आज के समाचार

पिछला पृष्ठ
.

38 thousand labourers who came to Madhya Pradesh on foot from other states transported by buses

 

भोपाल : रविवार, मई 17, 2020, 20:52 IST

Over 38 thousand labourers walking towards their homes from other states did not allow to go were stopped by the Madhya Pradesh. These labourers were welcomed like guests and provided food, water and medicines at the border of Madhya Pradesh and later transported to the border of their states. Chief Minister Shri Shivraj Singh Chouhan has given instructions to make guest-like arrangements for labourers of other states apart from the campaign to bring the labourers stranded in other states to their own state safely. The Chief Minister has said that every labourer will be transported to his destination.

While the district administration of the border districts made arrangements with promptness in compliance to the instructions of Chief Minister Shri Chouhan, various organizations and the general public also took active part and gave their contribution in making their journey easier by ensuring all kinds of arrangements. Labourers going to Uttar Pradesh, Bihar and Jharkhand from southwestern states are going via Madhya Pradesh.

Maximum number of labourers are reaching Bijasan border of Sendhwa from other states. About 36 thousand labourers from Maharashtra alone were transported to Madhya Pradesh border in 819 buses. Similar arrangements have been made in other border districts. A thousand buses have been engaged for labourers of other states. Bijasan Mata Samiti and Nagalwadi Bhalatdev Samiti are providing breakfast, water, food to labourers entering from the Maharashtra border. Both the committees are distributing more than 10 thousand food packets daily. Along with this, similar arrangements have also been ensured in the border districts of Morena, Sheopur, Jhabua, Alirajpur, Neemuch, Seoni, Balaghat, Burhanpur etc.


Rajesh Pandey
Post a Comment

राष्ट्रपति श्री रामनाथ कोविंद 6-7 मार्च को प्रदेश के प्रवास पर
राष्ट्रपति श्री रामनाथ कोविन्द 7 मार्च को दमोह के सिंग्रामपुर में जनजातीय सम्मेलन में भाग लेंगे
मुख्यमंत्री श्री चौहान को मिलीं जन्म वर्षगाँठ पर बधाईयाँ
भोपाल का वन विहार है अनूठा : मुख्यमंत्री श्री चौहान
नारी तू नारायणी
कोरोना के प्रकरणों में कमी नहीं आई तो भोपाल-इंदौर में 8 मार्च से रात्रि कर्फ्यू - मुख्यमंत्री श्री चौहान
शिक्षा का उद्देश्य है ज्ञान, कौशल और नागरिकता के संस्कार देना : मुख्यमंत्री श्री चौहान
पेड़ लगाना पृथ्वी को बचाने का अभियान : मुख्यमंत्री श्री चौहान
श्री सुरेन्द्र सिंह राजपूत होंगे भू-संपदा विनियामक प्राधिकरण के सदस्य
ऊर्जा मंत्री श्री तोमर करेंगे विभिन्न वार्डों का साइकिल से भ्रमण
केन्द्रीय कृषि मंत्री श्री तोमर का श्री पटेल द्वारा आभार व्यक्त
मुख्यमंत्री को पारिजात का पौधा किया भेंट, कदम और तुलसी के पौधे लगाये
सहकारिता एवं लोक-सेवा प्रबंधन मंत्री डॉ. भदौरिया ने लगाया आम का पौधा
निर्माण कार्य की गुणवत्ता से समझौता नहीं होगा- लोक निर्माण मंत्री श्री भार्गव
मुख्यमंत्री द्वारा भेंट पौधा राज्यमंत्री श्री परमार ने रोपा
मुख्यमंत्री श्री चौहान के जन्म-दिन पर खाद्य मंत्री श्री सिंह ने लगाया नीम का पौधा
जलसंसाधन मंत्री श्री तुलसीराम सिलावट ने रोपा पौधा
नोवल कोरोना वायरस (COVID-19) मीडिया बुलेटिन
स्वास्थ्य मंत्री डॉ. चौधरी 6 मार्च को रायसेन जिले के दौरे पर
नरेला विधानसभा में आज भी चला विशेष सफाई अभियान
फूड प्रोसेसिंग यूनिट स्थापित करने के लिये उद्यमी आगे आएँ, सरकार हर संभव मदद करेगी : केन्द्रीय मंत्री श्री तोमर
राज्यमंत्री स्वतंत्र प्रभार श्री कुशवाह ने ग्वालियर में 178 लाख के 21 विकास कार्यों का भूमि-पूजन और लोकार्पण किया
मंत्री श्री सिंह और राज्यमंत्री श्री कांवरे "मिनिस्टर इन वेटिंग" नामित
शहीद लक्ष्मीकांत द्विवेदी के परिवार को मध्यप्रदेश सरकार एक करोड़ रूपये, एक मकान तथा परिवार के एक सदस्य को नौकरी देगी
राज्य निर्वाचन आयुक्त श्री सिंह 6 मार्च को करेंगे कलेक्टर्स से चर्चा
पशुपालन मंत्री श्री पटेल ने वृद्धाश्रम में मनाया सी.एम. का जन्म-दिन
1