आज के समाचार

पिछला पृष्ठ
.

सिंचाई परियोजना में पेमेंट शेड्यूल में शिथिलीकरण का मामला

मुख्यमंत्री श्री चौहान ने ई.ओ.डब्ल्यू जाँच के आदेश दिये 

भोपाल : सोमवार, मार्च 1, 2021, 20:10 IST

मुख्यमंत्री श्री शिवराज सिंह चौहान ने जल संसाधन विभाग की स्वीकृत सिंचाई परियोजनाओं में निविदा प्रपत्र में प्रावधानित पेमेंट शेड्यूल का शिथिलीकरण कर ड्यू डेट से लगभग तीन वर्ष पूर्व भुगतान किये जाने के मामले की जाँच ई.ओ.डब्ल्यू से कराये जाने के निर्देश दिये हैं।

श्री एस. एन. मिश्रा, अपर मुख्य सचिव, जल संसाधन ने बताया कि विभाग द्वारा अगस्त 2018 से फरवरी 2019 के मध्य 7 सिंचाई परियोजनाओं की टर्नकी आधार पर बाँध एवं प्रेशराईज्ड पाइप नहर प्रणाली के निर्माण के लिए 3,333 करोड़ रूपये की लागत की 7 निविदाएँ स्वीकृत की गई थी। टर्नकी आधार पर स्वीकृति निविदाओं के स्कोप ऑफ़ वर्क में मुख्य रूप से बाँध का निर्माण कर जलाशय से जल उद्वहन कर रूपांकित सैंच्य क्षेत्र में पम्प हाउस, कंट्रोल उपकरणों सहित प्रेशराईज्ड पाइप लाईन बिठाकर निश्चित दाब पर सिंचाई के लिए जल प्रदाय किया जाना है।

मुख्य अभियंता, गंगा कहार, रीवा द्वारा शासन के संज्ञान में यह तथ्य लाया गया कि गोंड वृहद परियोजना के लिए शासन के आदेश क्र MPG/04/2019-20 दिनांक 27 मई 2019 के द्वारा पेमेंट शेड्यूल में उल्लेखित शर्त को शिथिल कर दिया गया था। जाँच पड़ताल में पाया गया कि ऐसा कोई आदेश शासन स्तर से जारी नहीं किया गया है। इसकी पुष्टि के लिए प्रमुख अभियंता एवं मुख्य अभियंता (प्रोक्योरमेंट) से संबंधित नस्ती एवं आदेश की प्रति प्राप्त की गई। इनके अवलोकन में पाया गया है कि शासन का अनुमोदन प्राप्त किए बिना ही शर्त को विलोपित करने संबंधित आदेश प्रमुख अभियंता ने अपने स्तर से सभी मुख्य अभियंताओं को जारी किया।

प्रकरण में मुख्य सचिव द्वारा भी इस संबंध में अभिमत चाहा गया। जल संसाधन विभाग के तत्कालीन प्रमुख अभियंता द्वारा निविदा प्रपत्रों के पेमेंट शेड्यूल में उल्लेखित शर्त को विलोपित करने संबंधित आदेश अपने स्तर से 17 मई 2019 को जारी किया गया, जो अधिकारिता विहीन है। संबंधित परियोजनाओं के मुख्य अभियंता सहित अन्य मैदानी अधिकारियों ने भी बाँध कार्य प्रारंभ किये बिना नहरों एवं प्रेशराइज्ड पाइप के कार्य हेतु सामग्रियों पर भुगतान करने की कार्यवाही की है, जो अनियमितता की श्रेणी में आता है।


अरूण राठौर
Post a Comment

आमजन को एक क्लिक पर मिलेगी बेड्स उपलब्धता की जानकारी - मुख्यमंत्री श्री चौहान
मुख्यमंत्री श्री चौहान ने पीपल का पौधा लगाया
अगले तीन दिन में रेमडेसिविर इंजेक्शन का संकट समाप्त हो जायेगा- मुख्यमंत्री श्री चौहान
कोरोना संक्रमण रोकने के लिए जारी रहे जन-जागरूकता अभियान 
श्री आकाश त्रिपाठी बने आयुक्त स्वास्थ्य
आरक्षक श्रीवास्तव पुलिस महानिदेशक प्रशस्ति-पत्र से सम्मानित
कर्मचारी निष्ठा पूर्वक कर्तव्य निर्वहन करें: मंत्री श्री पटेल
कृषि मंत्री श्री पटेल ने वैक्सीन का दूसरा टीका भी लगवाया
सहकारिता मंत्री 13 और 14 अप्रैल को जबलपुर और छिंदवाड़ा प्रवास पर
गांवो में नल से जल के लिए उज्जैन में हो रहे 300 करोड़ रूपये के कार्य
"मन के हारे-हार, मन के जीते-जीत हम मिलकर करें कोरोना पर प्रहार- मंत्री श्री पटेल
अनुमति प्राप्त ऑक्सीजन वाहन एम्बुलेंस के समकक्ष घोषित
नोवल कोरोना वायरस (COVID-19) मीडिया बुलेटिन टीकाकरण सहित
कोविड नियंत्रण में लगी सामाजिक न्याय विभाग के अधिकारियों/कर्मचारियों की ड्यूटी
महाविद्यालयीन परीक्षाएँ समय-सीमा में कराई जायें - उच्च शिक्षा मंत्री डॉ. यादव
उच्च शिक्षा मंत्री डॉ. यादव ने उज्जैन में ऑक्सीजन प्लांट का किया निरीक्षण
बालाघाट-सिवनी का प्रभार मिलते ही एक्शन में आए आयुष मंत्री श्री कावरे
मंत्रीगण करेंगे कोरोना व्यवस्थाओं का अनुश्रवण और पर्यवेक्षण
1