आज के समाचार

पिछला पृष्ठ
.

प्रधानमंत्री सूक्ष्म खाद्य उन्नयन योजना के लिए 500 करोड़ रूपये की मंजूरी

मुख्यमंत्री श्री चौहान की अध्यक्षता में मंत्रि-परिषद की बैठक 

भोपाल : मंगलवार, जनवरी 12, 2021, 13:54 IST

मुख्यमंत्री श्री शिवराज सिंह चौहान की अध्यक्षता में आज हुई मंत्रि-परिषद की बैठक में केन्द्र प्रवर्तित योजना प्रधानमंत्री सूक्ष्म खाद्य उन्नयन योजना(पीएमएफएमई) को वर्ष 2020-21 से 2024-25 तक के लिए राशि 500 करोड़ रूपये के प्रावधान के साथ क्रियान्वित करने की स्वीकृति दी।

इसमें परियोजना स्वीकृति के लिए कलेक्टर की अध्यक्षता में प्रस्तावों की अनुशंसा के लिए जिला स्तरीय समिति बनाई गई है। 10 लाख रूपये तक की अनुदान सहायता वाले प्रोजेक्ट के लिए मुख्य सचिव की अध्यक्षता में राज्य स्तरीय अनुमोदन समिति रहेगी। अर्न्तविभागीय मंत्री सक्षम समूह 10 लाख रूपये से अधिक की स्वीकृति दे सकेगा।

यह योजना कलस्टर एप्रोच के साथ 'एक जिला एक उत्पाद' पर आधारित है। निजी इकाइयों को 35 प्रतिशत अधिकतम 10 लाख क्रेडिट लिंक अनुदान मिलेगा। एफ.पी.ओ./एस.एच.जी./कॉपरेटिव को पूंजी निवेश, प्रशिक्षण एवं विपणन पर 35 प्रतिशत क्रेडिट लिंक अनुदान (न्यूनतम टर्नओवर 1 करोड़ ) रहेगा। एस.एच.जी. को सीड केपिटल 40 हजार प्रति सदस्य दी जायगी। ब्रांडिंग एवं मार्केटिंग में सहायता दी जायेगी।

ग्रामीण (सीमान्त, छोटे किसान तथा भूमिहीन कृषि श्रमिक ) ऋण विमुक्ति विधेयक

मंत्रि-परिषद ने  मध्यप्रदेश ग्रामीण (सीमान्त व छोटे किसान तथा भूमिहीन कृषि श्रमिक ) ऋण विमुक्ति विधेयक 2020 के संबंध में संविधान के अनुच्छेद 304(बी) के परन्तुक के अनुसरण में विधेयक को विधान सभा में पुर: स्थापित करने के पहले राष्ट्रपति की अनुमति प्राप्त एवं विधान सभा से पारित कराने की सभी कार्यवाही के लिए राजस्व विभाग को अधिकृत किया ।   

पूर्व में मध्यप्रदेश अनुसूचित जनजाति ऋण विमुक्ति अधिनियम 2020 के अंतर्गत राज्य के अनुसूचित क्षेत्रों में निवासरत मध्यप्रदेश की अनुसूचित जनजातियों के सदस्यों को ऋण ग्रस्तता से राहत के लिए उपबंध किये गये हैं।  मध्यप्रदेश ग्रामीण (सीमान्त व छोटे किसान तथा भूमिहीन कृषि श्रमिक ) ऋण विमुक्ति विधेयक 2020 में भी समान प्रकार के उपबंध है जो विधेयक में प्रस्तावित किये गए है।

ग्रामीण क्षेत्रों के भूमिहीन कृषि श्रमिकों, सीमान्त किसानों तथा छोटे किसानों (राज्य के अनुसूचित क्षेत्रों में निवासरत मध्यप्रदेश की अनुसूचित जनजातियों के सदस्यों को छोड़कर) को, नियमों व प्रक्रिया के विरूद्व तथा अत्यन्त ऊँची ब्याज दरों पर दिये गये ऋण की समस्या का निरंतर सामना करना पड़ रहा है। इसका परिणाम ऐसे व्यक्तियों की वित्तीय हानि, मानसिक प्रताड़ना तथा शोषण के रूप में निकलता है। ऐसे भूमिहीन कृषि श्रमिकों, सीमान्त किसानों तथा छोटे किसानों को 15 अगस्त 2020 तक उन्हें दिए गए कतिपय ऋणों, जिनमें ब्याज की राशि शामिल है, के उन्मोचन द्वारा राहत देने के लिए मध्यप्रदेश ग्रामीण (सीमान्त व छोटे किसान तथा भूमिहीन कृषि श्रमिक) ऋण विमुक्ति विधेयक,2020 प्रस्तावित किया गया है।


राजेश दाहिमा/दुर्गेश रायकवार/अनुराग उईके
Post a Comment

प्रधानमंत्री सूक्ष्म खाद्य उन्नयन योजना के लिए 500 करोड़ रूपये की मंजूरी
नवनिर्मित भवन राष्ट्र निर्माण में मील का पत्थर साबित होगा : मुख्यमंत्री श्री चौहान
आम जनता ही मेरी भगवान है
उज्जैन में माफिया के विरुद्ध की गई कार्यवाही पर मुख्यमंत्री श्री चौहान ने दी बधाई
श्री महाकाल विकास योजना को मंजूरी
आम जनता ही मेरी भगवान है, उसकी सेवा में कसर नहीं छोड़ेंगे -मुख्यमंत्री श्री चौहान
भामाशाह योजना पुन: प्रारंभ कर ईमानदार करदाताओं को करेंगे पुरस्कृत
जहरीली शराब दुर्घटना में दोषी व्यक्तियों के खिलाफ की जाएगी कड़ी कार्रवाई- मुख्यमंत्री श्री चौहान
मुख्यमंत्री श्री चौहान ने युवा दिवस पर स्वामी विवेकानंद को नमन किया
दुनिया का सबसे बड़ा टीकाकरण अभियान 16 जनवरी से प्रदेश में प्रारंभ होगा
उद्योगों से जो कमिटमेंट किये है उन्हें पूरा किया जाएगा
मुख्यमंत्री श्री शिवराज सिंह चौहान का उज्जैन हवाई पट्टी पर आत्मीय स्वागत
भारतीय सेना के अप्रतिम शौर्य को सेल्यूट - मंत्री डॉ. मिश्रा
जीरो सड़क दुर्घटना के विजन में सभी की हो सहभागिता - आयुक्त श्री जैन
जरूरत के अनुसार ही बनायें विद्युत उप-केन्द्र, इनकी पूरी क्षमता का हो उपयोग
श्री बिसाहूलाल सिंह की अध्यक्षता में संचालक मण्डल की बैठक में लिए अनेक निर्णय
आदिवासी विकासखण्डों में प्रमुखता से सिंचाई परियोजनाएँ बनाई जाएँ
प्रभारी कार्यपालन यंत्री को कारण बताओ सूचना पत्र जारी
संस्कृति मंत्री सुश्री ठाकुर ने स्वामी विवेकानंद की प्रतिमा पर माल्यार्पण किया
नोवल कोरोना वायरस (COVID-19) मीडिया बुलेटिन
प्रदेश में 16 जनवरी से 302 स्थानों पर कोरोना वैक्सीन लगाने की प्रक्रिया होगी शुरू
मुख्यमंत्री श्री चौहान द्वारा वरिष्ठ पत्रकार श्री सुशील तिवारी के निधन पर शोक व्यक्त
राज्य निर्वाचन आयुक्त श्री सिंह चुनाव तैयारियों के संबंध में कलेक्टर्स से करेंगे चर्चा
झाबुआ जिले में कड़कनाथ मुर्गी में मिला बर्डफ्लू वायरस
चिड़ीखो अभ्यारण्य में बर्ड फ्लू का असर नहीं
1