आज के समाचार

पिछला पृष्ठ

निराश्रित गौ-वंश को गौ-शालाओं में विस्थापित किया जायेगा

भोपाल नगर में निर्धारित मवेशियों गौ-शाला में रखने का अभियान 16 जनवरी से
मंत्री श्री यादव की अध्यक्षता में अन्तर्विभागीय बैठक में हुए निर्णय
 

भोपाल : शुक्रवार, जनवरी 11, 2019, 16:06 IST

निराश्रित गौ-वंश को गौ-शालाओं में रखा जायेगा। गाय, बैल, आवारा तरीके से सड़कों पर विचरण करते नजर नहीं आयेंगे। शुरूआती दौर में भोपाल नगर में आवारा तरीके से घूमते निराश्रित गाय-बैल को पकड़कर गौ-शाला में रखा जायेगा। इस अभियान की शुरूआत 16 जनवरी से की जायेगी। भोपाल नगर में पाँच हजार से अधिक निराश्रित गाय-बैल को गौ-शाला में विस्थापित किया जायेगा। यह निर्णय पशुपालन, मछुआ कल्याण और मत्स्य-विकास मंत्री श्री लाखन सिंह यादव की अध्यक्षता में आज मंत्रालय में हुई अन्तर्विभागीय बैठक में लिया गया। बैठक में अपर मुख्य सचिव पशुपालन श्री मनोज श्रीवास्तव, संभागायुक्त श्री कवीन्द्र कियावत, आयुक्त मनरेगा सुश्री जी.व्ही. रश्मि, कलेक्टर डॉ. सुदाम खांडे, सचिव जेल श्री राजीव दुबे, डीआईजी श्री धर्मेंद्र चौधरी, आयुक्त नगर निगम श्री बी. विजय दत्ता, संचालक पशुपालन डा. आर. के. रोकड़े, एमडी एमपीएलडीसी डा. एच.बी.एस. भदौरिया और अन्य अधिकारी
मौजूद थे।

मंत्री श्री यादव ने कहा कि प्रदेश में निराश्रित गौ-वंश का यूआईडी टैग से पंजीयन किया जा रहा है। सबसे पहले हाई-वे के आसपास के क्षेत्र के ग्रामों में गौ-शाला खोलेंगे। शुरूआत पॉयलट प्रोजेक्ट के तौर पर भोपाल से की जा रही है। उन्होंने संभागायुक्त, कलेक्टर और आयुक्त नगर निगम से कहा कि अभियान को युद्ध स्तर पर शुरू करें। अभियान शुरूआत के एक सप्ताह बाद 22 से 25 जनवरी के बीच वे नगर के उस हिस्से का जायजा लेंगे, जहाँ से निराश्रित गौ-वंश को हटाया गया है। उन्होंने कहा कि निरीक्षण के दौरान अगर निराश्रित गाय-बैल मिलते हैं, तो क्षेत्र के संबंधित जिम्मेदार अधिकारी-कर्मचारी के विरुद्ध सख्त कार्यवाही की जायेगी।

अपर मुख्य सचिव ने दिये निर्देश

एसीएस श्री श्रीवस्तव ने कलेक्टर भोपाल से कहा कि अगले तीन दिन में वह नगर के सभी 7 कांजी हाऊस की कुल क्षमता का आकलन कर लें ताकि निराश्रित गौ-वंश को वहाँ रखा जा सके। जिले में संचालित सभी 27 गौ-शालाओं के प्रबंधकों से चर्चा कर उनकी गौ-शाला की क्षमता का आंकलन कर गौ-वंश रखने की व्यवस्था सुनिश्चित करें। इसके अतिरिक्त गौ-शाला की अन्य व्यवस्था भी सुनिश्चित करें। श्री श्रीवास्तव ने कहा कि ऐसे पशुपालक, जो सड़कों पर गायों को निराश्रित ‍िस्थति में छोड़ देते हैं, उन्हें ताकीद किया जाये कि 15 जनवरी के बाद उनकी गाय सड़कों पर या खुले स्थान पर मिलती है, तब गाय को कांजी हाऊस/ गौ-शाला में भेज दिया जायेगा और पशुपालक के विरुद्ध हैवी पैनल्टी अधिरोपित की जायेगी।

बताया गया कि 4 लाख 37 हजार 910 निराश्रित पशुओं की संख्या है। प्रदेश में कुल पंजीकृत 1285 गौ-शाला में 614 क्रियाशील हैं, जिनमें 1 लाख 53 हजार 834 गौ-वंश है। गौ-वंश की संख्या वर्ष 2012 की पशु संगणना के आधार पर है। वर्ष 2018 में विभाग द्वारा अनुमानित लगभग 6 लाख निराश्रित गौ-वंश है। निराश्रित गौ-वंश के लिये गौ-शालाओं को खोलने के लिये स्थान चिन्हित करने और गौ-शाला संचालन के लिये वित्तीय प्रबंधन आदि पर भी चर्चा की गई।


महेश दुबे
Post a Comment

राज्यपाल ने मकर और पोंगल पर्व पर दी प्रदेशवासियों को बधाई
पूर्व प्रधानमंत्री स्वर्गीय श्री शास्त्री का पुण्य-स्मरण
मुख्यमंत्री श्री कमल नाथ ने "युवा दिवस" पर युवाओं को दी बधाई
खूब पढ़ें और आगे बढ़ें
बेरोजगारी दूर करने के लिए नए उद्योग लगाएंगे - जनसम्पर्क मंत्री श्री शर्मा
पत्रकारिता पुरस्कार समारोह में शामिल होंगे जनसम्पर्क मंत्री
होमगार्ड, एसडीईआरएफ कर्मियों की वेतन समस्या दूर करने 100 करोड़ का प्रावधान
कुशल संवाद से परेशानियों का आसान समाधान संभव
छिन्दवाड़ा स्किल ट्रेनिंग सेंटर का मॉड्यूल अन्य जिलों में लागू होगा
पंचायत एवं ग्रामीण विकास मंत्री श्री पटेल द्वारा पंचायत सचिव के निधन पर शोक व्यक्त
खेल एवं युवा कल्याण मंत्री श्री जीतू पटवारी आज करेंगे युवा संवाद
कृषि मंत्री ने लाँच किया "ई-कृषि सेवा मोबाइल एप
कृषि उपज मण्डियों को ई-मण्डी बनाने की कार्य-योजना
औद्योगिक नियोजक "ईज ऑफ डूइंग बिजनेस का लाभ उठायें - श्रम मंत्री श्री सिसोदिया
सर्वे कार्य पूर्ण होने पर खदानों की नीलामी की जाये
मंत्री श्री मरकाम नये आवास में
पर्व स्नानों का वार्षिक कैलेण्डर बनाकर व्यवस्थाएँ सुनिश्चित करने के निर्देश
"युवा दिवस के मौके पर 12 जनवरी को होगा सामूहिक सूर्य नमस्कार
बन्दूक चलाने के साथ विभिन्न कार्यों में दक्ष बन रही हैं कैडेट
निराश्रित गौ-वंश को गौ-शालाओं में विस्थापित किया जायेगा
नवीन निजी महाविद्यालय एवं पाठ्यक्रमों की निरंतरता व्यवस्था
श्री वर्मा मुख्यमंत्री कार्यालय में अपर सचिव पदस्थ
भापुसे के अधिकारियों की नवीन पद-स्थापना
रेरा आवासीय क्षेत्र की सफलता की चाबी - श्री अन्टोनी डिसा
नई दिल्ली मे नए म.प्र. भवन का शिलान्यास करेंगे मुख्यमंत्री श्री कमल नाथ
राज्य मंत्रि-परिषद के सदस्यों को प्रभार के जिले आवंटित
खाद्य मंत्री ने विदिशा मण्डी का आकस्मिक निरीक्षण
1