आज के समाचार

पिछला पृष्ठ
.

No one in state will be able to force religious conversion through allurement and intimidation

Madhya Pradesh government will bring “Madhya Pradesh Religious Freedom Act 2020”
Chief Minister Shri Chouhan chairs meeting
 

भोपाल : शनिवार, दिसम्बर 5, 2020, 21:42 IST

Chief Minister Shri Shivraj Singh Chouhan has said that no person in the state will be able to convert anyone from one religion to another directly or otherwise through marriage or any other fraudulent means by seducing or intimidating anyone. Strict action will be taken against the person making such an attempt. The Madhya Pradesh government is going to bring about “Madhya Pradesh Religious Freedom Act 2020” in this connection.

Chief Minister Shri Chouhan was holding a discussion on the format of Religious Freedom Act - 2020 at a meeting of high level officials in Mantralaya today. Chief Secretary Shri Iqbal Singh Bains, Additional Chief Secretary Home Dr. Rajesh Rajaura, Principal Secretary Law etc. were present in the meeting.

Self, parents or blood relatives can file complaint

Under the proposed Act, if any person attempts religious conversion, the affected person or parents or blood relatives will be able to file a complaint. The offense shall be cognizable, non-bailable and can be taken up by the Sessions Court. A police officer below the rank of Sub Inspector of Police will not be able to investigate the case. The accused will be liable to prove that the conversion has not been done.

Marriage with the intention of conversion will be considered null and void

Marriage conducted with the intention of conversion will be considered null and void. For this provision, application has to be made to the Family Court or jurisdiction of Family Court.

Provisions of punishment

Any person violating Section 03 of the Act will face imprisonment of one to five years and a fine of not less than Rs 25 thousand. In the case of minors, females, SC, ST, two to 10 years imprisonment and at least Rs 50 thousand fine has been proposed. Similarly, attempt to hide one’s religion will be punishable by imprisonment of three to 10 years and a fine of at least Rs 50 thousand. Provision for imprisonment of five to 10 years and fine of at least Rs. one lakh is being made for attempting mass religious conversion (of two or more persons).

What Section-3 states

Under Section 3 of the proposed “Madhya Pradesh Religious Freedom Act”, no person can convert or attempt to convert either directly or otherwise any other person from one religion to another by use or practice of misrepresentation, force, undue influence, coercion, allurement or by any fraudulent means or by marriage. No person can attempt to abet or conspire religious conversion.

Declaration before religious conversion

According to the proposed Act, in the event of religious conversion of one’s free will, it will be binding on the concerned person, priest or person who intends to conduct a conversion, to give a letter of declaration /letter of information to the District Magistrate of the district where the conversion is to take place.


Pankaj Mittal
Post a Comment

मुख्यमंत्री श्री शिवराज सिंह चौहान की केन्द्रीय स्वास्थ्य एवं परिवार कल्याण मंत्री से मुलाकात
मुख्यमंत्री श्री चौहान की केन्द्रीय रक्षा मंत्री श्री राजनाथ सिंह से मुलाकात
मुख्यमंत्री श्री चौहान की केन्द्रीय भूतल परिवहन मंत्री श्री नितिन गड़करी से मुलाकात
मुख्यमंत्री श्री शिवराज सिंह चौहान की केन्द्रीय गृह मंत्री श्री अमित शाह से मुलाकात
मुख्यमंत्री श्री चौहान, गृह मंत्री के निवास पर मकर संक्रांति कार्यक्रम में शामिल हुए
मुख्यमंत्री श्री चौहान "संबल हितग्राहियों" को 224 करोड़ वितरित करेंगे
मुख्यमंत्री श्री चौहान से मिला संस्कृत भारती मध्यप्रदेश का प्रतिनिधिमंडल
मुख्यमंत्री श्री चौहान की केन्द्रीय वन एवं पर्यावरण मंत्री श्री प्रकाश जावडे़कर से मुलाकात
मंत्रालय में ई-ऑफिस प्रणाली को क्रियान्वित करें - राज्य मंत्री श्री परमार
मंत्री डॉ. मिश्रा के निवास पर संक्रांति मिलन समारोह आयोजित
केन्द्रीय मंत्री श्री प्रधान ने प्राथमिक स्कूल भवन और बॉयो गैस संयंत्र का किया लोकार्पण
पुलिसकर्मियों को मिलेगा साप्ताहिक अवकाश
केन्द्रीय वित्त पोषित योजनाओं में मिलने वाले सहायक अनुदान को बढ़ाया जाये
25 जनवरी से होगी जूनियर राष्ट्रीय एथलेटिक प्रतियोगिता
वन मंत्री ने विंध्य हर्बल्स उत्पादों के ऑनलाइन विक्रय का किया लोकार्पण
ऊर्जा मंत्री श्री प्रद्युम्न सिंह तोमर ने किया सुंदर नगर भानपुर जोन का औचक निरीक्षण
हर घर में जले बल्ब, यही है हमारा लक्ष्य :ऊर्जा मंत्री श्री तोमर
बैतूल के ग्राम बांचा में सौर ऊर्जा से रसोई गैस बनाने का प्रकल्प लोकार्पित
ग्रामीण जल-प्रदाय के लिये भारत सरकार से मिलेंगे अतिरिक्त 26 करोड़
सफाई संरक्षकों का वेतन एक तारीख को देने के निर्देश
सड़क निर्माण में घटिया डामर का उपयोग करने पर होगी एफआईआर - मंत्री श्री भार्गव
14 वीं विज्ञान मंथन यात्रा आरंभ, पांच कक्षाओं के 1051
अनुसूचित-जाति के छात्रावासों में रहने वाले विद्यार्थियों की शिष्यवृत्ति में वृद्धि
खाद्य मंत्री श्री सिंह अनूपपुर, अमरकंटक प्रवास पर जायेंगे
50 करोड़ की राशि से होगा अमरकंटक में माँ नर्मदा तट का सौन्दर्यीकरण मंत्री श्री सिंह
नोवल कोरोना वायरस (COVID-19) मीडिया बुलेटिन
स्वास्थ्य सुविधाओं के विस्तार की जानकारी आम जनता तक पहुँचाएँ
महाविद्यालयों के विकास के लिये दान देने वाले होंगे सम्मानित : उच्च शिक्षा मंत्री डॉ. यादव
राज्य मंत्री स्वतंत्र प्रभार श्री कुशवाह ने पंडित रामनारायण तिवारी के
आयुष राज्यमंत्री श्री कावरे ने की विभागीय समीक्षा
स्कूलों की छतों पर लगेगा सोलर रूफटॉप
मुख्यमंत्री श्री चौहान द्वारा शोक व्यक्त
बर्ड फ्लू की जद में आये प्रदेश के 32 जिले
निर्माण श्रमिकों के पंजीयन का अभियान 31 मार्च तक
1