आज के समाचार

पिछला पृष्ठ
.

नगरीय निकायों में घर-घर से कचरा एकत्र करने की प्रक्रिया बनी

कोरोना संक्रमण रोकने का आधार
4500 से अधिक कचरा वाहनों से हो रहा है कचरे का संग्रहण
 

भोपाल : बुधवार, मई 12, 2021, 18:28 IST

नगरीय विकास एवं आवास मंत्री श्री भूपेन्द्र सिंह ने बताया कि नगरीय निकायों में घर-घर कचरा एकत्र करने की प्रक्रिया के परिणाम स्वरूप नगरों में संक्रमण नियंत्रित किया गया है। निकाय 4500 से अधिक कचरा वाहनों से इस विषम परिस्थिति में घरों से कचरा एकत्र कर प्र-संस्करण की प्रक्रिया के लिये कार्य कर रहे हैं। इससे नगरों को स्वच्छ और स्वस्थ बनाने में सहायता मिल रही है। मंत्री श्री सिंह ने इन कर्मचारियों को साधुवाद देते हुए इनके द्वारा किये जा रहे कार्यों की प्रशंसा की है।

कोरोना काल में घर-घर से कचरा एकत्र करने की प्रक्रिया कोरोना संक्रमण को रोकने के लिये प्रभावी सिद्ध हुई है। कोरोना संक्रमण बढ़ने से होम आइसोलेशन की व्यवस्था अंतर्गत संक्रमित व्यक्तियों द्वारा घर में रहने का निर्णय लिया गया। इन घरों से उत्पन्न होने वाले ठोस अपशिष्ट को हानिकारक अपशिष्ट के अंतर्गत संकलित करने की व्यवस्था नगरीय निकायों द्वारा आरंभ की गई है। इन घरों से निकलने वाले कचरे को पीली पॉलीथीन में कचरा संग्रहित कर पृथक से प्र-संस्करण किये जाने की व्यवस्था कोविड प्रोटोकॉल अंतर्गत की गई है। राज्य स्तर पर लगभग 35 हजार घरों से इस प्रकार के लगभग 17 टन कचरे का पृथक्कीकरण नगरीय निकायों द्वारा किया जा रहा है। लगभग 73 नगरीय निकायों द्वारा बायोमेडिकल वेस्ट प्र-संस्करण करने वाली एजेंसियों से अनुबंध कर कचरा प्रदान किया जा रहा है। वहीं दूसरी और 327 नगरीय निकायों द्वारा प्र-संस्करण के लिये फेंसिंगयुक्त गड्ढे में प्रतिदिन कचरा जमीन में दबाने की प्रक्रिया की जा रही है।

नगरीय निकायों के वाहन प्रचार माध्यम का साधन हैं ही, साथ ही संक्रमण को रोकने के लिये प्रभावी हो रहे हैं। इन वाहनों के माध्यम से निर्धारित रूट पर प्रतिदिन निर्धारित समय पर घर-घर कचरा एकत्र करने की प्रक्रिया की जाती है। सबसे महत्वपूर्ण बात यह है कि जन-सामान्य को इसकी आदत हो गई है। वे निर्धारित समय पर कचरा वाहनों में डालते हैं। संक्रमित व्यक्तियों द्वारा उपयोग किया हुआ मास्क, कपड़े आदि बाहर न फेंककर पृथक से वाहनों में देने से संक्रमण के खतरे को सीमित रखने में इन वाहनों ने महत्वपूर्ण भूमिका निभाई है। राज्य के समस्त नगरीय निकाय अपने 80 हजार से अधिक कर्मचारियों के साथ नगरीय क्षेत्रों में कोविड-19 के संक्रमण को रोकने के लिये अपनी प्रभावी भूमिका निभा रहे हैं। उनका यह प्रयास सही अर्थों में उन्हें कोरोना योद्धा के रूप में रेखांकित करता है।


राजेश पाण्डेय
Post a Comment

समय से पूरी की जाएँ सभी सीवरेज परियोजनाएँ
मुख्यमंत्री श्री चौहान ने मंत्रियों से की वन-टू-वन चर्चा
कोरोना मुक्ति में होगी युवाओं की महत्वपूर्ण भूमिका
वैक्सीनेशन जैसा पुनीत कार्य दूसरा नहीं
कोविड-19 की दूसरी लहर पर काबू के बाद अब शत-प्रतिशत वैक्सीनेशन का लक्ष्य
मुख्यमंत्री श्री चौहान ने बादाम का पौधा लगाया
मुख्यमंत्री श्री चौहान ने सर संघ संचालक श्री के.एस. सुदर्शन की जयंती पर किया माल्यार्पण 
मुख्यमंत्री श्री चौहान ने महारानी लक्ष्मी बाई को किया नमन
दतिया में 50 लाख से बनेगी सर्व-सुविधायुक्त आधुनिक सब्जी मण्डी - डॉ. मिश्रा
मुख्यमंत्री कोविड-19 विशेष अनुग्रह योजना क्रियान्वयन के संबंध में निर्देश जारी
आपदा प्रबंधन की तैयारियों के लिये ट्रेनिंग व मॉकड्रिल का आयोजन
मोतीझील फीडर के डिस्ट्रीब्यूशन ट्रांसफार्मर पर लापरवाही के चलते विद्युत कंपनी ने की दो कार्यपालन यंत्री, 3 सहायक यंत्री एवं तीन कनिष्ठ यंत्री पर कार्रवाई
इंदौर जिले का महू बन रहा पूर्णतः स्मार्ट मीटर वाला पहला शहर
किसानों से धोखाधड़ी करने वालों को बख्शा नहीं जायेगा - मंत्री श्री पटेल
कोरोना वैक्सीनेशन महा-अभियान को अपनी भागीदार से सफल बनायें- राज्य मंत्री श्री यादव
योजना के कार्यस्थलों का करें नियमित निरीक्षण
रोजगार गतिविधियों के सृजन से आत्म-निर्भर बनेगा मध्यप्रदेश- लोक निर्माण मंत्री श्री भार्गव
वैक्सीनेशन कराएं और दूसरो को भी प्रेरित करें : राज्य मंत्री श्री परमार
राज्य मंत्री श्री परमार ने स्कूल शिक्षा विभाग की ऑनलाइन अनुकंपा नियुक्ति प्रबंधन प्रणाली का शुभारंभ किया
राज्य आनंद संस्थान ने किया बच्चों के लिए ऑनलाइन आनंद सभा का आयोजन
वैक्सीन से नहीं घबराए वृद्धाश्रम के वृद्ध
नोवल कोरोना वायरस (COVID-19) मीडिया बुलेटिन
गाँव-गाँव जाना है - कोरोना मुक्त बनाना है
वैक्सीनेशन के लिये ग्रामीणों को पीले चावल दिये
कोरोना की रोकथाम के लिये ट्रांसजेंडर्स की अद्भुत पहल
देवास में 102 वर्षीय मिट्ठू बाई ने लगवाया कोरोना का टीका
1