आज के समाचार

पिछला पृष्ठ
.

किशोर बालिकाओं एवं महिलाओं की सायबर सुरक्षा पर एक दिवसीय वेबिनार संपन्न

 

भोपाल : सोमवार, जनवरी 25, 2021, 23:06 IST

लोक शिक्षण संचानालय एवं मध्यप्रदेश पुलिस के संयुक्त प्रयास से किशोर बालिकाओं एवं महिलाओं की सायबर सुरक्षा पर एक दिवसीय वेबिनार का आयोजन किया गया। स्कूल शिक्षा विभाग के यूट्यूब चैनल Vimarsh MP SED के यूट्यूब चैनल पर प्रदेश की किशोर बालिकाओं, गृहणियों और अभिभावकों ने इसे लाइव देखा। 

आयुक्त लोक शिक्षण श्रीमती जयश्री कियावत ने बताया कि किशोर बालिकाओं और गृहणियों को साइबर सुरक्षा के प्रति जागरूक करने के उद्देश्य से इस वेबिनार का आयोजन किया गया है। उन्होंने कहा कि आज लगभग सभी इंटरनेट का इस्तेमाल कर रहे हैं और सोशल मीडिया से जुड़े हुए हैं। कोरोना काल में इनका महत्व और अधिक बढ़ गया है। हम सभी फेसबुक, टि्वटर, यूट्यूब आदि के माध्यम से इंटरनेट और डिजिटल प्लेटफॉर्म का हिस्सा बन गए हैं। आज बड़े स्तर पर डिजिटल और ऑनलाइन सोशल मीडिया प्लेटफॉर्म का उपयोग हो रहा है। इस बड़े स्तर पर उपयोग होने के साथ-साथ इसके खतरे भी बढ़े हैं। साइबर अपराध की दृष्टि से किशोर बालिकाएँ और महिलाएँ आसान शिकार होती हैं। वे स्वभाव से सरल और भोली होती हैं। इंटरनेट की कम जानकारी और सरल स्वभाव का फायदा उठाकर कई आपराधिक तत्व इनके साथ साइबर अपराध कारित करते हैं। इन अपराधों का बुरा प्रभाव इनके मानसिक स्तर पर भी होता है। फ्री ऐप के माध्यम से हमारी निजी जानकारी चुराई जाती है। इसलिए आप सभी अनजान लोगों की फ्रेंड रिक्वेस्ट एक्सेप्ट ना करें ।फ्रॉड कॉल से सावधान रहें, किसी को अपना ओटीपी या बैंक पासवर्ड नहीं बताएं।

वेबिनार में आईपीएस श्रीमती दीपिका सूरी, आईपीएस सुश्री अपराजिता राय, एडीजी श्री साई मनोहर, सुप्रीम कोर्ट की अधिवक्ता एवं साइबर साथी की संस्थापिका सुश्री एन.एस. नप्पीनाई और साइबर सिक्योरिटी एक्सपर्ट श्री रक्षित टंडन ने साइबर सुरक्षा से जुड़ी महत्वपूर्ण और अहम जानकारी दी। उन्होंने बताया कि डिजिटल प्लेटफार्म और सोशल मीडिया पर साइबर हाइजीन और सुरक्षा नियमों का पालन करें। साइबर सुरक्षा के मानक नियमों का पालन करें। नकली वेबसाइट से बचें, अनआथराइज्ड वेबसाइट पर रजिस्टर न करें, गूगल अकाउंट पर टू स्टेप वेरीफिकेशन और ओटीपी ऑथेंटिकेशन ऑन करें, ब्लू टिक वाले सोशल मीडिया अकाउंट वेरिफाइड अकाउंट को ही फॉलो करे। व्हाट्सएप का उपयोग करते समय प्राइवेसी की सेटिंग ऑन रखें। सर्फिंग करते समय वेबसाइट पर पेडलॉक को देखें और उसकी स्पेलिंग चेक करें। अपना एटीएम कार्ड किसी को नहीं दें। एटीएम पर हाथ से ढंक कर अपना पिन नंबर डालें। एटीएम की स्लिप पर्ची वहीं डस्टबिन में ना डालें। 

साइबर अपराध से बचने के साथ-साथ स्वयं भी अपराधों के प्रति जागरूक रहें। सोशल मीडिया या डिजिटल प्लेटफॉर्म पर किसी की व्यक्तिगत फोटो न शेयर करें। वार्तालाप करते समय अमर्यादित भाषा और गलत शब्दों का प्रयोग न करें। किसी की फेक आईडी न बनाएँ। स्वयं भी जागरूक रहें और दूसरों को भी जागरूक करें। साइबर क्राइम का शिकार होने पर इसकी शिकायत ऑनलाइन www.cybercrime.gov.in पर करें।


अनुराग उइके
Post a Comment

यह युद्ध है, सभी को एकजुट होकर लड़ना होगा
मुख्यमंत्री श्री चौहान ने फाइकस पांडा का पौधा लगाया
ऑनलाइन माध्यम से करें बिजली बिल का भुगतान
होम आइसोलेशन के मरीजों को मेडिसिन किट वितरण के लिए प्रभारी अधिकारी होंगे नियुक्त
कोरोना प्रोटोकॉल और हाइजीन नियमों का करें पालन- राज्यमंत्री श्री परमार
मंत्री सुश्री ठाकुर ने किया अमर शहीद तात्या टोपे जी को नमन
"धरोहर-भविष्य के परिप्रेक्ष्य में" विषय पर वेबिनार हुआ आयोजित
पिछले तीन दिन में 17 हजार 963 ने जीती कोरोना से जंग
चिकित्सा शिक्षा मंत्री श्री सारंग ने किया एम्स के कोविड सेंटर का निरीक्षण
कोरोना नियंत्रण के लिए सरकार के सहयोगी बने कोरोना वॉलेंटियर्स
राज्यपाल श्रीमती पटेल का भ्रमण कार्यक्रम निरस्त
1