनेश भारद्वाज के माध्यम से स्कूल शिक्षा (स्वतंत्र प्रभार) और सामान्य प्रशासन राज्य मंत्री श्री इंदर सिंह परमार को भेंट की।

शुजालपुर निवासी श्री सक्सेना सेवानिवृत्त प्रोफेसर एवं श्रीमती सक्सेना सेवानिवृत्त प्राचार्य हैं, जो कि वर्तमान में अपने बेटों के साथ अमेरिका में रहते है। सक्सेना दंपत्ति ने शुजालपुर के कई लोगों को मार्गदर्शन दिया है और शिक्षा का पाठ पढ़ाया है। विदेश में रहने के बाद भी अपनी मिट्टी अपने वतन से उनका आत्मीय स्नेह है।

श्री परमार से ऑनलाइन वीडियो कॉल पर चर्चा कें दौरान सक्सेना दंपत्ति ने मंत्री श्री परमार को बताया कि शुजालपुर में कोरोना वायरस के प्रकोप से वह चिंतित रहते थे। सोशल मीडिया के माध्यम से जब उन्हें समाज के सहयोग से संचालित 'अपनो के लिए-अपना कोविड केयर सेंटर' की जानकारी मिली तो उन्होंने इसे काफी सराहा और अपनी बचत पूंजी में से यथा-शक्ति मदद करने का निर्णय लिया। सक्सेना दंपत्ति ने अपने समय के शुजालपुर की याद को ताजा करते हुए राज्यमंत्री श्री परमार की पहल की प्रशंसा की एवं उन्हें आशीर्वाद भी दिया।

श्री परमार ने सक्सेना दंपत्ति के इस अनुकरणीय योगदान के लिए आभार और धन्यवाद व्यक्त किया है। उन्होंने कहा कि आपके द्वारा जो मार्गदर्शन शुजालपुर में रहते हुए हम लोगो को मिला है, यह सब उसी का परिणाम है। आपने हमे शिक्षा के साथ आज जो मानवता का पाठ पढ़ाया है वो भविष्य में हमारा मार्गदर्शन करता रहेगा।


अनुराग उइके
Post a Comment

समय से पूरी की जाएँ सभी सीवरेज परियोजनाएँ
मुख्यमंत्री श्री चौहान ने मंत्रियों से की वन-टू-वन चर्चा
कोरोना मुक्ति में होगी युवाओं की महत्वपूर्ण भूमिका
वैक्सीनेशन जैसा पुनीत कार्य दूसरा नहीं
कोविड-19 की दूसरी लहर पर काबू के बाद अब शत-प्रतिशत वैक्सीनेशन का लक्ष्य
मुख्यमंत्री श्री चौहान ने बादाम का पौधा लगाया
मुख्यमंत्री श्री चौहान ने सर संघ संचालक श्री के.एस. सुदर्शन की जयंती पर किया माल्यार्पण 
मुख्यमंत्री श्री चौहान ने महारानी लक्ष्मी बाई को किया नमन
दतिया में 50 लाख से बनेगी सर्व-सुविधायुक्त आधुनिक सब्जी मण्डी - डॉ. मिश्रा
मुख्यमंत्री कोविड-19 विशेष अनुग्रह योजना क्रियान्वयन के संबंध में निर्देश जारी
आपदा प्रबंधन की तैयारियों के लिये ट्रेनिंग व मॉकड्रिल का आयोजन
मोतीझील फीडर के डिस्ट्रीब्यूशन ट्रांसफार्मर पर लापरवाही के चलते विद्युत कंपनी ने की दो कार्यपालन यंत्री, 3 सहायक यंत्री एवं तीन कनिष्ठ यंत्री पर कार्रवाई
इंदौर जिले का महू बन रहा पूर्णतः स्मार्ट मीटर वाला पहला शहर
किसानों से धोखाधड़ी करने वालों को बख्शा नहीं जायेगा - मंत्री श्री पटेल
कोरोना वैक्सीनेशन महा-अभियान को अपनी भागीदार से सफल बनायें- राज्य मंत्री श्री यादव
योजना के कार्यस्थलों का करें नियमित निरीक्षण
रोजगार गतिविधियों के सृजन से आत्म-निर्भर बनेगा मध्यप्रदेश- लोक निर्माण मंत्री श्री भार्गव
वैक्सीनेशन कराएं और दूसरो को भी प्रेरित करें : राज्य मंत्री श्री परमार
राज्य मंत्री श्री परमार ने स्कूल शिक्षा विभाग की ऑनलाइन अनुकंपा नियुक्ति प्रबंधन प्रणाली का शुभारंभ किया
राज्य आनंद संस्थान ने किया बच्चों के लिए ऑनलाइन आनंद सभा का आयोजन
वैक्सीन से नहीं घबराए वृद्धाश्रम के वृद्ध
नोवल कोरोना वायरस (COVID-19) मीडिया बुलेटिन
गाँव-गाँव जाना है - कोरोना मुक्त बनाना है
वैक्सीनेशन के लिये ग्रामीणों को पीले चावल दिये
कोरोना की रोकथाम के लिये ट्रांसजेंडर्स की अद्भुत पहल
देवास में 102 वर्षीय मिट्ठू बाई ने लगवाया कोरोना का टीका
1