आज के समाचार

पिछला पृष्ठ
.

मंत्री श्री सखलेचा 17 दिसम्बर को लांच करेंगे मध्यप्रदेश की टावर पॉलिसी बुकलेट

 

भोपाल : बुधवार, दिसम्बर 16, 2020, 18:59 IST

मध्‍यप्रदेश के नागरिकों को सुदृढ़, सुरक्षित एवं गुणवत्‍तापूर्ण और निर्बाध दूरसंचार सुविधायें उपलब्‍ध कराने के लिये दूरसंचार अवसंरचना स्‍थापना की आवश्‍यकताओं को ध्‍यान में रखते हुए गुरुवार को विज्ञान एवं प्रौद्योगिकी मंत्री श्री ओमप्रकाश सखलेचा 17 दिसम्बर को दोपहर 12.30 बजे वर्चुअल कार्यक्रम में मध्यप्रदेश की टावर पॉलिसी बुकलेट लांच करेंगे।

विज्ञान एवं प्रौद्योगिकी विभाग की उप सचिव श्रीमती अंजू भदौरिया ने बताया कि दूरसंचार अवसंरचना की प्रक्रिया को सुगम, प्रोत्‍साहित एवं विनियमित करने के लिए विज्ञान एवं प्रौद्योगिकी विभाग, मध्‍यप्रदेश द्वारा “दूरसंचार सेवा,इंटरनेट सेवा, अवसंरचना प्रदाताओं द्वारा वायर लाइन या वायरलेस आधारित वाइस या डाटा पहुँच सेवाएं उपलब्‍ध कराने के लिए अधोसंरचना की स्‍थापना को सुगम बनाने के लिये नीति जारी की गई है।

नीति में किये गये प्रावधान संशोधन

"अवसंरचना" की परिभाषा में Small Cell को शामिल किया गया। इसके अंतर्गत कोई भी ऐसी अवसंरचना जो दूरसंचार तकनीक के Communication/Trans-receiving को ग्रहण करने की क्षमता धारित करता हो, टॉवर की श्रेणी में मान्‍य किये जायेंगे। भविष्‍य में कोई भी ऐसी नई संरचना जो नई तकनीक से निर्मित होगी वो सभी इस परिभाषा में सम्मिलित मानी जायेगी। नई तकनीक से भविष्‍य में निर्मित होने वाली किसी भी अवसंरचना को नीति में जोड़ने की आवश्‍यकता नहीं होगी।

जारी नीति में 4जी नीति के अंतर्गत लायसेन्‍सों के नवीनीकरण के प्रावधान नहीं थे। ऐसी स्थिति में कलेक्‍टर्स, सर्विस प्रोवाइडर्स, द्वारा नवीनीकरण के संबंध में मार्गदर्शन चाहा जा रहा था। नीति- में 4जी नीति के अंतर्गत जारी लाईसेंसों के नवीनीकरण किए जाने का प्रावधान किया गया है। अब समय-सीमा में आवेदनों का निराकरण भी होगा। अधोसंरचना की स्‍थापना के लिए प्राप्‍त आवेदनों के शीघ्र निराकरण के संबंध में समयसीमा में परिवर्तन तथा डीम्‍ड अनुज्ञप्ति का प्रावधान किया गया है जिसके अनुसार शासकीय, स्‍थानीय निकाय की भूमि भवन पर समय-सीमा 45 दिवस में जारी किये जाने का प्रावधान किया गया है। निजी भूमि, भवन में अवसंरचना स्‍थापित करने हेतु आवेदन प्राप्‍त होने की दिनांक से 03 दिवस में पोर्टल के माध्‍यम से अथवा स्‍वत: जारी हो जायेंगे। यह मध्‍यप्रदेश शासन की गुड गवर्नेंस नीति का भी उपयुक्त उदाहरण है।

अनुज्ञप्ति पश्‍चात स्‍थापित अवसंरचना को हटाये जाने के प्रावधान भी नीति में किये गए हैं। अनुज्ञप्ति प्राप्‍त होने के पश्‍चात जिलों में स्‍थापित की गई अवसंरचना को हटाये जाने के कारण सेवा प्रदाता संस्‍थाओं को होने वाली वित्‍तीय हानि तथा उपभोक्‍ताओं की सुविधा को दृष्टिगत रखते हुए सचिव, सूचना प्रौद्योगिकी विभाग की अध्‍यक्षता में गठित राज्‍य स्‍तरीय समिति के अनुमोदन उपरांत दूरसंचार अवसंरचना हटाये जाने का प्रावधान किया गया है।

सेवा प्रदाता द्वारा टावर की अवस्थिति में परिवर्तन करने में खर्चे आदि वहन करने का प्रावधान नहीं होने के कारण अनुज्ञापन प्राधिकारी के निर्देर्शों का पालन करने के साथ ही अवसंरचना की अवस्थिति में परिवर्तन के सम्‍पूर्ण खर्चे आवेदक द्वारा वहन करना होगा। इस हेतु कोई क्षतिपूर्ति नहीं दी जायेगी।

अनुज्ञप्ति दिये जाने, नवीनीकरण संबंधी आवेदन निर्धारित प्रारूपों में भूमि/भवन के ब्‍यौरे की जानकारी में खसरा नम्‍बर प्राप्‍त किये जाने का प्रावधान था। नगरीय क्षेत्रों में अवसंरचना के लिए उपयोग में लायी जाने वाली भूमि/भवन का खसरा नम्‍बर उपलब्‍ध नहीं होने से आवेदन का निराकरण लंबित रहता है। इसके दृष्टिगत नगरीय क्षेत्र की भूमि/भवन जिसका खसरा नम्‍बर उपलब्‍ध न हो वहाँ भूमि/भवन के अक्षांश/देशांश, वार्ड नं. तथा स्‍थानीय पते की जानकारी के आधार पर आवेदन का निराकरण किये जाने हेतु पूर्व निर्धारित आवेदन प्रारूपों को संशोधित किया गया है।

विकिरण नियंत्रण के लिए दूरसंचार विभाग अथवा भारत सरकार के सक्षम प्राधिकारी द्वारा नियत किए गए विकिरण उत्सर्जन मानकों का सख्ती से पालन तथा विकिरण उत्‍सर्जन के संबंध में आवश्‍यक अनापत्ति दूरसंचार विभाग, भारत सरकार से प्राप्‍त करने का दायित्‍व आवेदक कम्‍पनी का होगा।

भारत सरकार द्वारा सराहना

सेवा प्रदाताओं की सुविधाओं एवं कार्य-सुविधा की दृष्टि से मध्‍यप्रदेश में टॉवर पोर्टल को विकसित कर नोटिफाइड किया गया है जिसकी भारत सरकार द्वारा आइडियल मॉडल के रूप में सराहना की गई है।


राजेश बैन
Post a Comment

मुख्यमंत्री श्री शिवराज सिंह चौहान की केन्द्रीय स्वास्थ्य एवं परिवार कल्याण मंत्री से मुलाकात
मुख्यमंत्री श्री चौहान की केन्द्रीय रक्षा मंत्री श्री राजनाथ सिंह से मुलाकात
मुख्यमंत्री श्री चौहान की केन्द्रीय भूतल परिवहन मंत्री श्री नितिन गड़करी से मुलाकात
मुख्यमंत्री श्री शिवराज सिंह चौहान की केन्द्रीय गृह मंत्री श्री अमित शाह से मुलाकात
मुख्यमंत्री श्री चौहान, गृह मंत्री के निवास पर मकर संक्रांति कार्यक्रम में शामिल हुए
मुख्यमंत्री श्री चौहान "संबल हितग्राहियों" को 224 करोड़ वितरित करेंगे
मुख्यमंत्री श्री चौहान से मिला संस्कृत भारती मध्यप्रदेश का प्रतिनिधिमंडल
मुख्यमंत्री श्री चौहान की केन्द्रीय वन एवं पर्यावरण मंत्री श्री प्रकाश जावडे़कर से मुलाकात
मंत्रालय में ई-ऑफिस प्रणाली को क्रियान्वित करें - राज्य मंत्री श्री परमार
मंत्री डॉ. मिश्रा के निवास पर संक्रांति मिलन समारोह आयोजित
केन्द्रीय मंत्री श्री प्रधान ने प्राथमिक स्कूल भवन और बॉयो गैस संयंत्र का किया लोकार्पण
पुलिसकर्मियों को मिलेगा साप्ताहिक अवकाश
केन्द्रीय वित्त पोषित योजनाओं में मिलने वाले सहायक अनुदान को बढ़ाया जाये
25 जनवरी से होगी जूनियर राष्ट्रीय एथलेटिक प्रतियोगिता
वन मंत्री ने विंध्य हर्बल्स उत्पादों के ऑनलाइन विक्रय का किया लोकार्पण
ऊर्जा मंत्री श्री प्रद्युम्न सिंह तोमर ने किया सुंदर नगर भानपुर जोन का औचक निरीक्षण
हर घर में जले बल्ब, यही है हमारा लक्ष्य :ऊर्जा मंत्री श्री तोमर
बैतूल के ग्राम बांचा में सौर ऊर्जा से रसोई गैस बनाने का प्रकल्प लोकार्पित
ग्रामीण जल-प्रदाय के लिये भारत सरकार से मिलेंगे अतिरिक्त 26 करोड़
सफाई संरक्षकों का वेतन एक तारीख को देने के निर्देश
सड़क निर्माण में घटिया डामर का उपयोग करने पर होगी एफआईआर - मंत्री श्री भार्गव
14 वीं विज्ञान मंथन यात्रा आरंभ, पांच कक्षाओं के 1051
अनुसूचित-जाति के छात्रावासों में रहने वाले विद्यार्थियों की शिष्यवृत्ति में वृद्धि
खाद्य मंत्री श्री सिंह अनूपपुर, अमरकंटक प्रवास पर जायेंगे
50 करोड़ की राशि से होगा अमरकंटक में माँ नर्मदा तट का सौन्दर्यीकरण मंत्री श्री सिंह
नोवल कोरोना वायरस (COVID-19) मीडिया बुलेटिन
स्वास्थ्य सुविधाओं के विस्तार की जानकारी आम जनता तक पहुँचाएँ
महाविद्यालयों के विकास के लिये दान देने वाले होंगे सम्मानित : उच्च शिक्षा मंत्री डॉ. यादव
राज्य मंत्री स्वतंत्र प्रभार श्री कुशवाह ने पंडित रामनारायण तिवारी के
आयुष राज्यमंत्री श्री कावरे ने की विभागीय समीक्षा
स्कूलों की छतों पर लगेगा सोलर रूफटॉप
मुख्यमंत्री श्री चौहान द्वारा शोक व्यक्त
बर्ड फ्लू की जद में आये प्रदेश के 32 जिले
निर्माण श्रमिकों के पंजीयन का अभियान 31 मार्च तक
1