आज के समाचार

पिछला पृष्ठ
.
एक जिला-एक उत्पाद योजना

जबलपुर बनेगा रेडीमेड गारमेंट मेन्यूफैक्चरिंग हब

गारमेंट एण्ड फैशन डिजाइन क्लस्टर में स्थापित इकाइयों से वस्त्र निर्माण शुरू  

भोपाल : रविवार, मार्च 7, 2021, 21:33 IST

मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान की पहल पर जबलपुर में 60 करोड़ 75 लाख रुपये की लागत से गोहलपुर के लेमागार्डन में करीब 8 एकड़ क्षेत्र में जबलपुर गारमेंट एवं फैशन डिजाइन क्लस्टर विकसित किया जा रहा है।

जबलपुर के रेडीमेड गारमेंट्स कारोबार की राष्ट्रीय एवं अंतर्राष्ट्रीय स्तर पर ब्रांडिंग कर यहाँ के वस्त्र निर्माण व्यवसाय को नई ऊँचाईयों तक पहुंचाने के लिए जिला प्रशासन ने एक जिला-एक उत्पाद योजना के तहत जबलपुर गारमेंट एवं फैशन डिजाइन क्लस्टर के अंतर्गत रेडीमेड गारमेंट एण्ड होजरी मैन्यूफैक्चरिंग सेक्टर को चयनित किया है। जिले में एक जिला-एक उत्पाद योजना के तहत तीन गतिविधियाँ चयनित की गई हैं। इनमें पहली मटर प्र-संस्करण और दूसरी रेडीमेड गारमेंट एण्ड होजरी मैन्यूफैक्चरिंग से संबंधित गतिविधि शामिल है। जबकि तीसरी गतिविधि के रूप में आईटी सेक्टर को शामिल किया गया है।

जबलपुर शहर में असंगठित स्वरूप में पिछले कई वर्षों से रेडीमेड गारमेंट निर्माण का व्यवसाय चल रहा है। काफी हद तक यह कारोबार काफी बढ़ा भी है, लेकिन उन्नत प्रौद्योगिकी और संसाधनों के अभाव तथा आधुनिक स्वरूप में संगठित क्लस्टर की कमी की वजह से बाहर के व्यापारियों और कंपनियों को यहाँ के स्थानीय वस्त्र निर्माताओं के साथ संवाद में हिचकिचाहट महसूस हो रही थी। यहाँ के बिखरे हुए वस्त्र उद्योग को देखकर आर्डर देने में भी नामचीन कंपनियां आनाकानी करती थीं, जो कंपनियां यहाँ आती भी थीं तो वे उत्पाद का अपने हिसाब से मूल्य निर्धारण करती थीं। यहाँ के वस्त्र निर्माताओं की समस्याओं के निराकरण के लिए गारमेंट एवं फैशन डिजाइन क्लस्टर विकसित किया जा रहा है।

क्लस्टर में गारमेंट मेकिंग इकाईयों को सभी तरह की सुविधा मुहैया कराई जा रही है। इसमें करीब सवा करोड़ रुपये की लागत से बना कॉमन फेसिलिटी सेंटर और करीब 5 करोड़ 17 लाख रुपये की लागत से निर्मित डाईंग प्रिंटिंग और वाशिंग प्लांट की विश्वस्तरीय सुविधा शामिल है। कॉमन फेसिलिटी सेंटर रेडीमेड गारमेंट व्यवसाय में फायदेमंद साबित होगा। यहाँ से वस्त्र निर्माण, तकनीक, प्रशिक्षण और फिनिशिंग की जानकारी मिलेगी। वहीं डाइंग एवं वाशिंग प्लांट विशेषकर जींस के रंगाई व धुलाई की दृष्टि से मील का पत्थर साबित होगा। हालांकि कई अन्य निर्माण कार्य अभी भी प्रगति पर है, जिनके शीघ्र ही पूरा होने की संभावना है।

मुख्यमंत्री श्री शिवराज सिंह चौहान की मंशा के अनुरुप जबलपुर को रेडीमेड गारमेंट हब के रूप में विकसित किया जा रहा हैं, जिससे स्थानीय स्तर पर कारोबार और रोजगार की संभावनाओं और अवसरों में वृद्धि की जा सके। कलेक्टर श्री कर्मवीर शर्मा ने बताया कि इस क्लस्टर में करीब 200 इकाईयां स्थापित की जायेंगी। इसके माध्यम से करीब 35 हजार व्यक्तियों को प्रत्यक्ष एवं अप्रत्यक्ष रूप से रोजगार मिलेगा। आगामी 31 मार्च 2021 तक इस क्लस्टर के पूर्ण होने की संभावना है। महाप्रबंधक उद्योग एवं व्यापार देवव्रत मिश्रा ने बताया कि वर्तमान में क्लस्टर में स्थापित हो चुकी 80 इकाईयों ने वस्त्र निर्माण शुरू भी कर दिया है। यहाँ अभी सलवार सूट, शर्ट, ट्राउजर, कुर्ता-पायजामा, लोअर, कुर्ती, वेडिंग सूट, स्कूल ड्रेस, लैगिंग्स और जीन्स के पैंट-शर्ट बनाये जा रहे हैं।

वर्तमान में जबलपुर गारमेंट एण्ड फैशन डिजाइन क्लस्टर में तैयार कपड़े मुख्य रूप से दक्षिण भारतीय राज्यों सहित महाराष्ट्र, उत्तरप्रदेश, उड़ीसा सहित अन्य राज्यों में लोगों द्वारा काफी पसंद किये जा रहे हैं। बड़े शहरों की बात की जाय तो चेन्नई, हैदराबाद, बंगलौर और नागपुर, मुंबई जैसे शहरों में यहां के बने रेडीमेड कपड़ों की खासी मांग है। तकरीबन 50 वस्त्र निर्माण इकाईयाँ तो ई-कामर्स के द्वारा मार्केटिंग कर रही हैं। जिला प्रशासन द्वारा शत-प्रतिशत ई-कामर्स प्लेटफार्म के लिए प्रयास जारी है।


मनोज श्रीवास्तव
Post a Comment

आमजन को एक क्लिक पर मिलेगी बेड्स उपलब्धता की जानकारी - मुख्यमंत्री श्री चौहान
मुख्यमंत्री श्री चौहान ने पीपल का पौधा लगाया
अगले तीन दिन में रेमडेसिविर इंजेक्शन का संकट समाप्त हो जायेगा- मुख्यमंत्री श्री चौहान
कोरोना संक्रमण रोकने के लिए जारी रहे जन-जागरूकता अभियान 
श्री आकाश त्रिपाठी बने आयुक्त स्वास्थ्य
आरक्षक श्रीवास्तव पुलिस महानिदेशक प्रशस्ति-पत्र से सम्मानित
कर्मचारी निष्ठा पूर्वक कर्तव्य निर्वहन करें: मंत्री श्री पटेल
कृषि मंत्री श्री पटेल ने वैक्सीन का दूसरा टीका भी लगवाया
सहकारिता मंत्री 13 और 14 अप्रैल को जबलपुर और छिंदवाड़ा प्रवास पर
गांवो में नल से जल के लिए उज्जैन में हो रहे 300 करोड़ रूपये के कार्य
"मन के हारे-हार, मन के जीते-जीत हम मिलकर करें कोरोना पर प्रहार- मंत्री श्री पटेल
अनुमति प्राप्त ऑक्सीजन वाहन एम्बुलेंस के समकक्ष घोषित
नोवल कोरोना वायरस (COVID-19) मीडिया बुलेटिन टीकाकरण सहित
कोविड नियंत्रण में लगी सामाजिक न्याय विभाग के अधिकारियों/कर्मचारियों की ड्यूटी
महाविद्यालयीन परीक्षाएँ समय-सीमा में कराई जायें - उच्च शिक्षा मंत्री डॉ. यादव
उच्च शिक्षा मंत्री डॉ. यादव ने उज्जैन में ऑक्सीजन प्लांट का किया निरीक्षण
बालाघाट-सिवनी का प्रभार मिलते ही एक्शन में आए आयुष मंत्री श्री कावरे
मंत्रीगण करेंगे कोरोना व्यवस्थाओं का अनुश्रवण और पर्यवेक्षण
1