आज के समाचार

पिछला पृष्ठ
.

कोविड-19 के भय को दूर करने आगे आयें विश्वविद्यालय

नवाचारों और स्वदेशी का बन रहा वातावरण
प्रदेश में आत्म निर्भर स्वायत्त विश्वविद्यालय का नया दौर : श्री टंडन
राज्यपाल द्वारा विश्वविद्यालय परीक्षाओं की समीक्षा
 

भोपाल : शनिवार, जून 6, 2020, 17:13 IST

राज्यपाल श्री लाल जी टंडन ने कहा है कि प्रदेश में आत्म निर्भर और स्वायत्त विश्वविद्यालय का नया दौर प्रारम्भ हो रहा है। व्यवस्था को मजबूत और सफल बनाने का दायित्व कुलपतियों का है। सर्वोच्च प्राथमिकता अनुशासित, बाधा रहित, भयमुक्त और गाइड लाइंस के अनुसार परीक्षा संचालन को दी जाय। श्री टंडन राजभवन में आयोजित शासकीय विश्वविद्यालयों के कुलपतियों की समीक्षा बैठक को सम्बोधित कर रहे थे। बैठक में प्रमुख सचिव उच्च शिक्षा श्री अनुपम राजन, राज्यपाल के सचिव श्री मनोहर दुबे, आयुक्त उच्च शिक्षा श्री मुकेश शुक्ला मौजूद थे। 

राज्यपाल श्री टंडन ने कहा कि कोविड-19 की चुनौती कठिन दौर है। लेकिन यह नये भारत के निर्माण का अवसर भी है। स्वदेशी नवाचारों के लिए नया वातावरण बना है। शोध, अनुसंधान और नये-नये प्रयोगों के लिए वातावरण निर्माण में विश्वविद्यालय सहयोग करें। कोविड-19 के भय को खत्म करने विश्वविद्यालय आगे आयें। स्वदेशी और आत्मनिर्भरता की चेतना को प्रोत्साहन दें। नये स्टार्टअप स्थापना में सहयोग करें। इनके लिए भरपूर राशि उपलब्ध है। उन्होंने कहा कि संकट के इस दौर में विश्वविद्यालयों में नई सकारात्मकता और ऊर्जा का संचार हुआ है। एकीकृत विश्वविद्यालय प्रबंधन सॉफ्टवेयर और एकीकृत डिजिटल प्लेटफार्म निर्माण के लिए सभी बधाई के पात्र हैं। कोविड-19 के संबंध में जन जागृति के लिए विश्वविद्यालयों द्वारा संदेश प्रसारण का जो कार्य किया है, वह सराहनीय है। प्रदेश के विश्वविद्यालयों द्वारा किए गए कार्य देश-प्रदेश की उच्च शिक्षा के क्षेत्र में मार्गदर्शक होंगे। 

प्रमुख सचिव उच्च शिक्षा श्री अनुपम राजन ने कहा कि परीक्षा संचालन व्यवस्थाओं में सेनिटाइजेशन और सोशल डिस्टेंसिंग का विशेष ध्यान रखा जाये। सामाजिक दूरी सुनिश्चित करने के लिए परीक्षा केन्द्रों की संख्या अथवा क्षमता को बढ़ाकर नियोजित किया जाना चाहिए। परीक्षा संचालन के दौरान परीक्षा केन्द्र में आगमन से लेकर परीक्षा समाप्ति बाद वापस जाने तक की समस्त व्यवस्थाओं का स्टैंडर्ड ऑपरेटिंग प्रोसीजर बना लिया जाये। तीन पालियों में परीक्षा संचालन को भी परीक्षा अवधि को कम करने अथवा दो पालियों के अंतराल में सेनिटाइजेशन और सोशल डिस्टेंसिंग की समस्त व्यवस्थाएं पूर्ण करने की आवश्यक व्यवस्थाओं की सभी संभावनाओं पर विचार कर एस.ओ.पी. का निर्माण किया जाए। यह प्रयास किया जाये कि छात्र-छात्राओं को कम से कम यात्रा करनी पड़े। बच्चों की सुरक्षा पर विशेष ध्यान दिया जाये। दूरस्थ क्षेत्र एवं अन्य कारणों से परीक्षा में सम्मिलित नहीं होने वालों के लिए अतिरिक्त परीक्षा की व्यवस्था हो। विद्यार्थियों की काउंसलिंग के भी कार्य किए जाएं। 

राज्यपाल के सचिव मनोहर दुबे ने बताया कि प्रदेश के विश्वविद्यालयों के लिए नैक ग्रेडिंग की अवधि 6 माह बढ़ाने की अनुमति नैक द्वारा प्रदान कर दी है। उन्होंने परीक्षा केन्द्रों में थर्मल जाँच, सेनिटाइजर इत्यादि आवश्यक व्यवस्थाओं के लिए पर्याप्त संसाधनों की व्यवस्था सुनिश्चित करने की जरूरत बताई। परीक्षा केन्द्र में आकस्मिक परिस्थितियों के दृष्टिगत एक कक्ष पृथक से आरक्षित रखा जाये। परीक्षार्थी को बुखार आदि के लक्षण मिलने पर उसकी परीक्षा अलग से ली जा सके। 

बैठक के प्रारम्भ में राज्यपाल को इंदौर विश्वविद्यालय की कुलपति श्रीमती रेनू जैन ने नैक की 'ए' ग्रेडिंग का प्रमाण तथा जबलपुर विश्वविद्यालय के कुलपति ने विश्वविद्यालय द्वारा प्रकाशित पुस्तक भेंट की। इस अवसर पर सभी कुलपतियों ने परीक्षा संचालन तैयारियों के संबंध में जानकारी दी गयी। उन्होंने कोविड-19 चुनौती के दौरान विश्वविद्यालयों द्वारा किए गए सामाजिक सरोकारों के प्रति प्रतिबद्धता के प्रयासों की जानकारी दी। राजीव गांधी प्रौद्योगिकी विश्वविद्यालय के कुलपति श्री सुनील कुमार ने सामाजिक दूरी की सुनिश्चितता के लिए स्टुडेंट फ्लो चार्ट बनाकर स्टैंडर्ड ऑपरेटिंग प्रोसीजर बनाने की जानकारी दी। 


अजय वर्मा
Post a Comment

इंदिरा सागर के डूब प्रभावित परिवारों को छनेरा में भू-स्वामी हक़ प्रदाय
प्रदेश में निरंतर घट रहा है कोरोना संक्रमण
मुख्यमंत्री श्री चौहान ने नीम का पौधा लगाया
मुख्यमंत्री श्री चौहान ने लिये कर्मचारी हितैषी निर्णय - कमर्चारी संगठनों ने माना आभार
तेन्दूपत्ता संग्राहक होंगे संबल योजना में शामिल - मुख्यमंत्री श्री चौहान
कोविड-19 में दिवंगत कर्मचारियों के परिवारों की देखभाल हमारी जिम्मेदारी - मुख्यमंत्री श्री चौहान
मुख्यमंत्री श्री चौहान ने जगतगुरु आदि शंकराचार्य के चित्र पर माल्यार्पण किया
मुख्यमंत्री श्री चौहान ने महाकवि सूरदास जी के चित्र पर किया माल्यार्पण
प्रधानमंत्री श्री नरेन्द्र मोदी से मुख्यमंत्री श्री चौहान ने की फोन पर चर्चा
प्रदेश के गाँव और शहरों में 58 हजार से अधिक क्राइसिस मैनेजमेंट ग्रुप गठित - गृह मंत्री डॉ. मिश्रा
विभिन्न जिलों में 20 से 31मई 2021 तक जारी रहेगा कोरोना कर्फ्यू : डॉ. राजौरा
परिवहन मंत्री श्री राजपूत की गाँव-गाँव में कोरोना के विरुद्ध जन-जागृति रथ-यात्रा
ऊर्जा मंत्री श्री तोमर ने जनमित्र केन्द्र का किया आकस्मिक निरीक्षण 
सोयाबीन बीज वितरण में लापरवाही बर्दाश्त नहीं की जायेगी : मंत्री श्री पटेल 
प्रदेश के 407 निकायों के 7292 वार्ड में संकट प्रबंधन समिति गठित
राज्य मंत्री श्री परमार के प्रयासों से शुरू होगा आईसीयू वार्ड
कोरोना संक्रमण में अनाथ हुए बच्चों का शीघ्र सर्वे करायें - खाद्य मंत्री
उचित मूल्य दुकान से हितग्राहियों को ईमानदारी से मिले राशन - मंत्री श्री सिंह
उज्जैन जिले में किल-कोरोना अभियान बेहतरीन ढंग से चल रहा है - स्वास्थ्य मंत्री डॉ.चौधरी
नोवल कोरोना वायरस (COVID-19) मीडिया बुलेटिन
मरीज की क्लीनिकल स्थिति का समिति मूल्याकंन कर टोसिलिजुमेब इंजेक्शन की उपलब्धता सुनिश्चित करेंगी
कोविड नियंत्रण कार्यों के सकारात्मक परिणाम सामने आ रहे हैं - स्वास्थ्य मंत्री डॉ. चौधरी
ब्लैक फंगस के नियंत्रण, चिन्हांकन एवं प्रबंधन को सुनिश्चित करें - स्वास्थ्य आयुक्त
2 लाख 68 हजार 726 कोरोना मरीजों तक पहुँची मेडिकल किट
1