आज के समाचार

पिछला पृष्ठ
.

सोलर पंप ने रोका बैगा जनजाति का पलायन

कुओं से सिंचाई का पानी लेना हुआ आसान 

भोपाल : शुक्रवार, फरवरी 26, 2021, 17:23 IST

बालाघाट जिले में बैगा जनजाति के लोगों का रोजगार के लिये अन्य जिलों और राज्यों में पलायन घट रहा है। नवीन एवं नवकरणीय ऊर्जा विभाग ने बैगा किसानों के खेतों पर सोलर पंप की स्थापना कर सिंचाई सुविधा उपलब्ध करवाई है। इससे बैगा जाति के लोग अब अपने गाँव में ही रुकना पसंद कर रहे हैं। अंधियारो बाई, नजरू और धनसिंह धुर्वे बहुत खुश हैं कि अब अपना घर-द्वार छोड़कर रोजगार के लिये भटकना नहीं पड़ रहा है।

बालाघाट से 106 किलोमीटर दूर सघन वन क्षेत्र में स्थित गाँव हीरापुर में अलग-अलग टोलों में बैगा जनजाति के लोग रहते हैं। यहाँ नजरू और उनकी पत्नी सुकवारो बाई सोलर पंप का गुणगान करते नहीं थकते। सुकवारो बाई कहती हैं कि पति की अनुपस्थिति में वह स्वयं सोलर पंप का संचालन करती हैं। उनकी बाड़ी में लगभग एक साल पहले ऊर्जा विकास निगम ने केवल 3 हजार रूपये लेकर सोलर पंप लगाया था। पंप से अब बढ़िया सिंचाई हो रही है। पहले कुआँ होने के बावजूद ज्यादा उपज नहीं मिल पाती थी। बारिश से थोड़ी-बहुत उपज होती थी। बारिश भी भगवान भरोसे थी। अब धान और उन्हारी की भरपूर फसल ले रही हैं। गाँव पहुँचने वालों को सुकवारो बाई बहुत उत्साह से पंप चलाकर बताती हैं। वह अपने पंप और बाड़े की साफ-सफाई और सुरक्षा बड़े जतन से कर रही हैं।

हीरापुर गाँव की ही अंधियारो बाई के खेत पर लगभग एक साल पहले ऊर्जा विकास निगम ने सोलर पंप लगाया था। उनके बेटे बिसरू सिंह ने बताया कि पहले कुआँ होने के बावजूद सिंचाई नहीं कर पाते थे। जीवन बसर करने के लिये गाँव छोड़कर मेहनत-मजदूरी करने बाहर जाना पड़ता था। अब तो हम सोलर पंप से भरपूर सिंचाई करके अपनी जमीन पर ही फसलें उगा रहे हैं, मजदूरी करने बाहर नहीं जाना पड़ता। बाहर गाँव रहने की अपनी दिक्कतें हैं। यह पूछने पर की कभी पंप बिगड़ा है क्या ? बिसरू ने बताया कि एक बार पंप बिगड़ गया था, तो उन्होंने सोलर पंप मशीन के ऊपर लिखे हुए फोन नम्बर पर सूचना दी और उनका पंप 15 दिन के अंदर सुधार दिया गया।

ग्राम लिमोटी के बैगा धनसिंह धुर्वे सोलर पंप का इस्तेमाल करके गाँव वालों के लिये एक प्रेरणा स्त्रोत बन गये हैं। इनके गाँव में 10 पंप और लग गये हैं, जिनकी संख्या लगातार बढ़ रही है। धनसिंह के खेत पर ऊर्जा विकास निगम द्वारा वर्ष 2018-19 में सोलर पंप लगाया गया था। भरपूर पानी मिलने से उनकी वर्षा पर निर्भरता खत्म हो गयी है। सिंचाई सुविधा मिलने से धनसिंह धान, गेहूँ, चना, कोदो-कुटकी की फसल ले रहे हैं। धनसिंह कहते हैं अब रोजगार के लिये बाहर नहीं जाना पड़ता, आय बढ़ने से परिवार में भी खुशी का माहौल है।


सुनीता दुबे
Post a Comment

आमजन को एक क्लिक पर मिलेगी बेड्स उपलब्धता की जानकारी - मुख्यमंत्री श्री चौहान
मुख्यमंत्री श्री चौहान ने पीपल का पौधा लगाया
अगले तीन दिन में रेमडेसिविर इंजेक्शन का संकट समाप्त हो जायेगा- मुख्यमंत्री श्री चौहान
कोरोना संक्रमण रोकने के लिए जारी रहे जन-जागरूकता अभियान 
श्री आकाश त्रिपाठी बने आयुक्त स्वास्थ्य
आरक्षक श्रीवास्तव पुलिस महानिदेशक प्रशस्ति-पत्र से सम्मानित
कर्मचारी निष्ठा पूर्वक कर्तव्य निर्वहन करें: मंत्री श्री पटेल
कृषि मंत्री श्री पटेल ने वैक्सीन का दूसरा टीका भी लगवाया
सहकारिता मंत्री 13 और 14 अप्रैल को जबलपुर और छिंदवाड़ा प्रवास पर
गांवो में नल से जल के लिए उज्जैन में हो रहे 300 करोड़ रूपये के कार्य
"मन के हारे-हार, मन के जीते-जीत हम मिलकर करें कोरोना पर प्रहार- मंत्री श्री पटेल
अनुमति प्राप्त ऑक्सीजन वाहन एम्बुलेंस के समकक्ष घोषित
नोवल कोरोना वायरस (COVID-19) मीडिया बुलेटिन टीकाकरण सहित
कोविड नियंत्रण में लगी सामाजिक न्याय विभाग के अधिकारियों/कर्मचारियों की ड्यूटी
महाविद्यालयीन परीक्षाएँ समय-सीमा में कराई जायें - उच्च शिक्षा मंत्री डॉ. यादव
उच्च शिक्षा मंत्री डॉ. यादव ने उज्जैन में ऑक्सीजन प्लांट का किया निरीक्षण
बालाघाट-सिवनी का प्रभार मिलते ही एक्शन में आए आयुष मंत्री श्री कावरे
मंत्रीगण करेंगे कोरोना व्यवस्थाओं का अनुश्रवण और पर्यवेक्षण
1