आज के समाचार

पिछला पृष्ठ
.

प्रधानमंत्री आवास योजना (शहरी) में मध्यप्रदेश का उत्कृष्ट प्रदर्शन

प्रदेश को "सर्वश्रेष्ठ प्रदर्शन करने वाले राज्य" का दूसरा व "सार्वजनिक भूमि पर सर्वश्रेष्ठ एएचपी" का विशेष पुरस्कार
छिन्दवाड़ा व खुरई नगरीय निकायों को श्रेष्ठ आवास निर्माण के लिए पुरस्कार
देवास, बैतूल व अलीराजपुर के हितग्राहियों को श्रेष्ठ आवास निर्माण के लिए पुरस्कार
 

भोपाल : गुरूवार, दिसम्बर 31, 2020, 15:44 IST

एक जनवरी 2021 को वर्चुअल माध्यम से प्रधानमंत्री आवास योजना (शहरी)के उत्कृष्ट कार्यान्वयन करने के लिये पुरस्कार दिये जायेंगे। मध्यप्रदेश को राज्य व नगरीय निकायों की श्रेणी में सर्वाधिक 4 पुरस्कार मिलेंगे। 'सर्वश्रेष्ठ प्रदर्शन करने वाले राज्य' का दूसरा पुरस्कार प्रधानमंत्री श्री नरेन्द्र मोदी द्वारा मुख्यमंत्री श्री शिवराज सिंह चौहान को दिया जायेगा। मुख्यमंत्री श्री चौहान यह पुरस्कार इंदौर से (वर्चुअली) प्राप्त करेंगे। 'सार्वजनिक भूमि पर सर्वश्रेष्ठ एएचपी' का विशेष पुरस्कार मंत्री नगरीय विकास एवं आवास श्री भूपेन्द्र सिंह को राज्यमंत्री, आवासन और शहरी कार्य मंत्रालय, भारत सरकार द्वारा दिया जायेगा। नगरीय निकायों के पुरस्कार भी राज्यमंत्री आवासन और शहरी कार्य मंत्रालय, भारत सरकार द्वारा नगरीय निकायों के प्रतिनिधियों को वीडियो कॉफ्रेंसिंग के माध्यम से दिये जाएंगे।

प्रधानमंत्री श्री मोदी द्वारा देश के हर नागरिक को पक्का आवास उपलब्ध कराने की परिकल्पना को मूर्त रूप देने के उद्देश्य से वर्ष 2015 में प्रधानमंत्री आवास योजना (शहरी) को आरंभ किया गया था। मध्यप्रदेश द्वारा योजना का प्रारंभ से ही तीव्र गति से क्रियान्वयन किया गया, जिसके फलस्वरूप प्रदेश में योजना के विभिन्न घटकों के अन्तर्गत लगभग 8 लाख आवास स्वीकृत करते हुए 3 लाख हितग्राहियों को आवास प्रदान किये जा चुके हैं तथा वर्तमान में शेष आवासों का निर्माण प्रगतिरत है।

प्रदेश में योजना के प्रभावी क्रियान्वयन के लिए कई नवाचार किये गये, जिसके परिणामस्वरूप योजना का सराहनीय क्रियान्वयन हो सका है। भूमिहीन परिवारों को आवासीय भूमि का पट्टा उपलब्ध किया गया ताकि वे योजना के बी.एल.सी. घटक का लाभ लेने से वंचित न रहें। योजना के एएचपी घटक के अन्तर्गत हितग्राहियों को बैंकों से ऋण प्राप्त करने की कठिनाई दूर करने के लिये त्रिपक्षीय अनुबंध के माध्यम से नगरीय निकायों की जिम्मेदारी पर हितग्राहियों को सुगमतापूर्वक ऋण उपलब्ध कराया जा रहा है। योजना के क्रियान्वयन के लिए एक रुपये भू-भाटक पर 90 दिवस में शासकीय भूमि उपलब्ध करने का आदेश किया गया, ताकि समयबद्ध अवधि में नगरीय निकायों को भूमि उपलब्ध हो सके।

इसके अतिरिक्त गरीब पंजीकृत निर्माण श्रमिक जो हितग्राही-अंश की पूर्ति करने में सक्षम नहीं होते हैं उनके लिए योजनान्तर्गत प्रावधानित राशि के अतिरिक्त एक लाख रु. तक अतिरिक्त अनुदान मुख्यमंत्री भवन एवं संनिर्माण कर्मकार आवास योजना के माध्यम से उपलब्ध कराने का निर्णय लिया गया है। नगर निगमों की श्रेणी में पुरस्कृत छिन्दवाड़ा नगर निगम में योजना का उत्कृष्ट क्रियान्वयन किया गया है। एएचपी घटक के सभी आवास पूर्ण कर लगभग सभी आवासों में हितग्राही निवास कर रहे हैं। बीएलसी घटक अंतर्गत भी स्वयं हितग्राहियों द्वारा 8 हजार से अधिक आवासों का निर्माण पूर्ण किया जा चुका है। नगर पालिकाओं की श्रेणी में पुरस्कृत खुरई नगर पालिका में भी योजना का क्रियान्वयन बहुत अच्छा हुआ है। यहाँ बीएलसी घटक अन्तर्गत 3 हजार से अधिक आवासों का निर्माण पूरा हो चुका है और एएचपी घटक अन्तर्गत निर्मित आवासों में हितग्राही निवास कर रहे हैं। देवास, बैतूल व अलीराजपुर के हितग्राहियों को भी उत्कृष्ट आवास निर्माण के आधार पर पुरस्कृत किया जा रहा है।

मध्यप्रदेश में नगर उदय अभियान, शहरी विकास पर्व, शहरी विकास महोत्सव एवं भारत सरकार के अंगीकार अभियान आदि के माध्यम से हितग्राहियों को सहायता प्रदान करने एवं योजना की जागरूकता बढ़ाने के अनेक प्रयास किये गये हैं। इसकी वजह से प्रदेश के अधिक से अधिक हितग्राही योजना का लाभ प्राप्त कर सके हैं और प्रदेश में योजना क्रियान्वयन के उत्कृष्ट परिणाम प्राप्त हुए हैं।


पंकज मित्तल
Post a Comment

कोरोना संक्रमण चेन को तोड़ने में सहयोग करें जन-प्रतिनिधि: मुख्यमंत्री श्री चौहान
अस्पतालों में ऑक्सीजन के उपयोग और आपूर्ति की निगरानी करेंगे नोडल अधिकारी - मुख्यमंत्री श्री चौहान
मुख्यमंत्री श्री चौहान ने निवास में आंवले का पौधा रोपा
रेमडेसिविर की कालाबाजारी करने वालों पर रासुका लगायें : मुख्यमंत्री श्री चौहान
मुख्यमंत्री श्री चौहान को मंत्री श्री देवड़ा ने प्रभार के जिलों की स्वास्थ्य सुविधाओं से कराया अवगत
कोविड पीड़ित बिजली कर्मियों को 3 लाख तक चिकित्सा एडवांस की सुविधा
उर्जा मंत्री श्री तोमर ने हाथ जोड़ कर शहर के प्रायवेट अस्पताल संचालकों से मांगा सहयोग
प्रदेश में ऑक्सीजन की कमी नहीं होने दी जायेगी - सहकारिता मंत्री डॉ. भदौरिया
चक्क आगासौद बीना रिफायनरी में 5 मई से शुरू होगा 1000 बिस्तर का अस्थाई अस्पताल
ग्राहक स्वयं को मजबूर नहीं मजबूत समझें - तरूण पिथौड़े
नोवल कोरोना वायरस (COVID-19) मीडिया बुलेटिन
12,572 ग्राम पंचायतों ने स्व-प्रेरणा से लिया जनता कर्फ्यू लगाने का संकल्प
कोरोना योद्धा सेल : बुरहानपुर जिले में नवाचार
सागर ग्रुप के रातीबड़ कैम्पस में 500 बेड का कोविड केयर सेंटर शुरू
जन-सहयोग से इंदौर में निर्मित हुआ प्रदेश का सबसे बड़ा कोविड केयर सेंटर
महिला सुरक्षा के प्रति जागरूकता के लिए रेडियो कार्यक्रम
"योग से निरोग कार्यक्रम होगा शुरू : मुख्यमंत्री करेंगे शुभारंभ
भोपाल में कोविड केयर सेंटर और बिस्तरों में होगी वृद्धि
आयुष मंत्री श्री कावरे ने गोंगलई कोविड-केयर सेंटर का किया निरीक्षण
पृथ्वी दिवस- पर्यावरण मंत्री श्री डंग की अधिक से अधिक पेड़ लगाने की अपील
कोविड संक्रमण की चेन तोड़ने मंत्रीगण को दी गयी कार्यों की जिम्मेदारी
श्री ओ.पी. रावत को लगा कोरोना वैक्सीन का दूसरा डोज
टीकाकरण के विरुद्ध भ्रामक प्रचार करने वालों पर होगी कार्रवाई - पशुपालन मंत्री श्री पटेल
1