आज के समाचार

पिछला पृष्ठ
.

मध्यप्रदेश प्रवासी श्रमिक और रोजगार सेतु पोर्टल ‘महामारी में नवाचार’ के लिए सिल्वर अवार्ड से सम्मानित

‘खरगोन जिले को मिला डिजिटल गवर्नेंस में उत्कृष्टता’ के लिए प्लेटिनम पुरस्कार
राष्ट्रपति श्री राम नाथ कोविंद ने ऑनलाइन कार्यक्रम में वितरित किये डिजिटल इंडिया पुरस्कार 2020
 

भोपाल : बुधवार, दिसम्बर 30, 2020, 21:03 IST

मध्य प्रदेश सरकार के श्रम विभाग द्वारा संचालित प्रवासी श्रमिक और रोज़गार सेतु पोर्टलों को ‘महामारी में नवाचार’ श्रेणी में उत्कृष्टता के लिए भारत के राष्ट्रपति श्री राम नाथ कोविंद द्वारा आज नई दिल्ली में वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के माध्यम से आयोजित समारोह डिजिटल इंडिया अवार्ड्स 2020 में सिल्वर अवार्ड से सम्मानित किया गया। ये पोर्टल COVID-19 महामारी के दौरान प्रवासी और अन्य श्रमिकों की पहचान, पंजीकरण, कौशल और रोजगार की सुविधा प्रदान करने के लिए पुरस्कृत किए गए हैं। जिला खरगोन को जिले की वेबसाइट के लिए ‘डिजिटल गवर्नेंस में उत्कृष्टता – जिला’ श्रेणी के लिए प्लेटिनम पुरस्कार से नवाजा गया है। केंद्रीय विधि और न्याय, संचार, इलेक्ट्रॉनिक्स और सूचना प्रौद्योगिकी मंत्री श्री रविशंकर प्रसाद, सचिव (MEITY) श्री अजय साहनी और अन्य गणमान्य व्यक्ति विज्ञान भवन, नई दिल्ली और भोपाल, कोलकाता, चेन्नई और विभिन्न स्थानों से पुरस्कार समारोह में शामिल हुए।

ये पोर्टल मुख्यमंत्री श्री शिवराज सिंह चौहान के दृष्टिकोण की अभिव्यक्ति हैं और मध्यप्रदेश देश का पहला ऐसा राज्य बन गया है जिसने COVID-19 महामारी के दौरान इस तरह की योजना को लागू किया है। डिजिटल इंडिया अवार्ड की ‘महामारी में नवाचार’ श्रेणी ऐसी सरकारी संस्था का सम्मान करती है, जिसने संचार, स्वास्थ्य, शिक्षा, यात्रा जैसे क्षेत्रों में महामारी के दौरान नागरिकों को विभिन्न गतिविधियों को आसानी से पूरा करने के लिए उत्कृष्ट, अभिनव और डिजिटल समाधान विकसित किया हो अथवा सरकारी सेवाओं की निरंतरता सुनिश्चित की हो। मध्य प्रदेश प्रवासी श्रमिक पोर्टल और श्रमिक सेवा मोबाइल ऐप ने COVID-19 महामारी के दौरान प्रवासी श्रमिकों और उनके परिवार के सदस्यों की पहचान और पंजीकरण में मदद की। इस पोर्टल द्वारा बनाए गए प्रवासी श्रमिकों के एकीकृत डेटाबेस का उपयोग सरकारी विभागों और जिला प्रशासन द्वारा प्रवासी श्रमिकों के पुनर्वास और कल्याण के लिए किया जा रहा है। रोज़गार सेतु पोर्टल के माध्यम से प्रवासी और अन्य श्रमिकों को उनके कौशल और पूर्व अनुभव के आधार पर उनके अपने गाँव और शहर में रोजगार प्रदान करने का प्रयास किया जा रहा है।

पुरस्कार श्रेणी ‘डिजिटल गवर्नेंस में उत्कृष्टता – जिला’ में जिला प्रशासन की उन उपलब्धियों को पुरस्कृत किया जाता है जिसने नागरिकों को क्षेत्रीय भाषा में व्यापक जानकारी प्रदान करने पर अनुकरणीय ध्यान केंद्रित किया है। खरगोन की जिला वेबसाइट को नागरिक केंद्रित आकांक्षाओं को पूरा करने में प्रामाणिक और विश्वसनीय एकल खिड़की सूचना प्रसार प्रणाली होने के लिए प्लैटिनम पुरस्कार से सम्मानित किया गया है। यह वेबसाइट दिव्यांग-अनुकूल होने के साथ-साथ जिले के महत्वपूर्ण पहलुओं जैसे पर्यटन, कला, संस्कृति, हस्तशिल्प और उपयोगिताओं तक पहुंच को प्रदर्शित करती है। इस वेबसाइट पर सूचना अंग्रेजी और हिंदी दोनों भाषाओं में उपलब्ध है।

छ: श्रेणियों में से 2 मध्यप्रदेश के खाते में

डिजिटल इंडिया अवार्ड डिजिटल-गवर्नेंस में अनुकरणीय पहलों और प्रथाओं को सम्मानित करने के लिए इलेक्ट्रॉनिक्स और सूचना प्रौद्योगिकी मंत्रालय की एक पहल है। 6वें डिजिटल इंडिया अवार्ड्स 2020 की घोषणा छ: श्रेणियों में की गई है - महामारी में नवाचार; डिजिटल गवर्नेंस में उत्कृष्टता- केंद्रीय मंत्रालय/ विभाग; डिजिटल गवर्नेंस में उत्कृष्टता- राज्य/ केंद्रशासित प्रदेश; डिजिटल गवर्नेंस में उत्कृष्टता- जिला; ओपन डेटा चैंपियन; और अनुकरणीय उत्पाद। इन पुरस्कारों के लिए ऑनलाइन नामांकन की प्रक्रिया 23 अक्टूबर से शुरू हुई और एक महीने के लिए जारी रही। इस दौरान 402 नामांकन प्राप्त हुए। नामांकन की शॉर्टलिस्टिंग और रैंकिंग भारतीय प्रौद्योगिकी संस्थान (आईआईटी) दिल्ली द्वारा की गयी। प्रत्येक श्रेणी में शॉर्टलिस्ट किए गए नामांकन की ऑनलाइन प्रस्तुतियों को मंत्रालय सचिव की अध्यक्षता में गठित उच्च स्तरीय जूरी के समक्ष पेश किया गया और उसके बाद अंतिम विजेता का चुनाव हुआ।


सुनीता दुबे
Post a Comment

मुख्यमंत्री श्री चौहान ने फाइकस पांडा का पौधा लगाया
यह युद्ध है, सभी को एकजुट होकर लड़ना होगा
ऑनलाइन माध्यम से करें बिजली बिल का भुगतान
होम आइसोलेशन के मरीजों को मेडिसिन किट वितरण के लिए प्रभारी अधिकारी होंगे नियुक्त
कोरोना प्रोटोकॉल और हाइजीन नियमों का करें पालन- राज्यमंत्री श्री परमार
मंत्री सुश्री ठाकुर ने किया अमर शहीद तात्या टोपे जी को नमन
"धरोहर-भविष्य के परिप्रेक्ष्य में" विषय पर वेबिनार हुआ आयोजित
पिछले तीन दिन में 17 हजार 963 ने जीती कोरोना से जंग
चिकित्सा शिक्षा मंत्री श्री सारंग ने किया एम्स के कोविड सेंटर का निरीक्षण
कोरोना नियंत्रण के लिए सरकार के सहयोगी बने कोरोना वॉलेंटियर्स
राज्यपाल श्रीमती पटेल का भ्रमण कार्यक्रम निरस्त
1