आज के समाचार

पिछला पृष्ठ
.

प्रदेश के वेटलैण्ड्स का सुधरेगा स्वास्थ्य, 50 तालाबों के हेल्थ-कार्ड दिल्ली भेजे गये

हेल्थ-कार्ड बनाने में मध्यप्रदेश अग्रणी राज्य 

भोपाल : गुरूवार, फरवरी 4, 2021, 12:41 IST

पर्यावरण मंत्री श्री हरदीप सिंह डंग ने बताया है कि केन्द्र शासन के निर्देशानुसार प्रदेश के सभी जिलों से दो-दो वेटलैण्ड्स चिन्हित कर हेल्थ-कार्ड बनाने का काम शुरू कर दिया गया है। राज्य वेटलैण्ड प्राधिकरण एप्को ने चिन्हित वेटलैण्ड्स में से लगभग 50 तालाबों के हेल्थ-कार्ड केन्द्रीय पर्यावरण, वन एवं जलवायु परिवर्तन मंत्रालय को भेज दिये हैं। देश में अब तक 500 वेटलैण्ड्स के हेल्थ-कार्ड बने हैं, जिनमें मध्यप्रदेश अग्रणी है।

श्री डंग ने बताया कि वेटलैण्ड्स के पर्यावरणीय एवं पारिस्थितिकीय स्वास्थ्य का पता लगाने के लिये वेटलैण्ड हेल्थ-कार्ड बनाये जा रहे हैं। वेटलैण्ड्स के हेल्थ-कार्ड के लिये भारत शासन द्वारा तय प्रारूप के अनुसार वेटलैण्ड्स का जलीय क्षेत्रफल, हाइड्रोलॉजी (मिलने वाले नदी-नालों की संख्या और उनमें कोई परिवर्तन), जल की गुणवत्ता, जैव-विविधता और इस संबंध में शासन द्वारा लिये गये निर्णय और आदेशों आदि का समावेश किया गया है। वेटलैण्ड की समस्त जानकारी को सम्मिलित कर एक केटेगरी का निर्धारण किया जाता है।

वेटलैण्ड रिजुवेनेशन कार्यक्रम के प्रथम चरण में प्रदेश के 120 तालाबों और वेटलैण्ड्स को चिन्हित किया गया है। चिन्हित वेटलैण्ड्स के हेल्थ-कार्ड, संक्षिप्त प्रतिवेदन, एकीकृत प्रबंधन परियोजना आदि बनायी जा रही है। लगभग 50 तालाबों के हेल्थ-कार्ड भारत सरकार को प्रेषित किये गये हैं। शेष वेटलैण्ड्स की जल गुणवत्ता की जाँच के लिये मध्यप्रदेश प्रदूषण नियंत्रण बोर्ड और एप्को प्रयोगशाला द्वारा कार्य किया जा रहा है।

एप्को नॉलेज पार्टनर, छत्तीसगढ़-तेलांगना को भी देगा तकनीकी मदद

मंत्री श्री डंग ने मार्च-2021 तक सभी 120 वेटलैण्ड्स के हेल्थ-कार्ड पूरे करने के निर्देश दिये हैं। केन्द्रीय पर्यावरण, वन एवं जलवायु परिवर्तन मंत्रालय द्वारा एप्को को इस कार्य के लिये नॉलेज पार्टनर के रूप में मान्यता दी गयी है। मध्यप्रदेश के हेल्थ-कार्ड पूर्ण होने पर एप्को छत्तीसगढ़ और तेलंगाना राज्य को भी इस कार्य के लिये तकनीकी सहायता देगा।


सुनीता दुबे
Post a Comment

कोरोना संक्रमण चेन को तोड़ने में सहयोग करें जन-प्रतिनिधि: मुख्यमंत्री श्री चौहान
अस्पतालों में ऑक्सीजन के उपयोग और आपूर्ति की निगरानी करेंगे नोडल अधिकारी - मुख्यमंत्री श्री चौहान
मुख्यमंत्री श्री चौहान ने निवास में आंवले का पौधा रोपा
रेमडेसिविर की कालाबाजारी करने वालों पर रासुका लगायें : मुख्यमंत्री श्री चौहान
मुख्यमंत्री श्री चौहान को मंत्री श्री देवड़ा ने प्रभार के जिलों की स्वास्थ्य सुविधाओं से कराया अवगत
कोविड पीड़ित बिजली कर्मियों को 3 लाख तक चिकित्सा एडवांस की सुविधा
उर्जा मंत्री श्री तोमर ने हाथ जोड़ कर शहर के प्रायवेट अस्पताल संचालकों से मांगा सहयोग
प्रदेश में ऑक्सीजन की कमी नहीं होने दी जायेगी - सहकारिता मंत्री डॉ. भदौरिया
चक्क आगासौद बीना रिफायनरी में 5 मई से शुरू होगा 1000 बिस्तर का अस्थाई अस्पताल
ग्राहक स्वयं को मजबूर नहीं मजबूत समझें - तरूण पिथौड़े
नोवल कोरोना वायरस (COVID-19) मीडिया बुलेटिन
12,572 ग्राम पंचायतों ने स्व-प्रेरणा से लिया जनता कर्फ्यू लगाने का संकल्प
कोरोना योद्धा सेल : बुरहानपुर जिले में नवाचार
सागर ग्रुप के रातीबड़ कैम्पस में 500 बेड का कोविड केयर सेंटर शुरू
जन-सहयोग से इंदौर में निर्मित हुआ प्रदेश का सबसे बड़ा कोविड केयर सेंटर
महिला सुरक्षा के प्रति जागरूकता के लिए रेडियो कार्यक्रम
"योग से निरोग कार्यक्रम होगा शुरू : मुख्यमंत्री करेंगे शुभारंभ
भोपाल में कोविड केयर सेंटर और बिस्तरों में होगी वृद्धि
आयुष मंत्री श्री कावरे ने गोंगलई कोविड-केयर सेंटर का किया निरीक्षण
पृथ्वी दिवस- पर्यावरण मंत्री श्री डंग की अधिक से अधिक पेड़ लगाने की अपील
कोविड संक्रमण की चेन तोड़ने मंत्रीगण को दी गयी कार्यों की जिम्मेदारी
श्री ओ.पी. रावत को लगा कोरोना वैक्सीन का दूसरा डोज
टीकाकरण के विरुद्ध भ्रामक प्रचार करने वालों पर होगी कार्रवाई - पशुपालन मंत्री श्री पटेल
1