आज के समाचार

पिछला पृष्ठ
.

कोरोना के विरूद्ध मैदान में उतरने के अलावा कोई विकल्प शेष नहीं - मुख्यमंत्री श्री चौहान

संक्रमण तेजी से फैल रहा है, सावधानी और सहयोग जरूरी
मुख्यमंत्री श्री चौहान ने प्रभारी मंत्रियों के साथ की वीडियो कॉन्फ्रेंस
 

भोपाल : सोमवार, अप्रैल 19, 2021, 21:57 IST

मुख्यमंत्री श्री शिवराज सिंह चौहान ने प्रदेश में बढ़ रहे कोरोना संक्रमण के संदर्भ में कहा है कि कोरोना के‍विरूद्ध यह युद्ध है और मैदान में उतरने के अलावा हमारे सामने कोई और रास्ता शेष नहीं है। हम सब मिलकर इस चुनौती का सामना करें। स्वयं पर संयम और सकारात्मक रहते हुए लगातार अपने प्रयासों में जुटे रहें। हमारी विजय निश्चित है। मुख्यमंत्री श्री चौहान कोरोना संक्रमण नियंत्रण के संबंध में निवास से आयोजित वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग में प्रभारी मंत्रियों से चर्चा कर रहे थे। मुख्य सचिव श्री इकबाल सिंह बैंस तथा अन्य अधिकारी मंत्रालय से सम्मिलित हुए। अपर मुख्य सचिव स्वास्थ्य श्री मोहम्मद सुलेमान ने कोरोना की स्थिति पर प्रस्तुतीकरण दिया। मुख्यमंत्री श्री चौहान ने कहा कि जन-जन का सहयोग लेने के साथ सेना का सहयोग भी लिया जा रहा है। आज सेना के अधिकारियों ने सेना के अस्पतालों को उपलब्ध कराने और मरीजों के आवागमन के लिए वाहनों का सहयोग देने पर सहमति दी।

30 अप्रैल तक सीमित रखें गतिविधियाँ

मुख्यमंत्री श्री चौहान ने कहा कि 30 अप्रैल तक एक लाख लोगों में संक्रमण फैलने का अनुमान था, पर एक लाख की संख्या प्रदेश में अभी ही हो रही है। हमारा स्वास्थ्य अमला, पुलिस प्रशासन के लोग, अन्य फ्रंटलाइन वर्कर संक्रमित हो रहे हैं। अत: स्वयं को और प्रदेश को बचाने के लिए कोरोना संक्रमण की चेन को तोड़ना आवश्यक है। इसके लिए प्रदेश की जनता को यह फैसला लेना होगा कि 30 अप्रैल तक हम अपने घर, गाँव, मोहल्ले, कॉलोनी से बाहर नहीं निकलेंगे। स्वयं पर यह नियंत्रण लगाकर और प्रण करके हम कोरोना के विरूद्ध युद्ध में अपना सहयोग दे सकते हैं। मुख्यमंत्री श्री चौहान ने जिलों के प्रभारी मंत्रियों को कहा कि वे अपने-अपने जिलों में जन-सामान्य को इस संबंध में जागरूक और प्रेरित करें।

होम आयसोलेशन के लिए जागरूक और प्रेरित करना आवश्यक

मुख्यमंत्री श्री चौहान ने कहा कि राज्य शासन व्यापक स्तर पर टेस्ट की व्यवस्था कर रहा है। टेस्ट की रिपोर्ट 24 घंटे में आए यह सुनिश्चित किया जा रहा है। टेस्ट का सैम्पल देने के बाद स्वयं को आयसोलेट करना और परिवार के सदस्यों से भी नहीं मिलना आवश्यक है। टेस्ट की रिपोर्ट यदि पॉजिटिव आती है तो स्वयं को होम आयसोलेशन में रखना बेहतर है। होम आयसोलेशन में रहते हुए डॉक्टर की निगरानी की व्यवस्था की जा रही है। प्रभावित व्यक्तियों को मेडिकल किट उपलब्ध कराने और टेलीमेडिसिन के द्वारा डॉक्टरों के सम्पर्क में रहने की व्यवस्था है। जिन व्यक्तियों के घर छोटे हैं और आयसोलेशन की उपयुक्त व्यवस्था नहीं है, उनके लिए कोविड केयर सेंटर की व्यवस्था की गई है। सभी जिलों में कोविड केयर सेंटर संचालित हो रहे हैं।

पर्याप्त स्टाफ की व्यवस्था करें कलेक्टर

मुख्यमंत्री श्री चौहान ने प्रभारी मंत्रियों को होम आयसोलेशन व्यवस्था को प्रोत्साहित करने और कमाण्ड एण्ड कंट्रोल सेंटर के माध्यम से स्वयं भी मरीजों के टेलीफोनिक सम्पर्क में बने रहने का सुझाव दिया। उन्होंने कहा कि होम आयसोलेशन व्यवस्था से अस्पतालों पर दबाव को कम करने में मदद मिलेगी। जिलों में कोविड केयर सेंटर तथा अन्य व्यवस्थाओं के‍लिए पर्याप्त स्टाफ की व्यवस्था करने के लिए कलेक्टरों को आवश्यक आवंटन उपलब्ध कराया गया है। इसमें किसी भी तरह की कमी नहीं रहने दी जाए।

ऑक्सीजन की उपलब्धता सबसे बड़ी चुनौती

मुख्यमंत्री श्री चौहान ने कहा‍कि ऑक्सीजन की उपलब्धता सबसे बड़ी चुनौती है। भारत सरकार के सहयोग से राज्य को पर्याप्त ऑक्सीजन आवंटित हुई है। विभिन्न राज्यों से समन्वय और विशेष व्यवस्था कर ऑक्सीजन के टैंकर लाए जा रहे हैं। टैंकरों के आवागमन में विभिन्न राज्यों से आवश्यक समन्वय के लिए सहकारिता मंत्री श्री अरविंद सिंह भदौरिया को दायित्व सौंपा गया है। आगामी 30 अप्रैल तक 700 मीट्रिक टन ऑक्सीजन की आपूर्ति के लिए 105 टैंकरों की आवश्यकता होगी, जिनमें से 53 टैंकरों की व्यवस्था हो गई है। शेष के लिए प्रयास जारी हैं। प्रदेश में अगले तीन सप्ताह से तीन महीने में ऑक्सीजन के 37 प्लांट स्थापित कर दिए जाएंगे। सारणी और खण्डवा के ताप विद्युत गृहों से 200 सिलेंडर प्रतिमाह ऑक्सीजन उपलब्ध कराने की व्यवस्था भी की जा रही है। ऑक्सीजन के लिए जिला स्तर पर कंसंट्रेटर की व्यवस्था भी की जा रही है। इंजेक्शन की कालाबाजारी करने वालों को बख्शा नहीं जाएगा। उनके विरूद्ध रासुका के अंतर्गत कार्यवाही की जाएगी।

पुन: आरंभ होगा काढ़ा वितरण

मुख्यमंत्री श्री चौहान ने कहा कि भोपाल, इंदौर, जबलपुर जैसे शहरों में दो-दो हजार बिस्तरों और बाकी बड़े शहरों में एक-एक हजार बिस्तरों की व्यवस्था की जा रही है। प्रभारी मंत्री, कोरोना वॉलेंटियर्स और स्वयंसेवी संस्थाओं के सहयोग से आवश्यक व्यवस्थाओं को सुनिश्चित करें। रोग प्रतिरोधक क्षमता बढ़ाने के लिए काढ़ा वितरण का कार्य पुन: आरंभ किया जाएगा। इसके साथ ही जन-जन को प्राणायाम और योग के लिए प्रेरित किया जाए। इसमें नवीनतम तकनीक का सहयोग भी लेना होगा।

रेलवे भी कर रहा है बिस्तरों की व्यवस्था

वीडियो कॉन्फ्रेंस में जानकारी दी गई कि प्रदेश के 407 निजी अस्पतालों में बिस्तरों की उपलब्धता और फीस आदि संबंधित पैकेज की जानकारी अस्पताल में प्रदर्शित की जा रही है। यह जानकारी सार्थक एप पर भी उपलब्ध है। बैठक में जानकारी दी गई कि पश्चिमी रेलवे 50 बोगियों में आई.सी.यू. बेड बनाकर उपलब्ध करा रही है, जो बड़े स्टेशनों पर रखे जाएंगे।

कुंभ से आने वालों को आयसोलेट करें

मुख्यमंत्री श्री चौहान ने कहा कि हरिद्वार कुंभ से आने वाले लोगों और विभिन्न प्रदेशों से आ रहे श्रमिकों तथा अन्य व्यक्तियों को ग्रामों में आयसोलेट करने की व्यवस्था सुनिश्चित की जाए। इन व्यवस्थाओं के लिए कलेक्टरों को तीन-तीन करोड़ रूपए उपलब्ध कराए गए हैं।

बीना में बनेगा एक हजार बिस्तर का अस्थाई अस्पताल

मुख्यमंत्री श्री चौहान ने कहा कि बुंदेलखण्ड के जिलों के लिए बीना रिफायनरी के पास एक हजार बिस्तरों का अस्थाई अस्पताल विकसित किया जाएगा।

झूठी अफवाहों का तत्काल खंडन आवश्यक

मुख्यमंत्री श्री चौहान ने कहा‍कि संक्रमण रोकने के‍लिए छिंदवाड़ा, बुरहानपुर, खण्डवा जिलों द्वारा किए गए नवाचार प्रभावी रहे हैं। अन्य जिले भी अपने स्तर पर स्थानीय परिस्थितियों के अनुसार पहल करें। उन्होंने कहा कि प्रभारी मंत्री कोरोना संक्रमण से बचाव की पूरी सावधानी बरतते हुए जनता से निरंतर सम्पर्क में और संवाद में रहें। इससे जन-सामान्य का विश्वास बनाए रखने में मदद मिलेगी। उन्होंने कहा कि कोरोना संक्रमण के प्रबंधन को लेकर आ रही झूठी अफवाहों का तत्काल खंडन करने की व्यवस्था सुनिश्चित की जाए।

वीडियो कॉन्फ्रेंस में आए बिन्दु

  • मंत्री श्री गोपाल भार्गव ने कहा कि कोविड अस्पतालों में भर्ती मरीजों की स्थिति से परिवार वालों को अवगत कराने के लिए सीसीटीवी कैमरे की व्यवस्था की जाए।

  • मंत्री श्री तुलसीराम सिलावट ने बताया कि वे स्वयं कमाण्ड कंट्रोल सेंटर जाकर मरीजों से बात कर रहे हैं।

  • मंत्री श्रीमती यशोधरा राजे सिंधिया ने बताया कि शिवपुरी में विधायक फण्ड से ऑक्सीजन संयंत्र लगाया जा रहा है।

  • वी.सी. में बताया गया कि गूगल मीट के माध्यम से मरीजों, उनके परिजनों और अधिकारियों के बीच बातचीत की व्यवस्था की गई है। इससे परस्पर विश्वास बनाए रखने में सहायता मिलेगी।


संदीप कपूर
Post a Comment

कोरोना के निःशुल्क इलाज़ के लिए नई योजना लागू होगी
मुख्यमंत्री श्री चौहान ने अशोक का पौधा लगाया
15 मई तक सब कुछ बंद कर दें, संक्रमण की चेन तोड़ दें
"मुख्यमंत्री किसान-कल्याण योजना"
संकट के समय संजीवनी का काम करेगी किसानों के लिए राशि: मंत्री श्री पटेल
संकट के समय में निजी अस्पताल सेवा भाव से कार्य करें : कृषि मंत्री श्री पटेल
मुख्यमंत्री द्वारा आयुष्मान कार्ड धारकों के हित में लिया गया निर्णय सराहनीय - मंत्री डॉ. भदौरिया
प्रवासी श्रमिकों की सहायता एवं समन्वय के लिये राज्य नोडल अधिकारी नियुक्त
किल कोरोना-3 अभियान में नगरीय क्षेत्रों में बनाएं कोविड सहायता केंद्र- मंत्री श्री भूपेंद्र सिंह 
 एक लाख 87 हजार 608 कोरोना मरीजों तक पहुँची मेडिकल किट
मंत्री सुश्री ठाकुर ने रवीन्द्रनाथ टैगोर की जयंती पर किया शत-शत नमन
"मेरा गाँव-कोरोना मुक्त अभियान
नोवल कोरोना वायरस (COVID-19) मीडिया बुलेटिन
स्वास्थ्य मंत्री डॉ.चौधरी ने गैरतगंज में की कोरोना की समीक्षा
रेमडेसिविर की सप्लाई निरंतर जारी
केंद्रीय एजेंसियों से समन्वय एवं विदेशी आयातित सामग्री के लिए राज्य नोडल अधिकारी नियुक्त
मंत्री श्री सखलेचा ने भोपाल सहित चार जिलों को सीएसआईआर-एनएएल द्वारा विकसित छह वेंटिलेटर ‘स्वस्थ वायु’ प्रदान किये
आयुष राज्यमंत्री श्री कावरे करेंगे "वैद्य आपके द्वार योजना" का शुभारंभ
मुख्यमंत्री श्री चौहान ने वरिष्ठ पत्रकार श्री भगवतीधर वाजपेई के निधन पर शोक व्यक्त किया
1