आज के समाचार

पिछला पृष्ठ

भारत को जोड़ने का सूत्र है हिन्दी भाषा : मुख्यमंत्री श्री चौहान

ग्वालियर में हिन्दी साहित्य सभा भवन के लिये 7 करोड़ की घोषणा
हिन्दी भाषा सम्मान से सात हिन्दी सेवी सम्मानित
 

भोपाल : शुक्रवार, सितम्बर 14, 2018, 18:30 IST

मुख्यमंत्री श्री शिवराज सिंह चौहान ने कहा है कि हिन्दी भाषा भारत को जोड़ने वाला सूत्र है। मध्यप्रदेश में हिन्दी भाषा को आगे बढ़ाने और साहित्य को समृद्ध बनाने की परंपरा को जारी रखा जायेगा। मुख्यमंत्री श्री चौहान आज यहाँ तीन दिवसीय मध्यप्रदेश साहित्योत्सव के शुभारंभ समारोह को संबोधित कर रहे थे। उन्होंने स्वर्गीय अटल बिहारी वाजपेयी की भावना के अनुरूप ग्वालियर में हिन्दी साहित्य सभा के भवन निर्माण के लिये सात करोड़ रूपये देने की घोषणा की। कार्यक्रम में हिन्दी भाषा सम्मान से सात हिन्दी सेवियों को सम्मानित किया गया।

मुख्यमंत्री श्री चौहान ने कहा कि हिन्दी का एक दिन क्यों हो, हिन्दी का हर दिन होना चाहिये। महात्मा गांधी और सुभाष चन्द्र बोस जैसे अनेक महापुरूषों ने हिन्दी को भारत को जोड़ने वाली भाषा माना है। दुनिया का हर देश अपनी भाषा में बोलता है। खुद की भाषा में विचारों का प्रकटीकरण जितने अच्छे से होता है। दूसरी भाषा में नहीं हो सकता। प्रदेश में स्वर्गीय अटल जी के नाम पर हिन्दी विश्वविद्यालय शुरू किया गया है। स्वर्गीय अटल जी ने संयुक्त राष्ट्र संघ में हिन्दी में भाषण दिया था। शिक्षा की भाषा हिन्दी होना चाहिये। संकल्प लें कि हिन्दी को व्यवहार में लायेंगे और समृद्ध बनायेंगे। जब अपनी भाषा समृद्ध होगी, तो साहित्य और संस्कृति भी समृद्ध होगी। साहित्य सृजन मनुष्यता का महत्वपूर्ण आयाम है। पुराने साहित्यकारों के सृजन को प्रकाशित करने का क्रम जारी रहेगा। हमारे यहाँ हजारों वर्ष पहले वसुधैव कुटुम्बकम और विश्व कल्याण की बात कही गयी है।

कार्यक्रम में मुख्य सचिव श्री बी.पी.सिंह ने कहा कि विश्व हिन्दी सम्मेलन 2016 की घोषणा के अनुरूप प्रदेश में हिन्दी अलंकरण दिवस मनाया जा रहा है। जिन साहित्यकारों ने हिन्दी भाषा को गढ़ने का कार्य किया है और अब वे विस्मृत हो गये हैं। उनके साहित्य को प्रकाशित करने का क्रम शुरू किया गया है। प्रदेश में हिन्दी भाषा और हिन्दी साहित्य का सेवा कार्य आगे भी जारी रहेगा। अपर मुख्य सचिव संस्कृति श्री मनोज श्रीवास्तव ने साहित्योत्सव की रूपरेखा बतायी। उन्होंने बताया कि इस तीन दिवसीय कार्यक्रम में 22 राज्यों और विदेश से आये साहित्यकार भाग ले रहे हैं।

कार्यक्रम में मुख्यमंत्री श्री चौहान ने प्रसिद्ध कवि स्वर्गीय श्री गुरूभक्त सिंह 'भक्त' की समग्र पुस्तक का विमोचन किया। इस पुस्तक का प्रकाशन मध्यप्रदेश हिन्दी साहित्य परिषद द्वारा किया गया है। कार्यक्रम में हिन्दी भाषा सम्मान के अंतर्गत वर्ष 2017-18 के लिये सूचना प्रौद्योगिकी सम्मान डॉ. अनुराग सीठा को, निर्मल वर्मा सम्मान डॉ. रामप्रसाद भट्ट को, फादर कामिल बुल्के सम्मान प्रो. जियांग जिंगकुई को, गुणाकर मुले सम्मान डॉ. शिव चन्द्र दुबे को तथा हिन्दी सेवा सम्मान डॉ छबिल कुमार मेहेर को प्रदान किया गया।

कार्यक्रम को स्वर्गीय गुरूभक्त सिंह 'भक्त' के पुत्र श्री आनंद सिंह ने भी संबोधित किया। आभार प्रदर्शन मध्यप्रदेश हिन्दी साहित्य परिषद के निदेशक श्री उमेश कुमार सिंह ने किया।


एस.जे.
इमाम हुसैन की सीख देश और दुनिया के लिये आज भी प्रासंगिक : प्रधानमंत्री श्री मोदी
प्रधानमंत्री श्री मोदी का इंदौर विमानतल पर आत्मीय स्वागत
भारत को जोड़ने का सूत्र है हिन्दी भाषा : मुख्यमंत्री श्री चौहान
जनसम्पर्क मंत्री द्वारा 1.06 करोड़ के कार्यों का शिलान्यास एवं लोकार्पण
जनसम्पर्क मंत्री द्वारा ग्राम जौन्हार में 1.28 करोड़ की सड़क का भूमि-पूजन
राजमाता विजयाराजे सिंधिया महिला हॉकी कप टूर्नामेन्ट के फायनल में पहुँची म.प्र. हॉकी अकादमी और इण्डियन रेल्वे की टीमें
डियो और मोबाइल का उपयोग कम करके ओजोन क्षरण बचायें
विकसित विधानसभा क्षेत्रों में शामिल हुआ नरेला क्षेत्र
"स्वच्छता ही सेवा अभियान में होंगी स्कूलों में गतिविधियाँ
मुख्यमंत्री कल्याणी योजना से 2.79 लाख महिलायें लाभान्वित
ग्रामीण विकास मंत्री करेंगे इंजीनियरों का सम्मान
वर्चुअल कक्षाएँ 17 से 29 सितम्बर तक
पोषण समृद्ध कृषि और जागरूकता कार्यशाला 15-16 सितम्बर को
शासकीय होम्योपैथिक चिकित्सा महाविद्यालय में होम्योपैथिक मेगा कैम्प
4 करोड़ 63 लाख में होगा रेवेरा टाउन से एकांत पार्क तक नाला निर्माण
राजस्व मंत्री ने चूनाभट्टी में 175 लाख की लागत के स्कूल भवन का किया भूमि-पूजन
राजस्व मंत्री श्री गुप्ता ने वार्ड-32 में किया 8 निर्माण कार्यों का भूमि-पूजन
श्रमिकों के आये अच्छे दिन, मिले पक्का मकान
युवाओं के लिये इण्डियन आर्मी में भर्ती का मौका
प्रधानमंत्री आवास योजना से पूरी हुई अपने घर की अभिलाषा
राजनैतिक दलों के लिए कार्यशाला 15 सितम्बर को
समावेशी, सुगम, विश्वसनीय एवं नैतिक मतदान के लिए कार्य करें- मुख्य निर्वाचन पदाधिकारी
मुख्यमंत्री ऋण समाधान योजना का लाभ मिलेगा 30 सितम्बर तक
अल्प-विराम प्रशिक्षण 22 सितम्बर को
मुख्यमंत्री जन कल्याण (शिक्षा प्रोत्साहन) योजना के क्रियान्वयन संबंधी निर्देश जारी
वेलांगणी तीर्थ-यात्रा पर जाएंगे 975 तीर्थ-यात्री
1