आज के समाचार

पिछला पृष्ठ
.

न्यूक्लियर ऊर्जा की जानकारियाँ आम लोगों के बीच पहुँचाने के लिए न्यूक्लियर गैलरी का उद्घाटन

मेपकॉस्ट में राष्ट्रीय विज्ञान दिवस कार्यक्रम में विज्ञान एवं प्रौद्योगिकी मंत्री श्री सखलेचा  

भोपाल : सोमवार, मार्च 1, 2021, 20:56 IST

विज्ञान एवं प्रौद्योगिकी और सूक्ष्म, लघु तथा मध्यम उद्यम मंत्री श्री ओमप्रकाश सखलेचा ने सोमवार को मध्यप्रदेश विज्ञान एवं प्रौद्योगिकी परिषद् (मेपकॉस्ट) परिसर में मिनिएचर न्यूक्लियर गैलरी का उद्घाटन किया।

मंत्री श्री सखलेचा ने ‘ऊर्जा के क्षेत्र में विज्ञान, प्रौद्योगिकी एवं अन्वेषण की भूमिका-अवसर एवं चुनौतियाँ’ विषय पर वैज्ञानिक परिचर्चा में कहा कि मूल विज्ञान के क्षेत्र में अनुसंधान करना एक अंधी सुरंग में हीरे की तलाश करने जैसा है। हमारे देश का प्राचीन विज्ञान का इतिहास गौरवशाली और उपलब्धियों का रहा है। नालन्दा जैसा विश्वविद्यालय दुनिया में कहीं नहीं है। विज्ञान के हर क्षेत्र में यहाँ अनुसंधान हुआ है। परीक्षाओं में अधिक से अधिक नंबर प्राप्त कर लेना विज्ञान नहीं है। विज्ञान जीवन में चुनौतियों से मुकाबला करने और अवसरों को खोजने की राह प्रशस्त करता है।

न्यूक्लियर ऊर्जा को लेकर आम लोगों के बीच अनेक प्रकार की धारणाएँ और भ्रांतियाँ प्रचलित हैं। अधिकांश लोग यही समझते हैं कि न्यूक्लियर ऊर्जा का इस्तेमाल परमाणु बम के निर्माण में किया जाता है। लेकिन ऐसा नहीं है। न्यूक्लियर ऊर्जा का उपयोग बिजली उत्पादन से लेकर कृषि और कई बीमारियों के इलाज में हो रहा है। न्यूक्लियर ऊर्जा के सकारात्मक और शांतिपूर्ण कार्यों में उपयोग के लिए म.प्र. विज्ञान एवं प्रौद्योगिकी परिषद् (मेपकॉस्ट) परिसर में मिनिएचर न्यूक्लियर गैलरी की स्थापना की गई है। गैलरी की स्थापना न्यूक्लियर पॉवर कार्पोरेशन ऑफ इंडिया लिमिटेड के सहयोग से की गई है।

मंत्री श्री सखलेचा ने कहा कि इक्कीसवीं सदी सौर ऊर्जा की है। भारत इस क्षेत्र में आत्म-निर्भर होने की ओर तेजी से अग्रसर है। उन्होंने कहा कि आज के दौर में हाइड्रोजन आधारित और इलेक्ट्रिक वाहनों को बढ़ावा देने की जरूरत है। विज्ञान एवं प्रौद्योगिकी मंत्री ने कहा कि समाज में व्याप्त अंधविश्वासों को दूर करने में विज्ञान की अहम भूमिका है। उन्होंने कहा कि मैंने विभिन्न देशों की यात्राओं के दौरान विज्ञान के बारे में अपनी जिज्ञासाओं का समाधान किया है।

 

विशिष्ट अतिथि एडीशनल चीफ इंजीनियर, एनपीसीआईएल श्री के.एस. शर्मा ने कहा कि विज्ञान परिषद् के परिसर में गैलरी की स्थापना का मुख्य उद्देश्य आम लोगों को परमाणु विज्ञान और न्यूक्लियर ऊर्जा के विविध क्षेत्रों में उपयोग से परिचित कराना और जागरूकता बढ़ाना है। उन्होंने कहा कि ज्ञान का विस्तार ही विज्ञान है।

परिषद् के महानिदेशक डॉ. अनिल कोठारी ने स्वागत उद्बोधन में कहा कि वैज्ञानिकों से समाज को बड़ी अपेक्षाएँ हैं। उन्होंने बताया कि परिषद ने नई विज्ञान नीति एसटीआईपी-2020 के मसौदे को तैयार करने में दो राज्यों का नोडल एजेंसी के रूप में प्रतिनिधित्व किया है।

इस अवसर पर विज्ञान लोकव्यापीकरण के समूह प्रमुख डॉ. आर.के. आर्य ने विज्ञान लोकव्यापीकरण गतिविधियों की जानकारी दी। कार्यकारी संचालक श्री तस्नीम हबीब ने विज्ञान, प्रौद्योगिकी एवं नवाचार नीति को लेकर परिषद् द्वारा की गई पहल के बारे में जानकारी दी।

लैंड यूज एवं अरबन सर्वे के क्षमता निर्माण प्रशिक्षण मे मंत्री श्री सखलेचा

मंत्री श्री सखलेचा ने लैंड यूज एवं अरबन सर्वे के क्षमता निर्माण प्रशिक्षण कार्यक्रम का शुभारंभ भी किया। श्री सखलेचा ने कहा कि आज सबसे बड़ी जरूरत अच्छी प्लानिंग है। उन्होंने टेक्नोलॉजी और विकास के समन्वय पर भी जोर दिया। लैंड यूज एवं अरबन सर्वे के समूह प्रमुख डॉ. विवेक कटारे ने पाँच सत्रों में आयोजित प्रशिक्षण कार्यक्रम की विस्तारपूर्वक जानकारी दी।


राजेश बैन
Post a Comment

कोरोना के इलाज के लिए बिस्तर, ऑक्सीजन, इंजेक्शन आदि की पर्याप्त व्यवस्था
भोपाल में बिस्तर चाहिए कहाँ मिलेगा
कोरोना संक्रमण के नियंत्रण के लिए प्रभावी कार्य-योजना विकसित की जाएगी - मुख्यमंत्री श्री चौहान
भिलाई, राउरकेला और देवरी से 450 एम.टी. ऑक्सीजन की आपूर्ति शीघ्र
प्रदेश में प्रारंभ हुए 94 कोविड केयर सेंटर
मुख्यमंत्री श्री चौहान ने मुख्यमंत्री निवास में मौलश्री का पौधा रोपा
मुख्यमंत्री श्री चौहान ने किया सिख गुरू अर्जुन देव जी को नमन
वरिष्ठ पत्रकार श्री इंटोरिया के निधन पर परिवहन मंत्री श्री राजपूत ने दी श्रद्धांजलि
आरक्षक श्री धुर्वे के निधन पर परिवहन मंत्री श्री राजपूत ने दी श्रद्धांजलि
ऐसे कार्य करें कि कार्मिक और प्रबंधन के बीच विश्वास की भावना पैदा हो
हरदा में 26 अप्रैल तक रहेगा कोरोना कर्फ्यू - मंत्री श्री पटेल
ग्रामीण आबादी की जलापूर्ति के लिए सागर में जारी है 584 करोड़ रूपये के कार्य
10वीं और 12वीं के प्रवेश-पत्रों में 10 मई तक करा सकेंगे संशोधन
खाद्य मंत्री श्री सिंह ने अनूपपुर में की कोरोना व्यवस्थाओं की समीक्षा
नोवल कोरोना वायरस (COVID-19) मीडिया बुलेटिन टीकाकरण सहित
अब तक 69 लाख 69 हजार नागरिकों का हुआ वैक्सीनेशन
ऑक्सीजन टैंकर्स के लिये भी बनेगा ग्रीन कॉरीडोर, पायलेटिंग भी होगी
आर्सेनिक एल्ब-30 का वितरण करायेगा आयुष विभाग
एम्स में कोविड मरीजों के लिये बढ़ेंगे बेड - मंत्री श्री सारंग
प्रभारी मंत्री श्री डंग ने झाबुआ में की कोरोना व्यवस्थाओं की समीक्षा
कोरोना संक्रमण से आमजन का बचाव ही हमारी प्राथमिकता है- मंत्री मीना सिंह
1