आज के समाचार

पिछला पृष्ठ
.

गाँव वापस आये श्रमिकों ने कहा सरकार ने की हमारी चिन्ता

गाँव में ही मिल रहा रोजगार  

भोपाल : मंगलवार, जून 9, 2020, 16:40 IST

कोरोना संक्रमण काल में विभिन्न शहरों से अपने गाँव वापस आये श्रमिकों के लिए रोजगार की समस्या का निदान किया मनरेगा योजना ने। ऐसे बहुत से श्रमिक जो अपने गाँव तो वापस आ गये, किन्तु घर-परिवार चलाने की समस्या उनके लिये किसी चुनौती से कम नहीं था। ऐसे श्रमिक परिवारों के लिये शासन ने मनरेगा योजना के तहत बड़ी संख्या में कार्य प्रारंभ किये। इन कार्यों के प्रारंभ होने से स्थानीय ग्रामीणों और प्रवासी श्रमिकों को रोजगार मुहैया हुआ है। राज्य सरकार ने मनरेगा में जल संरक्षण के तहत तालाब गहरीकरण, नदी, नालों सहित अन्य जल स्त्रोतों के संरक्षण कार्य के एवं गाँव में आधारभूत संरचनाओं के निर्माण से जुड़े कार्यों को शुरू कर श्रमिकों को गाँव में रोजगार उपलब्ध करवाया है। गाँव में रोजगार पाकर श्रमिक कहते हैं कि मुख्यमंत्री श्री शिवराज सिंह चौहान को हमारी चिन्ता है।

रायसेन जिले के साँची जनपद के शाहपुर ग्राम निवासी कल्लू और मोहम्मद हनीफ गाँव में रोजगार पाकर बहुत खुश है। कल्लू ने बताया कि कोरोना वायरस के कारण 25 मार्च 2020 को लॉकडाउन घोषित किया गया। लॉकडाउन की घोषणा के साथ ही सारे काम धंधे बंद हो गये। कल्लू भोपाल में काम कर रहा था। दो-तीन दिन बाद वापस अपने गाँव शाहपुर आ गया। गाँव आने पर उसके पास कोई ऐसा काम नहीं था। परिवार का भरण-पोषण कैसे करेगा। यह बहुत बड़ी समस्या थी। जीवन दूभर लगने लगा था। कल्लू ने बताया कि सरकार ने मनरेगा में जल संरक्षण का काम शुरू किया । इससे बहुत बड़ी मदद मिली है। कल्लू ने कहा कि कठिन समय में मिले इस काम ने हमारे जीने की राह आसान की है।

शाहपुर गाँव में ही मनरेगा में सोखता गड्डों का निर्माण कराया जा रहा है। कार्य प्रारंभ होने से गाँव में लगभग 70 प्रवासी श्रमिकों तथा ग्रामवासियों को रोजगार मिल रहा है। मोहम्मद हनीफ लॉकडाउन में पहले छतरपुर में काम करते थे। लॉकडाउन के कारण काम बंद होने से उनके सामने रोजगार का संकट होने के कारण वह गाँव वापस लौट आए। सरकार ने के तहत गाँव में ही रोजगार उपलब्ध कराया गया है। उन्होंने बताया कि मनरेगा के तहत गाँव में ही रोजगार मिलने से वह आर्थिक चिंता से मुक्त हो गए हैं। स्वयं को सुरक्षित भी महसूस कर रहे हैं। हनीफ सहित अन्य श्रमिकों ने गाँव में रोजगार देने के लिए मुख्यमंत्री श्री शिवराज सिंह चौहान का आभार माना है। मोहम्मद हनीफ कहते है कि मुख्यमंत्री श्री चौहान बहुत संवेदनशील हैं। कठिन समय में उन्होंने कमजोर वर्ग की चिंता की है। गाँव में ही रोजगार उपलब्ध कराकर मुख्यमंत्री ने हमारी बहुत बड़ी समस्या दूर कर दी है।


ओगारे/ महेश दुबे
Post a Comment

राष्ट्रपति श्री रामनाथ कोविंद 6-7 मार्च को प्रदेश के प्रवास पर
राष्ट्रपति श्री रामनाथ कोविन्द 7 मार्च को दमोह के सिंग्रामपुर में जनजातीय सम्मेलन में भाग लेंगे
मुख्यमंत्री श्री चौहान को मिलीं जन्म वर्षगाँठ पर बधाईयाँ
भोपाल का वन विहार है अनूठा : मुख्यमंत्री श्री चौहान
नारी तू नारायणी
कोरोना के प्रकरणों में कमी नहीं आई तो भोपाल-इंदौर में 8 मार्च से रात्रि कर्फ्यू - मुख्यमंत्री श्री चौहान
शिक्षा का उद्देश्य है ज्ञान, कौशल और नागरिकता के संस्कार देना : मुख्यमंत्री श्री चौहान
पेड़ लगाना पृथ्वी को बचाने का अभियान : मुख्यमंत्री श्री चौहान
श्री सुरेन्द्र सिंह राजपूत होंगे भू-संपदा विनियामक प्राधिकरण के सदस्य
ऊर्जा मंत्री श्री तोमर करेंगे विभिन्न वार्डों का साइकिल से भ्रमण
केन्द्रीय कृषि मंत्री श्री तोमर का श्री पटेल द्वारा आभार व्यक्त
मुख्यमंत्री को पारिजात का पौधा किया भेंट, कदम और तुलसी के पौधे लगाये
सहकारिता एवं लोक-सेवा प्रबंधन मंत्री डॉ. भदौरिया ने लगाया आम का पौधा
निर्माण कार्य की गुणवत्ता से समझौता नहीं होगा- लोक निर्माण मंत्री श्री भार्गव
मुख्यमंत्री द्वारा भेंट पौधा राज्यमंत्री श्री परमार ने रोपा
मुख्यमंत्री श्री चौहान के जन्म-दिन पर खाद्य मंत्री श्री सिंह ने लगाया नीम का पौधा
जलसंसाधन मंत्री श्री तुलसीराम सिलावट ने रोपा पौधा
नोवल कोरोना वायरस (COVID-19) मीडिया बुलेटिन
स्वास्थ्य मंत्री डॉ. चौधरी 6 मार्च को रायसेन जिले के दौरे पर
नरेला विधानसभा में आज भी चला विशेष सफाई अभियान
फूड प्रोसेसिंग यूनिट स्थापित करने के लिये उद्यमी आगे आएँ, सरकार हर संभव मदद करेगी : केन्द्रीय मंत्री श्री तोमर
राज्यमंत्री स्वतंत्र प्रभार श्री कुशवाह ने ग्वालियर में 178 लाख के 21 विकास कार्यों का भूमि-पूजन और लोकार्पण किया
मंत्री श्री सिंह और राज्यमंत्री श्री कांवरे "मिनिस्टर इन वेटिंग" नामित
शहीद लक्ष्मीकांत द्विवेदी के परिवार को मध्यप्रदेश सरकार एक करोड़ रूपये, एक मकान तथा परिवार के एक सदस्य को नौकरी देगी
राज्य निर्वाचन आयुक्त श्री सिंह 6 मार्च को करेंगे कलेक्टर्स से चर्चा
पशुपालन मंत्री श्री पटेल ने वृद्धाश्रम में मनाया सी.एम. का जन्म-दिन
1