आज के समाचार

पिछला पृष्ठ
.

गोबर एवं पराली दोनों ही अत्यंत उपयोगी

सालरिया एवं रायसेन में गोबर एवं पराली से बनाए जाएंगे सी.एन.जी. एवं ऑर्गेनिक फर्टिलाइजर्स
मुख्यमंत्री श्री चौहान ने भारत बायोगैस एनर्जी लिमिटेड के पदाधिकारियों के साथ की बैठक
 

भोपाल : रविवार, जनवरी 24, 2021, 20:11 IST

मुख्यमंत्री श्री शिवराज सिंह चौहान ने कहा है कि गोबर एवं पराली दोनों ही अत्यंत उपयोगी है तथा इनके उपयोग से मध्यप्रदेश में बायो सीएनजी तथा ऑर्गेनिक सॉलि़ड एवं लिक्विड फर्टिलाइजर्स के उत्पादन के लिए योजना बनाई जा रही है। पहले चरण में इसके लिए सालरिया गो-अभयारण्य एवं कामधेनु रायसेन को चुना गया है। यहां भारत बायोगैस एनर्जी लिमिटेड के माध्यम से प्रोजेक्ट बनाए जाकर उस पर कार्य किया जाएगा। हमारे पड़ोसी राज्य गुजरात में इन दोनों पर ही सफलतापूर्वक कार्य किया जा रहा है। मध्य प्रदेश भी गोबर तथा पराली से सीएनजी तथा बायो-फर्टिलाइजर्स उत्पादन के क्षेत्र में तेजी से कार्य करेगा।

मुख्यमंत्री श्री चौहान आज निवास पर भारत बायोगैस एनर्जी लिमिटेड, आनंद गुजरात के पदाधिकारियों के साथ बैठक कर रहे थे। बैठक में पशुपालन मंत्री श्री प्रेम सिंह पटेल, पंचायत एवं ग्रामीण विकास मंत्री श्री महेन्द्र सिंह सिसौदिया, भारत बायोगैस के चेयरमैन डॉ. भरत जी पटेल, श्री सुबोध शाह, श्री फणींद्र भूषण, अपर मुख्य सचिव श्री के.के. सिंह, प्रमुख सचिव श्री अजीत केसरी, प्रमुख सचिव श्री मनीष रस्तोगी आदि उपस्थित थे।

परियोजना संचालित करेंगे, प्रशिक्षण भी देंगे

भारत बायोगैस के चेयरमैन श्री भरत पटेल ने कहा कि भारत बायोगैस द्वारा इन दोनों स्थानों पर बायो सीएनजी एवं बायो सॉलि़ड तथा लिक्विड फर्टिलाइजर की पूरी योजना बनाई जाएगी जिसे 3 से 5 वर्ष तक चलाया जाएगा। मुख्यमंत्री श्री चौहान ने इस पर प्रारंभिक स्वीकृति देते हुए अधिकारियों को आगे की कार्रवाई के निर्देश दिए।

3000 किलोग्राम सीएनजी प्रतिदिन

प्रोजेक्ट प्रस्तुतीकरण में श्री पटेल ने बताया कि सालरिया गो-अभ्यारण में प्रतिदिन 70 मीट्रिक टन रॉ-मटेरियल, जिसमें गोबर, पराली, घास तथा ग्रामीण कचरा शामिल हैं, से लगभग 3000 किलोग्राम बायो सीएनजी का प्रतिदिन उत्पादन किया जाएगा। इसी के साथ लगभग 25 मीट्रिक टन सॉलि़ड ऑर्गेनिक फर्टिलाइजर तथा लगभग 7000 लीटर लिक्विड ऑर्गेनिक फर्टिलाइजर का प्रतिदिन उत्पादन किया जाएगा। इसी के साथ वहां विभिन्न प्रजातियों का पौधारोपण, बांस रोपण, ड्रैगन फ्रूट प्लांटेशन आदि भी किए जाएंगे।

रायसेन में बनाएंगे मॉडल प्लांट

श्री पटेल ने बताया कि रायसेन में खेत की पराली एवं गोबर के मिश्रण से बायोगैस एवं फर्टिलाइजर्स बनाने का मॉडल प्लांट लगाए जाने की योजना बनाई जा रही है। इस प्लांट मैं रॉ-मटेरियल के रूप में प्रतिदिन लगभग 10 मी.टन गोबर एवं पराली के मिश्रण से प्रतिदिन 400 किलोग्राम बायो सीएनजी लगभग 3 मीट्रिक टन सॉलिड ऑर्गेनिक फर्टिलाइजर तथा लगभग 1000 लीटर प्रतिदिन लिक्विड ऑर्गेनिक फर्टिलाइजर बनाने की योजना है।

विदेशों में भी करेंगे मार्केटिंग

श्री पटेल ने बताया कि भारत बायोगैस द्वारा इन स्थानों पर बनाए गए बायो सीएनजी तथा सॉलिड एवं लिक्विड फर्टिलाइजर की देश-विदेश में ब्रांडिंग और मार्केटिंग भी की जाएगी। इनका अच्छा मार्केट है। इस क्षेत्र में स्थानीय लोगों को प्रशिक्षण भी दिया जाएगा, जिससे स्थानीय लोगों को रोजगार मिलेगा।

'अक्षय पात्र' गुजरात की सेवाएं भी ली जाएंगी

मुख्यमंत्री श्री चौहान ने कहा कि प्रदेश की कुछ गो-शालाओं के श्रेष्ठ संचालन के लिए अक्षय पात्र संस्था गुजरात की भी सेवाएं ली जाएंगी। अक्षय पात्र द्वारा गुजरात में इस क्षेत्र में सराहनीय कार्य किया जा रहा है। गौशालाओं के संचालन में समुदाय की अधिक से अधिक भागीदारी सुनिश्चित की जाएगी।

सालरिया में बढ़ाई जाएगी गोवंश की संख्या

मुख्यमंत्री श्री चौहान ने कहा कि वर्तमान में सालरिया गो-अभयारण्य में 4000 गोवंश हैं, जबकि गो-अभयारण्य की क्षमता 10000 गोवंश की है। भविष्य में यहां गोवंश की संख्या बढ़ाई जाएगी।


पंकज मित्तल
Post a Comment

प्रदेश में कोरोना संबंधी सभी सावधानियाँ बरती जाये
मुख्यमंत्री श्री चौहान ने लगाया सीता अशोक का पौधा
सड़क दुर्घटनाओं में कमी के लिये सशक्त यातायात प्रबंधन आवश्यक-एडीजी श्री सागर
10 किलोवाट तक के उपभोक्ताओं को ईमेल, व्हाट्सएप एवं एसएमएस से मिलेंगे बिजली बिल
27 एवं 28 फरवरी को बिजली बिल भुगतान केन्द्र खुलेंगे
नरवाई से बनेगा कोयला, पायलेट प्रोजेक्ट होशंगाबाद में - मंत्री श्री पटेल
"प्रधानमंत्री किसान सम्मान निधि" आजाद भारत में सबसे बड़ा उपहार - मंत्री श्री पटेल
अमरकंटक में सीवेज ट्रीटमेंट प्लांट और सीवर लाइन का कार्य अंतिम चरण में
लिफ्ट संबंधी सुरक्षा प्रावधानों का करें कड़ाई से पालन : नगरीय विकास मंत्री श्री सिंह
युवाओं को प्रदेश में ही मिलेगा रोजगार : लोक निर्माण मंत्री श्री भार्गव
शिक्षा में प्रथम चिंतन राष्ट्रहित में हो : राज्य मंत्री श्री परमार
खजुराहो नृत्य समारोह में शास्त्रीय नृत्यों की प्रस्तुतियों ने समा बाँधा
मंत्री सुश्री ऊषा ठाकुर का दौरा कार्यक्रम
कला और हुनर के अदभुत संगम से कला प्रेमियों और पर्यटकों का सीधा संवाद
नोवल कोरोना वायरस (COVID-19) मीडिया बुलेटिन
मानसून के पूर्व सभी भवनों के प्लिंथ लेवल को पूरा करें
एमएमएमवीवाय के तहत पॉलीटेक्निक के छात्रों के लिए भी बनेगी नीति
महिला बाल विकास विभाग मैदानी अधिकारीयों-कर्मचारियों को करेगा प्रोत्साहित
अब प्रसूति के लिये नहीं जाना पड़ता जिला अस्पताल
ग्रामीणों ने बनाई गौ-शाला, फसल नुकसान और सड़क दुर्घटना घटी
1