आज के समाचार

पिछला पृष्ठ
.

अब 1.50 रु. के स्थान पर 50 पैसे होगा मंडी शुल्क

14 नवंबर 2020 से आगामी 3 माह के लिए लागू होगी यह छूट
मुख्यमंत्री श्री चौहान ने उच्चस्तरीय बैठक में लिया निर्णय
 

भोपाल : गुरूवार, नवम्बर 26, 2020, 17:22 IST

मुख्यमंत्री श्री शिवराज सिंह चौहान ने कहा है कि मध्य प्रदेश की कृषि उपज मंडियों में व्यापारियों से लिए जाने वाले मंडी शुल्क की राशि अब 1.50 रु. के स्थान पर 50 पैसे प्रति 100 रु. होगी। यह छूट 14 नवंबर 2020 से आगामी 3 माह के लिए रहेगी। मध्य प्रदेश सरकार ने गत दिनों व्यापारियों से इस संबंध में किए गए वादे को पूरा कर दिया है। व्यापारियों द्वारा मुख्यमंत्री श्री चौहान को आश्वस्त किया गया था कि इससे मंडियों की आय में कमी नहीं होगी। 3 महीने बाद इस छूट के परिणामों का अध्ययन कर आगे के लिए निर्णय लिया जाएगा।

मुख्यमंत्री श्री चौहान आज इस संबंध में विभाग की उच्च स्तरीय बैठक ले रहे थे। बैठक में मुख्य सचिव श्री इकबाल सिंह बैंस, प्रमुख सचिव श्री अजीत केसरी, प्रमुख सचिव श्री मनोज गोविल तथा संबंधित अधिकारी उपस्थित थे।

गत वर्ष मंडियों को हुई थी 12 सौ करोड़ रुपए की आय

वर्ष 2019-20 में प्रदेश की कृषि उपज मंडी समितियों को मंडी फीस एवं अन्य स्रोतों से कुल 12 सौ करोड रुपए की आय हुई थी। मंडी बोर्ड में लगभग 4200 तथा मंडी समिति सेवा में लगभग 29 सौ अधिकारी-कर्मचारी कार्यरत हैं तथा लगभग 2970 सेवानिवृत्त अधिकारी- कर्मचारी हैं। इनके वेतन भत्तों पर गत वर्ष 677 करोड रुपए का व्यय हुआ था।

आगे भी लागू रह सकती है छूट

व्यापारियों के आश्वासन पर मंडी शुल्क में छूट दी गई है। छूट की अवधि में यदि मंडियों को प्राप्त आय से मंडियों के संचालन, उनके रखरखाव एवं कर्मचारियों के वेतन भत्तों की व्यवस्था सुनिश्चित करने में कठिनाई नहीं होती है, तो राज्य शासन द्वारा इस छूट को आगे भी जारी रखा जा सकता है।


पंकज मित्तल
Post a Comment

मुख्यमंत्री श्री चौहान युवाओं और नियोक्ताओं से करेंगे संवाद
विभागों के श्रेष्ठ कार्यों और नवाचारों की जानकारी सामने आए
ऊर्जा विभाग के कार्य सराहनीय : मुख्यमंत्री श्री चौहान
मुख्यमंत्री श्री चौहान ने पूर्व मंत्री श्री सुरेन्द्र पटवा को जन्मदिन की बधाई दी
वन विभाग का माफियाओं के विरुद्ध अभियान
मालवा- निमाड़ में बिजली की सात फीसदी ज्यादा आपूर्ति
नागपुर और इलाहाबाद में दिखेगी प्रदेश के शिल्प की झलक
मुख्यमंत्री श्री चौहान ने समाजसेवी स्व. श्री विश्वामित्र शर्मा को श्रद्धांजलि दी
बर्ड फ्लू से अप्रभावित जिले सतर्कता बढ़ाएँ : पशुपालन मंत्री श्री पटेल
उच्च नस्ल सुधार से प्रदेश में बढ़ा दुग्ध उत्पादन
1