आज के समाचार

पिछला पृष्ठ
.

कड़कनाथ कुक्कुट-पालन योजना के लिये 3 करोड़ रुपये स्वीकृत

300 हितग्राहियों को होगा लाभ 

भोपाल : गुरूवार, दिसम्बर 17, 2020, 17:36 IST

केन्द्र शासन ने कड़कनाथ कुक्कुट-पालन योजना के तहत मध्यप्रदेश के झाबुआ, अलीराजपुर, बड़वानी और धार जिलों के लिये 3 करोड़ रुपये की राशि स्वीकृत की है। कड़कनाथ कुक्कुट-पालन के लिये यह राशि इन जिलों की 20 समितियों के 300 सदस्यों को दी जाएगी। प्रत्येक हितग्राही को 28 दिन के नि:शुल्क वैक्सीनेटेड 100 चूजे, दवा, दाना, दाना-पानी बर्तन और प्रशिक्षण दिया जायेगा। पालन-पोषण के लिये हितग्राहियों के निवास पर शासन द्वारा शेड भी निर्मित किया जायेगा।

प्रबंध संचालक कुक्कुट विकास निगम श्री एच.बी.एस. भदौरिया ने बताया कि रोग प्रतिरोधक क्षमता और पौष्टिक गुणों के कारण कड़कनाथ की माँग तेजी से बढ़ी है। समय का लाभ उठाते हुए हितग्राहियों की आय बढ़ाने के साथ ही माँग की आपूर्ति के लिये केन्द्र शासन की मदद से यह योजना आरंभ की गई है। कड़कनाथ में दूसरे मुर्गों के मुकाबले फेट, कैलोरी और कोलेस्ट्राल कम होता है, लेकिन वजन, प्रोटीन, लिनोलिक एसिड अधिक होने के साथ इन्हें संक्रामक बीमारियाँ भी कम होती हैं। दूसरे मुर्गों की अपेक्षा इनका विक्रय भी अधिक दरों पर होता है। इनका शरीर, पंख, खून, माँस सभी काला होता है।

राज्य पशुधन एवं कुक्कुट विकास निगम संबंधित जिलों के उप संचालकों के माध्यम से सभी व्यवस्थाएँ सुनिश्चित करेगा। प्रत्येक कुक्कुट-पालक को चूजों की सुरक्षा और उन्हें उचित तापमान उपलब्ध कराने के लिये रेडीमेड शेड प्रदान किये जायेंगे। कड़कनाथ पालन के लिये प्रशिक्षण सहकारिता विभाग द्वारा आजीविका मिशन के माध्यम से कराया जा चुका है। शुरू में चूजे झाबुआ और इंदौर के कुक्कुट प्रक्षेत्र से प्रदाय किये जायेंगे। वर्ष में 2 बार 6 माह के अंतराल से 50-50 चूजे हितग्राही को दिये जायेंगे। वैक्सीनेटेड 28 दिन के चूजों का वजन 125 ग्राम से 150 ग्राम के बीच होगा। कड़कनाथ का विक्रय पशुधन एवं कुक्कुट विकास निगम के पार्लरों से भी किया जायेगा।

आवंटित राशि में से एक करोड़ 68 लाख 30 हजार रुपये शेड निर्माण पर, एक करोड़ 36 लाख 5 हजार रुपये दाना-पानी बर्तन, तौल मशीन, कम्प्यूटर आदि पर, 2 लाख 20 हजार रुपये समिति सदस्यों के प्रशिक्षण, चूजों (28 दिन के प्रति चूजे की कीमत 75 रुपये), दाना, दवा, वैक्सीन और इन्श्योरेंस पर 85 लाख 5 हजार रुपये, रिटेल आउटलेट स्थापना पर 14 लाख 50 हजार रुपये, मॉनीटरिंग के लिये सॉफ्टवेयर, विश्लेषण आदि के लिये 30 लाख रुपये और अन्य प्रशासनिक व्यवस्थाओं पर 13 लाख 30 हजार रुपये खर्च किये जायेंगे।


सुनीता दुबे
Post a Comment

समय से पूरी की जाएँ सभी सीवरेज परियोजनाएँ
मुख्यमंत्री श्री चौहान ने मंत्रियों से की वन-टू-वन चर्चा
कोरोना मुक्ति में होगी युवाओं की महत्वपूर्ण भूमिका
वैक्सीनेशन जैसा पुनीत कार्य दूसरा नहीं
कोविड-19 की दूसरी लहर पर काबू के बाद अब शत-प्रतिशत वैक्सीनेशन का लक्ष्य
मुख्यमंत्री श्री चौहान ने बादाम का पौधा लगाया
मुख्यमंत्री श्री चौहान ने सर संघ संचालक श्री के.एस. सुदर्शन की जयंती पर किया माल्यार्पण 
मुख्यमंत्री श्री चौहान ने महारानी लक्ष्मी बाई को किया नमन
दतिया में 50 लाख से बनेगी सर्व-सुविधायुक्त आधुनिक सब्जी मण्डी - डॉ. मिश्रा
मुख्यमंत्री कोविड-19 विशेष अनुग्रह योजना क्रियान्वयन के संबंध में निर्देश जारी
आपदा प्रबंधन की तैयारियों के लिये ट्रेनिंग व मॉकड्रिल का आयोजन
मोतीझील फीडर के डिस्ट्रीब्यूशन ट्रांसफार्मर पर लापरवाही के चलते विद्युत कंपनी ने की दो कार्यपालन यंत्री, 3 सहायक यंत्री एवं तीन कनिष्ठ यंत्री पर कार्रवाई
इंदौर जिले का महू बन रहा पूर्णतः स्मार्ट मीटर वाला पहला शहर
किसानों से धोखाधड़ी करने वालों को बख्शा नहीं जायेगा - मंत्री श्री पटेल
कोरोना वैक्सीनेशन महा-अभियान को अपनी भागीदार से सफल बनायें- राज्य मंत्री श्री यादव
योजना के कार्यस्थलों का करें नियमित निरीक्षण
रोजगार गतिविधियों के सृजन से आत्म-निर्भर बनेगा मध्यप्रदेश- लोक निर्माण मंत्री श्री भार्गव
वैक्सीनेशन कराएं और दूसरो को भी प्रेरित करें : राज्य मंत्री श्री परमार
राज्य मंत्री श्री परमार ने स्कूल शिक्षा विभाग की ऑनलाइन अनुकंपा नियुक्ति प्रबंधन प्रणाली का शुभारंभ किया
राज्य आनंद संस्थान ने किया बच्चों के लिए ऑनलाइन आनंद सभा का आयोजन
वैक्सीन से नहीं घबराए वृद्धाश्रम के वृद्ध
नोवल कोरोना वायरस (COVID-19) मीडिया बुलेटिन
गाँव-गाँव जाना है - कोरोना मुक्त बनाना है
वैक्सीनेशन के लिये ग्रामीणों को पीले चावल दिये
कोरोना की रोकथाम के लिये ट्रांसजेंडर्स की अद्भुत पहल
देवास में 102 वर्षीय मिट्ठू बाई ने लगवाया कोरोना का टीका
1