आज के समाचार

पिछला पृष्ठ
.

वर्ष 2019-20 के मदिरा दुकान अनुज्ञप्तिधारियों को राहत

 

भोपाल : मंगलवार, मार्च 31, 2020, 22:34 IST

कोरोना वायरस के फैलाव पर नियंत्रण एवं बचाव के तहत प्रदेश में लॉकडाउन की अवधि के दौरान समय-समय पर मदिरा दुकानों का संचालन प्रतिबंधित किया गया है। कतिपय अनुज्ञप्तिधारियों ने वर्ष 2019-20 के अंतिम पक्ष की लायसेंस फीस जमा करने में व्यवहारिक कठिनाई बतलाते हुए विभिन्न जिला कलेक्टरों से प्रचलित प्रावधानों को शिथिल कर वार्षिक लायसेंस फीस जमा किये जाने में आनुपातिक छूट (रियायत) की मांग की है।

मध्यप्रदेश शासन वाणिज्य कर विभाग ने उपरोक्त समस्याओं को दृष्टिगत रखते हुए वर्ष 2019-20 के मदिरा दुकानों के अनुज्ञप्तिधारियों को राहत प्रदान की है। वाणिज्य कर विभाग द्वारा जारी निर्देश के अनुसार वर्ष 2019-20 में कलेक्टर द्वारा वर्ष 4 दिवस शुष्क दिवस घोषित किये जाने वाले दिवस यदि शेष हो तो उसे पहले समायोजित करते हुए शेष वर्ष 2019-20 के अनुज्ञप्तिधारियों को 28 मार्च 2020 से 31 मार्च 2020 तक की अवधि की न्यूनतम प्रत्याभूति की राशि आनुपातिक छूट प्रदान की जाकर शेष न्यूनतम प्रत्याभूति की राशि की वसूली यथा समय सुनिश्चित की जायेगी। इसके अतिरिक्त अवधि में निर्धारित शुष्क दिवसों के अतिरिक्त बंद रही दुकानों हेतु क्षतिपूर्ति के प्रकरण आवेदकों द्वारा प्रस्तुत किये जाने पर जिला समिति द्वारा सम्यक परीक्षण कर यथोचित कार्यवाही की जाए।

वर्ष 2020-21 में एक अप्रैल से निरंतर जितने दिन तक मदिरा दुकानों का संचालन प्रतिबंधित रहेगा उक्त अवधि में जिला कलेक्टर के विवेकाधीन 4 शुष्क दिवसों को सामायोजित कर शेष अवधि के दिवस की वार्षिक मूल्य में आनुपातिक छूट प्रदान की जायेगी।

31 मार्च 2020 को मदिरा दुकानों पर अवशेष स्कंध का सामान्य अनुज्ञप्ति की शर्त क्रमांक 25 के अनुरूप विधिवत पंचनामा बनाया जायेगा और जिन मदिरा दुकानों का वर्ष 2020-21 हेतु निष्पादित नवीनीकरण के माध्यम से सम्पन्न हो चुका है, वहाँ उक्त मदिरा स्कंध नवीनीकृत अनुज्ञप्तिधारी को सुरक्षित रखने हेतु सुपुर्दगी में दिया जाये। इसके अतिरिक्त जिन मदिरा दुकानों का वर्ष 2020-21 हेतु निष्पादन नवीनीकरण से भिन्न माध्यम से सम्पन्न हुआ है अथवा जो निष्पादन से शेष है, वहाँ उक्त मदिरा स्कंध वर्ष 2019-20 के अनुज्ञप्तिधारी कोसुरक्षित रखने हेतु सुपुर्दगी में दिया जायेगा।

दोनों ही स्थितियों में वर्ष 2020-21 हेतु मदिरा दुकानों का संचालन प्रारंभ होने पर उक्ति स्कंध का निराकरण सामान्य अनुज्ञप्ति शर्तों की शर्त क्रमांक-25 के अनुरूप किया जायेगा।

वर्ष 2019-20 के अनुज्ञप्तिधारियों में से जिनकी वार्षिक लायसेंस फीस 31 मार्च 2020 की स्थिति में अवशेष है अथवा उन पर अन्य को शासकीय राशि की देयता शेष है उनकी वर्तमान बैंक गारंटियों की वैधता अवधि में 30 जून तक की वृद्धि करवाई जाये। यदि अनुज्ञप्तिधारी 30 अप्रैल 2020 तक अवशेष राशि जमा कराने में असमर्थ रहता है, तो उक्त स्थिति में उसके अनुरोध पर जिला समिति अपने विवेकानुसार उक्त बैंक गारंटी की विस्तारित अवधि की सीमा के भीतर शेष राशि जमा करने हेतु 31 मई तक समय-सीमा में वृद्धि कर सकेगी। इस समयावधि के उपरांत जिला आबकारी अधिकारी द्वारा बैंक गारंटी से राशि वसूली की जा सकेगी। यदि ऐसा अपनुज्ञप्तिधारी 30 जून तक बैंक गारंटी की उपरोक्त वृद्धि बैंक से करवा कर स्वीकृत नहीं करता है तो 30 अप्रैल के पूर्व बैंक गारंटी वृद्धि से बकाया राशि वसूल कर ली जावे।

वर्ष 2020-21 के अनुज्ञप्तिधारियों द्वारा मदिरा दुकानों का संचालन लॉकडाउन की घोषित अवधि उपरांत ही किया जा सकेगा। वर्ष 2020-21 हेतु नवीन लायसेंस जारी करने के लिए आनुपातिक आकलित वार्षिक मूल्य के अनुसार आवश्यक प्रतिभूति राशि के 20 प्रतिशत की बैंक गारंटी/सावधि जमा या नगद राशि लायसेंस जारी करने के दिनांक (प्रस्तावित 14 अप्रैल2020 यदि 15 अप्रैल 2020 को दुकाने खुलें)से आगामी 7 दिवस (20 अप्रैल 2020 तक) में, अगली 20 प्रतिशत की बैंक गारंटी/सावधि जमा या नगद राशि लायसेंस जारी करने की दिनांक से आगामी 15 दिवस ( 28 अप्रैल 2020 तक) एवं शेष 60 प्रतिशत की बैंक गारंटी/सावधि जमा या नगद राशि लायसेंस जारी करने की दिनांक से आगामी 45 दिवस (28 मई 2020 तक) की अवधि में अनिवार्यत: जमा कराई जाये। निर्धारित सम्पूर्ण प्रतिभूति राशि लायसेंस जारी करने के दिनांक से 45 दिवस के अंतर्गत अनिवार्य: प्राप्त की जाये।

वर्ष 2019-20 में संचालित विभिन्न एफ.एल-2/एफ.एल.-3/एफ.एल.-4 एवं समान प्रकृति की अन्य लायसेंसियों में से जिनके द्वारा अभी तक वर्ष 2020-21 हेतु निर्धारित लायसेंस फीस जमा कर नवीनीकरण के प्रस्ताव प्रस्तुत नहीं किये गये है, वे वर्ष 2020-21 हेतु निर्धारित लायसेंस फीस की 50 प्रतिशत की राशि जमा कर नवीनीकरण के प्रस्ताव प्रस्तुत कर सकेंगे एवं शेष 50 प्रतिशत लायसेंस फीस जमा करने हेतु उन्हें लायसेंस जारी करने के दिनांक से 30 दिवस का समय प्रदान किया जायेगा।


समर चौहान
Post a Comment

मानव मूल्य आधारित पत्रकारिता का विश्वविद्यालय करें दिशा दर्शन: श्री टंडन
मुख्यमंत्री श्री चौहान ने एक क्लिक से जमा किए 66 लाख विद्यार्थियों के लिए 146 करोड़
गेहूँ उपार्जन लघु, मध्यम एवं सीमांत किसानों के लिये वरदान साबित हुआ
वरिष्ठ चिकित्सक रोज वार्डों में जाएं, मरीजों को सर्वोत्तम इलाज दें
मुख्यमंत्री श्री चौहान रात्रि 8 बजे प्रदेशवासियों को संबोधित करेंगे
मोदी नाम नहीं, मंत्र है जो ऊर्जा भरता है : मुख्यमंत्री श्री चौहान
आईएएस एवं आईपीएस अधिकारियों की पदस्थापना
जल आपूर्ति बाधित न हों : मंत्री डॉ. मिश्रा
संग्राहकों से 1582 क्विंटल महुआ फूल खरीदा गया
पलाश और कुसुम लाख के न्यूनतम समर्थन मूल्य में वृद्धि
रविवार को भी जमा होंगे बिजली बिल
सरसों का उपार्जन 10 जून तक होगा - मंत्री श्री पटेल
टिड्डी दलों के नियंत्रण के लिए चलाया जा रहा सघन अभियान
5 लाख 74 हजार श्रमिक वापस लाये गये
लॉकडाउन अवधि में प्रदेश में 57 हजार से ज्यादा सुधारे गए हैंड पम्प
विभिन्न 5 विकास कार्यों पर 6.25 करोड़ से ज्यादा राशि होगी खर्च
महर्षि पतंजलि संस्कृत संस्थान से नवीन संबद्धता एवं नवीनीकरण के लिये आवेदन 31 जुलाई तक आमंत्रित
नोवल कोरोना वायरस (COVID-19) मीडिया बुलेटिन
कोरोना संकट में जरूरतमंदों का सहारा बन रही आँगनवाड़ी कार्यकर्ता
पीसीसीएफ श्री पी.सी. दुबे राष्ट्रीय औषधीय पादप बोर्ड में सदस्य बने
सी.एम. हेल्पलाइन से बड़ी संख्या में लोगों को मिल रही सहायता
नगरीय निकायों एवं पंचायतों की मतदाता सूची का अंतिम प्रकाशन 4 अगस्त को
लॉकडाउन अवधि में बैंक-सखियों के माध्यम से 62 करोड़ रूपये पहुंचे खातेदारों तक
मास्क बनाने के लिए 10 हजार महिला उद्यमियों ने करवाया पंजीयन
1