आज के समाचार

पिछला पृष्ठ
.

प्रधानमंत्री सूक्ष्म खाद्य उन्नयन योजना के लिए 500 करोड़ रूपये की मंजूरी

मुख्यमंत्री श्री चौहान की अध्यक्षता में मंत्रि-परिषद की बैठक 

भोपाल : मंगलवार, जनवरी 12, 2021, 13:54 IST

मुख्यमंत्री श्री शिवराज सिंह चौहान की अध्यक्षता में आज हुई मंत्रि-परिषद की बैठक में केन्द्र प्रवर्तित योजना प्रधानमंत्री सूक्ष्म खाद्य उन्नयन योजना(पीएमएफएमई) को वर्ष 2020-21 से 2024-25 तक के लिए राशि 500 करोड़ रूपये के प्रावधान के साथ क्रियान्वित करने की स्वीकृति दी।

इसमें परियोजना स्वीकृति के लिए कलेक्टर की अध्यक्षता में प्रस्तावों की अनुशंसा के लिए जिला स्तरीय समिति बनाई गई है। 10 लाख रूपये तक की अनुदान सहायता वाले प्रोजेक्ट के लिए मुख्य सचिव की अध्यक्षता में राज्य स्तरीय अनुमोदन समिति रहेगी। अर्न्तविभागीय मंत्री सक्षम समूह 10 लाख रूपये से अधिक की स्वीकृति दे सकेगा।

यह योजना कलस्टर एप्रोच के साथ 'एक जिला एक उत्पाद' पर आधारित है। निजी इकाइयों को 35 प्रतिशत अधिकतम 10 लाख क्रेडिट लिंक अनुदान मिलेगा। एफ.पी.ओ./एस.एच.जी./कॉपरेटिव को पूंजी निवेश, प्रशिक्षण एवं विपणन पर 35 प्रतिशत क्रेडिट लिंक अनुदान (न्यूनतम टर्नओवर 1 करोड़ ) रहेगा। एस.एच.जी. को सीड केपिटल 40 हजार प्रति सदस्य दी जायगी। ब्रांडिंग एवं मार्केटिंग में सहायता दी जायेगी।

ग्रामीण (सीमान्त, छोटे किसान तथा भूमिहीन कृषि श्रमिक ) ऋण विमुक्ति विधेयक

मंत्रि-परिषद ने  मध्यप्रदेश ग्रामीण (सीमान्त व छोटे किसान तथा भूमिहीन कृषि श्रमिक ) ऋण विमुक्ति विधेयक 2020 के संबंध में संविधान के अनुच्छेद 304(बी) के परन्तुक के अनुसरण में विधेयक को विधान सभा में पुर: स्थापित करने के पहले राष्ट्रपति की अनुमति प्राप्त एवं विधान सभा से पारित कराने की सभी कार्यवाही के लिए राजस्व विभाग को अधिकृत किया ।   

पूर्व में मध्यप्रदेश अनुसूचित जनजाति ऋण विमुक्ति अधिनियम 2020 के अंतर्गत राज्य के अनुसूचित क्षेत्रों में निवासरत मध्यप्रदेश की अनुसूचित जनजातियों के सदस्यों को ऋण ग्रस्तता से राहत के लिए उपबंध किये गये हैं।  मध्यप्रदेश ग्रामीण (सीमान्त व छोटे किसान तथा भूमिहीन कृषि श्रमिक ) ऋण विमुक्ति विधेयक 2020 में भी समान प्रकार के उपबंध है जो विधेयक में प्रस्तावित किये गए है।

ग्रामीण क्षेत्रों के भूमिहीन कृषि श्रमिकों, सीमान्त किसानों तथा छोटे किसानों (राज्य के अनुसूचित क्षेत्रों में निवासरत मध्यप्रदेश की अनुसूचित जनजातियों के सदस्यों को छोड़कर) को, नियमों व प्रक्रिया के विरूद्व तथा अत्यन्त ऊँची ब्याज दरों पर दिये गये ऋण की समस्या का निरंतर सामना करना पड़ रहा है। इसका परिणाम ऐसे व्यक्तियों की वित्तीय हानि, मानसिक प्रताड़ना तथा शोषण के रूप में निकलता है। ऐसे भूमिहीन कृषि श्रमिकों, सीमान्त किसानों तथा छोटे किसानों को 15 अगस्त 2020 तक उन्हें दिए गए कतिपय ऋणों, जिनमें ब्याज की राशि शामिल है, के उन्मोचन द्वारा राहत देने के लिए मध्यप्रदेश ग्रामीण (सीमान्त व छोटे किसान तथा भूमिहीन कृषि श्रमिक) ऋण विमुक्ति विधेयक,2020 प्रस्तावित किया गया है।


राजेश दाहिमा/दुर्गेश रायकवार/अनुराग उईके
Post a Comment

राष्ट्रपति श्री रामनाथ कोविंद 6-7 मार्च को प्रदेश के प्रवास पर
राष्ट्रपति श्री रामनाथ कोविन्द 7 मार्च को दमोह के सिंग्रामपुर में जनजातीय सम्मेलन में भाग लेंगे
मुख्यमंत्री श्री चौहान को मिलीं जन्म वर्षगाँठ पर बधाईयाँ
भोपाल का वन विहार है अनूठा : मुख्यमंत्री श्री चौहान
नारी तू नारायणी
कोरोना के प्रकरणों में कमी नहीं आई तो भोपाल-इंदौर में 8 मार्च से रात्रि कर्फ्यू - मुख्यमंत्री श्री चौहान
शिक्षा का उद्देश्य है ज्ञान, कौशल और नागरिकता के संस्कार देना : मुख्यमंत्री श्री चौहान
पेड़ लगाना पृथ्वी को बचाने का अभियान : मुख्यमंत्री श्री चौहान
श्री सुरेन्द्र सिंह राजपूत होंगे भू-संपदा विनियामक प्राधिकरण के सदस्य
ऊर्जा मंत्री श्री तोमर करेंगे विभिन्न वार्डों का साइकिल से भ्रमण
केन्द्रीय कृषि मंत्री श्री तोमर का श्री पटेल द्वारा आभार व्यक्त
मुख्यमंत्री को पारिजात का पौधा किया भेंट, कदम और तुलसी के पौधे लगाये
सहकारिता एवं लोक-सेवा प्रबंधन मंत्री डॉ. भदौरिया ने लगाया आम का पौधा
निर्माण कार्य की गुणवत्ता से समझौता नहीं होगा- लोक निर्माण मंत्री श्री भार्गव
मुख्यमंत्री द्वारा भेंट पौधा राज्यमंत्री श्री परमार ने रोपा
मुख्यमंत्री श्री चौहान के जन्म-दिन पर खाद्य मंत्री श्री सिंह ने लगाया नीम का पौधा
जलसंसाधन मंत्री श्री तुलसीराम सिलावट ने रोपा पौधा
नोवल कोरोना वायरस (COVID-19) मीडिया बुलेटिन
स्वास्थ्य मंत्री डॉ. चौधरी 6 मार्च को रायसेन जिले के दौरे पर
नरेला विधानसभा में आज भी चला विशेष सफाई अभियान
फूड प्रोसेसिंग यूनिट स्थापित करने के लिये उद्यमी आगे आएँ, सरकार हर संभव मदद करेगी : केन्द्रीय मंत्री श्री तोमर
राज्यमंत्री स्वतंत्र प्रभार श्री कुशवाह ने ग्वालियर में 178 लाख के 21 विकास कार्यों का भूमि-पूजन और लोकार्पण किया
मंत्री श्री सिंह और राज्यमंत्री श्री कांवरे "मिनिस्टर इन वेटिंग" नामित
शहीद लक्ष्मीकांत द्विवेदी के परिवार को मध्यप्रदेश सरकार एक करोड़ रूपये, एक मकान तथा परिवार के एक सदस्य को नौकरी देगी
राज्य निर्वाचन आयुक्त श्री सिंह 6 मार्च को करेंगे कलेक्टर्स से चर्चा
पशुपालन मंत्री श्री पटेल ने वृद्धाश्रम में मनाया सी.एम. का जन्म-दिन
1