आज के समाचार

पिछला पृष्ठ
.

Shivraj condemns Amarinder in Basmati GI tagging case

Chief Minister Shri Chouhan writes to Prime Minister 

भोपाल : गुरूवार, अगस्त 6, 2020, 14:47 IST

Madhya Pradesh Chief Minister Shri Shivraj Singh Chouhan today condemned Punjab Chief Minister Captain Amarinder Singh for writing a letter to Prime Minister Narendra Modi regarding the efforts to get Madhya Pradesh’s famous Basmati rice a Geographical Indication Tag (GI tagging) and said that this move is inspired by politics.

Chief Minister Shri Chouhan has said that, ‘I condemn the letter written to the Prime Minister by the Congress government of Punjab in the matter of GI tagging of Basmati rice of Madhya Pradesh and consider it politically inspired. I wish to question the Chief Minister of Punjab, Captain Amarinder Singh, as to what hostility he has with the farmers of Madhya Pradesh? It is not a matter of Madhya Pradesh or Punjab, it is a matter of farmers of the entire country and their livelihood.

Chief Minister Shri Shivraj Singh Chouhan has written a letter in this context to Prime Minister Shri Narendra Modi. Referring to the historical connection of Basmati rice of Madhya Pradesh, he urged him to grant GI status to the state’s Basmati rice to encourage farmers and basmati rice based industries.

Amidst efforts of the state to get GI tag for the famous basmati rice exported by Madhya Pradesh, the Chief Minister of Punjab wrote a letter to Prime Minister Narendra Modi yesterday and sought his intervention in this regard. The letter claimed that this would affect the interests of Punjab and other states whose basmati rice already has a ‘GI tag’. The letter also said that Pakistan could also benefit if this happens.

Chief Minister Shri Chouhan has said that the case of Agriculture and Processed Food Products Export Development Authority (APEDA) with Pakistan has no connection with the claims of Madhya Pradesh. Because it comes under the GI Act of India and has no connection with the claims of basmati rice within the country. Basmati exporters of Punjab and Haryana are buying basmati rice from Madhya Pradesh. The central government’s export data confirms this. The central government has been supplying ‘Breeder seed’ of basmati rice to Madhya Pradesh since the year 1999.

Chief Minister Shri Chouhan said that it is recorded in the then ‘Scindia State’ records that in the year 1944, seeds were suplied to the farmers of the state. The Indian Institute of Rice Research, Hyderabad has recorded in its ‘Production Oriented Survey Report’ that basmati rice is being produced in Madhya Pradesh since the last 25 years. GI tagging to Madhya Pradesh will stabilize the prices of India’s basmati rice in the international markets and boost the country’s export. Chief Minister Shri Chouhan told that Basmati is being produced in 13 districts of Madhya Pradesh since the year 1908 and has been registered in history. Basmati rice of Madhya Pradesh is considered very tasty and is famous both in the country and abroad for its flavours and fragrance.

Chief Minister Shri Chouhan informed that, IIRR, Hyderabad and other specialist institutions have confirmed reports in connection with the traditional cultivation of basmati in Madhya Pradesh. A copy of this report has been sent separately to the Union Agriculture Minister in this context. A high-level committee has been constituted to examine the representation given for providing GI facility to Basmati rice produced in the state and the matter is still pending for disposal with the committee.


Pankaj Mittal
Post a Comment

बजट में कोई नया कर नहीं : मुख्यमंत्री श्री चौहान
2021-22 का बजट जनता का बजट है : मुख्यमंत्री श्री चौहान
वर्ष 2021-22 का बजट प्रगति पथ पर ले जाना वाला बजट
मुख्यमंत्री श्री चौहान ने स्व. श्री नंदकुमार सिंह चौहान की स्मृति में पौधा रोपा
मुख्यमंत्री श्री चौहान द्वारा सांसद श्री नंदकुमार सिंह चौहान के निधन पर शोक व्यक्त
वित्त मंत्री श्री देवड़ा ने श्री नन्दकुमार सिंह चौहान के निधन पर गहरा शोक व्यक्त किया
कर्मठ जन-प्रतिनिधि और मध्यप्रदेश की माटी के सच्चे सपूत थे श्री नन्दकुमार सिंह चौहान
आत्म-निर्भर मध्यप्रदेश के निर्माण पर केंद्रित है बजट
बजट में किये गये प्रावधानों से वनवासियों की बढ़ेगी आय : वन मंत्री कुंवर शाह
वनमंत्री श्री शाह द्वारा सांसद श्री नंदकुमार सिंह चौहान के निधन पर शोक व्यक्त
मंत्री श्री राजवर्धन सिंह द्वारा शोक व्यक्त किया
ऊर्जा मंत्री श्री तोमर ने सांसद श्री चौहान के निधन पर शोक व्यक्त किया
बजट प्रावधानों से होगा बिजली क्षेत्र में सुधार - ऊर्जा मंत्री श्री तोमर
नंदू भैया ने समाज के लिए जीवन समर्पित किया : मंत्री श्री पटेल
बीमा पोर्टल 10 मार्च तक खुला रहेगा : मंत्री श्री पटेल
चने की खरीद के लिए पंजीयन अब पाँच मार्च तक
कृषि मंत्री श्री पटेल के प्रयासों से हरदा और खिरकिया को मिली सौगात
किसानों को आत्म-निर्भर बनाएगा बजट - मंत्री श्री पटेल
रबी उपार्जन के लिए किसानों का पंजीयन अब 5 मार्च तक
डॉ. अरविन्द भदौरिया ने सांसद श्री चौहान के निधन पर शोक व्यक्त किया
श्री नंदकुमार सिंह चौहान मृदुभाषी और जनप्रिय राजनेता थे: राज्यमंत्री श्री यादव
प्रदेश का बजट आत्म-निर्भर मध्यप्रदेश की अवधारणा को मूर्तरूप देने वाला है : राज्यमंत्री श्री यादव
बजट में किये प्रावधानों से होगा नगरों का सर्वांगीण विकास-नगरीय विकास मंत्री श्री भूपेन्द्र सिंह
नगरीय विकास मंत्री श्री सिंह ने सांसद श्री चौहान के निधन पर शोक व्यक्त किया
लोक निर्माण मंत्री श्री भार्गव की पहल पर सागर कोमिली 161 करोड़ रूपये की सौगात
लोकनिर्माण मंत्री श्री भार्गव द्वारा श्री चौहान के निधन पर शोक व्यक्त
समाज के हर वर्ग का बजट : लोक निर्माण राज्यमंत्री श्री धाकड़
प्रदेश के विकास में प्रतिबद्धता दर्शाने वाला बजट : लोक निर्माण मंत्री श्री भार्गव
गरीबों, किसानों और विद्यार्थियों के लिए समर्पित बजट- राज्य मंत्री श्री परमार
राज्य मंत्री श्री परमार ने सांसद श्री चौहान के निधन पर शोक व्यक्त किया
पंचायत मंत्री श्री सिसोदिया द्वारा श्री नंदकुमार सिंह चौहान के निधन पर दु:ख व्यक्त
सर्वश्रेष्ठ और मध्यप्रदेश का सर्वांगीण विकास करने वाला बजट - मंत्री सुश्री ठाकुर
मंत्री सुश्री ठाकुर ने सांसद श्री चौहान के निधन पर शोक व्यक्त किया
जल संसाधन मंत्री जी सिलावट बुधवार को बुरहानपुर जाएंगे
सिंचाई सुविधाओं में वृद्धि से किसानों को उत्पादन दोगुना करने में मदद मिलेगी : जल संसाधन मंत्री श्री सिलावट
सांसद श्री चौहान राजनीति में संत हृदय वाले अदभुत व्यक्ति थे: जलसंसाधन मंत्री श्री सिलावट
बजट में स्वास्थ्य और मूलभूत सुविधाओं पर पर्याप्त ध्यान रखा गया: मंत्री डॉ. चौधरी
नोवल कोरोना वायरस (COVID-19) मीडिया बुलेटिन
राष्ट्रीय शिक्षा नीति लागू करने वाला मध्यप्रदेश पहला राज्य होगा- उच्च शिक्षा मंत्री डॉ. यादव
संतुलित और परिपूर्ण बजट : चिकित्सा शिक्षा मंत्री श्री सारंग
1 2