आज के समाचार

पिछला पृष्ठ
.

जीएमसी और एम्स एक-दूसरे से करेंगे अनुभव साझा : जल्द होगा एमओयू

चिकित्सा शिक्षा मंत्री श्री सारंग ने दी जानकारी 

भोपाल : गुरूवार, फरवरी 11, 2021, 20:16 IST

चिकित्सा शिक्षा मंत्री श्री विश्वास कैलाश सारंग ने बताया कि एम्स भोपाल और गांधी चिकित्सा महाविद्यालय भोपाल  के बीच चिकित्सा शिक्षा, उपचार और शोध के क्षेत्र में परस्पर सहभागिता का एमओयू होने जा रहा है।  इसमें एम्स संबंधित विभाग अपना ज्ञान और शोध साझा करेंगे। इससे चिकित्सा छात्रों को चिकित्सकीय अध्यापन और शोध के क्षेत्र में नए आयाम विकसित होंगे। अनुभवों को एक दूसरे से साझा करने से चिकित्सा शिक्षा और स्वास्थ्य से जुड़े विभिन्न पहलुओं को नया स्वरूप दिया जा सकेगा।

श्री सारंग ने बताया कि चिकित्सा छात्रों को चिकित्सा के अध्यापन क्षेत्र में नये आयाम विकसित करने के लिये नॉलेज एक्सचेंज किया जाना अति-आवश्यक है। इस कार्यक्रम के अन्तर्गत एम्स भोपाल एवं गाँधी मेडिकल कॉलेज भोपाल के डॉक्टर्स, नर्सिंग और पैरामेडिकल के शिक्षक चिकित्सा, नर्सिंग और पैरामेडिकल छात्रों की शैक्षणिक गतिविधियों के माध्यम से अपने परस्पर अनुभव को साझा करेंगे। 

एमओयू के लिए चिकित्सा शिक्षा एवं शोध संबंधी कई विषय परस्पर सहभागिता के लिए चिन्हित किये गए है। इनमें गेस्ट लेक्चर्स का आयोजन, विशिष्ट बीमारियों के केस  प्रेजेंटेशन, जटिल बीमारियों के इलाज में   तकनीकी चिकित्सकीय सहयोग, मल्टी डिसिप्लिनरी रिसर्च के लिये  कोलैबोरेशन, दोनों संस्थानों की चिकित्सा   के क्षेत्र में बेस्ट प्रेक्टिसेस का आदान-प्रदान, पेशेंट सेफ्टी एवं रेशनल एंटीबायोटिक उपयोग के घटक का निर्धारण और आर्टिफिशियल इंटेलिजेंस का  चिकित्सा जाँच एवं उपचार में उपयोग आदि शामिल है।

मंत्री श्री सारंग में बताया कि चिकित्सा शिक्षा के क्षेत्र में नॉलेज एवं रिसर्च एक्सचेंज के द्वारा चिकित्सा, नर्सिंग और पैरामेडिकल छात्रों को चिकित्सकीय अध्यापन और शोध के क्षेत्र में नए आयाम विकसित करना आज की आवश्यकता है। इस एमओयू के अंतर्गत विभिन्न विषयों के परस्पर क्रियान्वयन के लिए एम्स भोपाल एवं गांधी मेडिकल कॉलेज भोपाल के चिकित्सकों की उच्च स्तरीय समिति का गठन करने का निर्णय लिया गया है। समिति छात्रों के व्याख्यान की श्रृंखला के विषय और कैलेंडर को निर्धारित करेगी। 

लेक्चर, सिम्पोजियम, वर्कशॉप और ग्रुप डिस्कशन की गतिविधियों का भी होगा आयोजन

चर्चा में प्रदेश में स्थानिक रोग (एंडेमिक बीमारियों) के लिए मल्टी डिसिप्लिनरी शोध को बढ़ावा दिया जाएगा। चिकित्सा और नर्सिंग के पीजी एवं पीएचडी छात्रों के थीसिस के विषय दोनों संस्थाओं के समन्वय में निर्धारित करने और दोनों संस्थाओं से थीसिस के गाइड और को-गाइड निर्धारित करने की सहमति जताई गई। चिकित्सा क्षेत्र में गुड प्रैक्टिसेस, मेडिकल एथिक्स, क्लीनिकल ट्रायल्स, मेडिकल रेग्युलेशन और मेडिकल डिवाइसेस के क्षेत्र में प्रभावी कार्य करने का निर्णय भी लिया गया।  

आज एम्स, भोपाल में आयोजित कार्यक्रम में मंत्री श्री सारंग के साथ, एम्स भोपाल की गवर्निंग बॉडी के चेयरमेन डॉ. वाय. के. गुप्ता, आयुक्त चिकित्सा शिक्षा श्री निशांत वरवड़े, एम्स भोपाल के डायरेक्टर डॉ. सरमन सिंह, संचालक चिकित्सा शिक्षा डॉ. उल्का श्रीवास्तव, डीन एम्स डॉ. राजेश मलिक, डीन गांधी चिकित्सा महाविद्यालय डॉ. अरुणा कुमार, जीएमसी मेडिकल टीचर्स एसोसिएशन के डॉ. राकेश मालवीय, डॉ. संजीव गौर, डॉ. लोकेंद्र दवे एवं एम्स भोपाल के चिकित्सा शिक्षक उपस्थित थे।


दुर्गेश रायकवार
Post a Comment

कोरोना संक्रमण चेन को तोड़ने में सहयोग करें जन-प्रतिनिधि: मुख्यमंत्री श्री चौहान
अस्पतालों में ऑक्सीजन के उपयोग और आपूर्ति की निगरानी करेंगे नोडल अधिकारी - मुख्यमंत्री श्री चौहान
मुख्यमंत्री श्री चौहान ने निवास में आंवले का पौधा रोपा
रेमडेसिविर की कालाबाजारी करने वालों पर रासुका लगायें : मुख्यमंत्री श्री चौहान
मुख्यमंत्री श्री चौहान को मंत्री श्री देवड़ा ने प्रभार के जिलों की स्वास्थ्य सुविधाओं से कराया अवगत
कोविड पीड़ित बिजली कर्मियों को 3 लाख तक चिकित्सा एडवांस की सुविधा
उर्जा मंत्री श्री तोमर ने हाथ जोड़ कर शहर के प्रायवेट अस्पताल संचालकों से मांगा सहयोग
प्रदेश में ऑक्सीजन की कमी नहीं होने दी जायेगी - सहकारिता मंत्री डॉ. भदौरिया
चक्क आगासौद बीना रिफायनरी में 5 मई से शुरू होगा 1000 बिस्तर का अस्थाई अस्पताल
ग्राहक स्वयं को मजबूर नहीं मजबूत समझें - तरूण पिथौड़े
नोवल कोरोना वायरस (COVID-19) मीडिया बुलेटिन
12,572 ग्राम पंचायतों ने स्व-प्रेरणा से लिया जनता कर्फ्यू लगाने का संकल्प
कोरोना योद्धा सेल : बुरहानपुर जिले में नवाचार
सागर ग्रुप के रातीबड़ कैम्पस में 500 बेड का कोविड केयर सेंटर शुरू
जन-सहयोग से इंदौर में निर्मित हुआ प्रदेश का सबसे बड़ा कोविड केयर सेंटर
महिला सुरक्षा के प्रति जागरूकता के लिए रेडियो कार्यक्रम
"योग से निरोग कार्यक्रम होगा शुरू : मुख्यमंत्री करेंगे शुभारंभ
भोपाल में कोविड केयर सेंटर और बिस्तरों में होगी वृद्धि
आयुष मंत्री श्री कावरे ने गोंगलई कोविड-केयर सेंटर का किया निरीक्षण
पृथ्वी दिवस- पर्यावरण मंत्री श्री डंग की अधिक से अधिक पेड़ लगाने की अपील
कोविड संक्रमण की चेन तोड़ने मंत्रीगण को दी गयी कार्यों की जिम्मेदारी
श्री ओ.पी. रावत को लगा कोरोना वैक्सीन का दूसरा डोज
टीकाकरण के विरुद्ध भ्रामक प्रचार करने वालों पर होगी कार्रवाई - पशुपालन मंत्री श्री पटेल
1