आज के समाचार

पिछला पृष्ठ
.

अन्य पिछड़ा वर्ग के छात्रों के लिए भोपाल में 1050 सीटों का छात्रावास स्वीकृत

अनुसूचित जाति की छात्राओं के लिए 10 जिलों में छात्रावास स्वीकृत 

भोपाल : मंगलवार, मई 4, 2021, 18:03 IST

भारत सरकार द्वारा अन्य पिछड़ा वर्ग के छात्रों के शैक्षणिक सशक्तिकरण के लिये भोपाल में 1050 सीटों के छात्रावास और अनुसूचित जाति वर्ग की छात्राओं के शैक्षणिक सशक्तिकरण के लिये प्रदेश के 10 जिलों में कुल 1750 सीटों के छात्रावास स्वीकृत किये गये हैं। सामाजिक और शैक्षणिक रूप से पिछड़े वर्गों, विशेष रूप से ग्रामीण क्षेत्रों से संबंधित विद्यार्थियों को माध्यमिक और उच्चतर शिक्षा प्राप्त करने के लिये सक्षम बनाये जाने के लिये सामाजिक न्याय और अधिकारिता मंत्रालय भारत सरकार की छात्रावास निर्माण की योजना है। इस योजनांतर्गत वित्तीय वर्ष 2021 में इंडियन इंस्टीट्यूट ऑफ साइन्स एजुकेशन एण्ड रिसर्च, भोपाल के लिये 1050 सीट के बालक छात्रावास निर्माण की स्वीकृति सामाजिक न्याय और अधिकारिता मंत्रालय द्वारा दी गई है। इसकी कुल लागत 44.72 करोड़ है जिसमें केंद्राश की राशि 28.35 करोड़ है। भारत सरकार द्वारा प्रथम किश्त की राशि रूपये 14.18 करोड़ में से 6.13 करोड़ रुपये संस्थान को प्रदान किये गये हैं। इसी प्रकार वित्तीय वर्ष 2017 में स्वीकृत जबलपुर में निर्माणाधीन 500 सीट बालिका छात्रावास के लिये दूसरी किश्त की राशि रूपये 607.50 लाख जारी की गई है।

अन्य पिछड़ा वर्ग के छात्र-छात्राओं के लिये छात्रावास निर्माण की केन्द्र द्वारा प्रायोजित योजना को अन्य पिछड़ा वर्ग में शैक्षिक पिछड़ेपन की समस्या से निपटने के लिये वर्ष 1998-99 से कार्यान्वित किया जा रहा है। सामान्यत: ग्रामीण क्षेत्रों से विशेष रूप से कमजोर वर्गों से संबंधित विद्यार्थी निकटवर्ती क्षेत्रों में माध्यमिक विद्यालय और महाविद्यालय की कमी के कारण तथा उचित लागत पर छात्रावास की पर्याप्त सुविधा शैक्षिक संस्थानों में उपलब्ध न होने के कारण अपनी पढ़ाई बीच में छोड़ देते हैं। इसलिये इस योजना को अन्य पिछड़ा वर्ग के, विशेष रूप से ग्रामीण तथा दूर-दराज के क्षेत्रों तथा गरीब परिवारों से आने वाले विद्यार्थियों द्वारा शिक्षा को जारी रखने के लिये सुदृढ़ बनाने की दृष्टि से आरंभ किया गया था।

इसी प्रकार माध्यमिक विद्यालयों, कॉलेजों, उच्च विश्वविद्यालयों में पढ़ रहे अनुसूचित जाति वर्ग के छात्र-छात्राओं को छात्रावास सुविधा प्रदान करने के उद्देश्य से राज्य सरकार, संघ राज्य क्षेत्र प्रशासकीय केन्द्रीय विश्वविद्यालय/संस्थान और गैर सरकारी संगठन/मानित विश्वविद्यालयों को भारत सरकार की बाबू जगजीवन राम छात्रावास योजनांतर्गत केन्द्रीय सहायता प्रदान की जाती है। इस योजनांतर्गत भारत सरकार द्वारा वित्तीय वर्ष 2020-21 में प्रदेश के 10 जिलों में कुल 1750 सीट के छात्रावास स्वीकृत किये गये हैं। इनमें केन्द्रांश राशि 52 करोड़ 50 लाख रूपये स्वीकृत कर प्रथम किश्त के रूप में राशि 26 करोड़ 25 लाख रूपये जारी की गई है।


लक्ष्मण सिंह
Post a Comment

कोरोना के निःशुल्क इलाज़ के लिए नई योजना लागू होगी
मुख्यमंत्री श्री चौहान ने अशोक का पौधा लगाया
15 मई तक सब कुछ बंद कर दें, संक्रमण की चेन तोड़ दें
"मुख्यमंत्री किसान-कल्याण योजना"
संकट के समय संजीवनी का काम करेगी किसानों के लिए राशि: मंत्री श्री पटेल
संकट के समय में निजी अस्पताल सेवा भाव से कार्य करें : कृषि मंत्री श्री पटेल
मुख्यमंत्री द्वारा आयुष्मान कार्ड धारकों के हित में लिया गया निर्णय सराहनीय - मंत्री डॉ. भदौरिया
प्रवासी श्रमिकों की सहायता एवं समन्वय के लिये राज्य नोडल अधिकारी नियुक्त
किल कोरोना-3 अभियान में नगरीय क्षेत्रों में बनाएं कोविड सहायता केंद्र- मंत्री श्री भूपेंद्र सिंह 
 एक लाख 87 हजार 608 कोरोना मरीजों तक पहुँची मेडिकल किट
मंत्री सुश्री ठाकुर ने रवीन्द्रनाथ टैगोर की जयंती पर किया शत-शत नमन
"मेरा गाँव-कोरोना मुक्त अभियान
नोवल कोरोना वायरस (COVID-19) मीडिया बुलेटिन
स्वास्थ्य मंत्री डॉ.चौधरी ने गैरतगंज में की कोरोना की समीक्षा
रेमडेसिविर की सप्लाई निरंतर जारी
केंद्रीय एजेंसियों से समन्वय एवं विदेशी आयातित सामग्री के लिए राज्य नोडल अधिकारी नियुक्त
मंत्री श्री सखलेचा ने भोपाल सहित चार जिलों को सीएसआईआर-एनएएल द्वारा विकसित छह वेंटिलेटर ‘स्वस्थ वायु’ प्रदान किये
आयुष राज्यमंत्री श्री कावरे करेंगे "वैद्य आपके द्वार योजना" का शुभारंभ
मुख्यमंत्री श्री चौहान ने वरिष्ठ पत्रकार श्री भगवतीधर वाजपेई के निधन पर शोक व्यक्त किया
1