आज के समाचार

पिछला पृष्ठ
.

राज्य मंत्री श्री परमार ने "परिवेदना निवारण प्रबंधन प्रणाली" का शुभारंभ किया

अब ऑनलाइन दर्ज हो सकेंगी शिकायतें  

भोपाल : मंगलवार, दिसम्बर 29, 2020, 18:34 IST

स्कूल शिक्षा राज्यमंत्री (स्वतंत्र प्रभार) श्री इन्दर सिंह परमार ने शिक्षक और विभागीय कर्मचारियों की शिकायत दर्ज करने की ऑनलाइन ' परिवेदना निवारण प्रबंधन प्रणाली' का शुभारंभ किया। श्री परमार ने कहा कि सुशासन की दिशा में यह एक महत्वपूर्ण कदम है। हमारे सभी शिक्षक और कर्मचारी अपनी व्यक्तिगत और विभागीय शिकायतें ऑनलाइन दर्ज कर सकेंगे। उन्हें अब ब्लॉक या जिला कार्यालय में चक्कर नहीं काटने होंगे और न ही किसी अन्य शिकायत पोर्टल पर जाने की आवश्यकता होगी। श्री परमार मंत्रालय में ऑनलाइन वेबिनार के माध्यम से स्कूल शिक्षा विभाग के सभी अधिकारियों शिक्षकों, प्राचार्यों और कर्मचारियों को संबोधित कर रहे थे। 

श्री परमार ने कहा कि विद्यालयों को स्वच्छ और आकर्षक बनाएं। इससे शासकीय शालाओं के प्रति विद्यार्थियों में आकर्षण और शिक्षा प्राप्त करने के लिए ललक उत्पन्न होगी। उन्होंने भोपाल संभाग के विद्यालयों को आकर्षक बनाने की कार्ययोजना और जबलपुर संभाग की पहल ' मेरी शाला मेरी जिम्मेदारी ' के तहत किए गए प्रयासों को सराहा। उन्होंने सभी स्कूलों के शिक्षकों और प्राचार्यों से इस तरह के नवाचार अपनाने की अपील की। 

 स्कूल शिक्षा विभाग द्वारा विकसित प्रणाली में कार्यरत और सेवानिवृत्त शिक्षक या कर्मचारी अपनी सेवा संबंधी शिकायतों को ऑनलाइन दर्ज कर सकेंगे। स्कूल शिक्षा विभाग के पोर्टल www.educationportal.mp.gov.in/grievances पर शिकायत दर्ज की जा सकेगी। शिकायतकर्ता के लिए दर्ज शिकायत की ऑनलाइन ट्रैकिंग की सुविधा उपलब्ध कराई गई है। हर स्तर पर शिकायतों के निराकरण और मॉनिटरिंग करने के लिए नोडल अधिकारी की नियुक्ति की जाएगी। निराकरण करने के पश्चात आदेश को ऑनलाइन अपलोड किया जाएगा। शिकायतों को समयबद्ध और पारदर्शिता से निराकरण किया जाएगा। इससे समय और शासकीय व्यय की बचत होगी तथा विभाग के विरुद्ध न्यायालयीन प्रकरणों में भी कमी आएगी।

कोरोना काल की चुनौतियों को अवसर में बदलने के क्रम में स्कूल शिक्षा विभाग का यह एक महत्वपूर्ण कदम है। शिक्षकों की गुणवत्ता बढ़ाने के लिए यह आवश्यक है कि शिक्षक पूर्ण मनोयोग से शिक्षण कार्य पर ध्यान दे। उनकी समस्याओं को त्वरित और सुलभ तरीके से निराकरण के लिए यह सुविधा प्रारंभ की गई है। 

वेबिनार में प्रमुख सचिव श्रीमती रश्मि अरुण शमी, आयुक्त लोक शिक्षण श्रीमती जयश्री कियावत और संचालक श्री के. के. द्विवेदी सहित अन्य संबंधित अधिकारी उपस्थित थे।


अनुराग उइके
Post a Comment

कोरोना संक्रमण चेन को तोड़ने में सहयोग करें जन-प्रतिनिधि: मुख्यमंत्री श्री चौहान
अस्पतालों में ऑक्सीजन के उपयोग और आपूर्ति की निगरानी करेंगे नोडल अधिकारी - मुख्यमंत्री श्री चौहान
मुख्यमंत्री श्री चौहान ने निवास में आंवले का पौधा रोपा
रेमडेसिविर की कालाबाजारी करने वालों पर रासुका लगायें : मुख्यमंत्री श्री चौहान
मुख्यमंत्री श्री चौहान को मंत्री श्री देवड़ा ने प्रभार के जिलों की स्वास्थ्य सुविधाओं से कराया अवगत
कोविड पीड़ित बिजली कर्मियों को 3 लाख तक चिकित्सा एडवांस की सुविधा
उर्जा मंत्री श्री तोमर ने हाथ जोड़ कर शहर के प्रायवेट अस्पताल संचालकों से मांगा सहयोग
प्रदेश में ऑक्सीजन की कमी नहीं होने दी जायेगी - सहकारिता मंत्री डॉ. भदौरिया
चक्क आगासौद बीना रिफायनरी में 5 मई से शुरू होगा 1000 बिस्तर का अस्थाई अस्पताल
ग्राहक स्वयं को मजबूर नहीं मजबूत समझें - तरूण पिथौड़े
नोवल कोरोना वायरस (COVID-19) मीडिया बुलेटिन
12,572 ग्राम पंचायतों ने स्व-प्रेरणा से लिया जनता कर्फ्यू लगाने का संकल्प
कोरोना योद्धा सेल : बुरहानपुर जिले में नवाचार
सागर ग्रुप के रातीबड़ कैम्पस में 500 बेड का कोविड केयर सेंटर शुरू
जन-सहयोग से इंदौर में निर्मित हुआ प्रदेश का सबसे बड़ा कोविड केयर सेंटर
महिला सुरक्षा के प्रति जागरूकता के लिए रेडियो कार्यक्रम
"योग से निरोग कार्यक्रम होगा शुरू : मुख्यमंत्री करेंगे शुभारंभ
भोपाल में कोविड केयर सेंटर और बिस्तरों में होगी वृद्धि
आयुष मंत्री श्री कावरे ने गोंगलई कोविड-केयर सेंटर का किया निरीक्षण
पृथ्वी दिवस- पर्यावरण मंत्री श्री डंग की अधिक से अधिक पेड़ लगाने की अपील
कोविड संक्रमण की चेन तोड़ने मंत्रीगण को दी गयी कार्यों की जिम्मेदारी
श्री ओ.पी. रावत को लगा कोरोना वैक्सीन का दूसरा डोज
टीकाकरण के विरुद्ध भ्रामक प्रचार करने वालों पर होगी कार्रवाई - पशुपालन मंत्री श्री पटेल
1