आज के समाचार

पिछला पृष्ठ

खरीफ सीजन में 129 लाख हेक्टेयर रकबे में हुई बोनी

 

भोपाल : शुक्रवार, अगस्त 10, 2018, 15:48 IST

प्रदेश में इस वर्ष खरीफ फसलों की बोनी का कार्य लगभग समाप्त हो रहा है। अब तक 129 लाख 11 हजार हेक्टेयर रकबे में खरीफ फसलों की बोनी पूर्ण हो चुकी है। इस वर्ष प्रदेश में खरीफ सीजन में 132 लाख हेक्टेयर में खरीफ की फसलें बोये जाने का कार्यक्रम तैयार किया गया है।

प्रदेश में जुलाई माह में हुई पर्याप्त बारिश से किसानों ने फसलों की बुआई का काम तेजी से किया है। इस वर्ष सोयाबीन 53 लाख 18 हजार हेक्टेयर क्षेत्र में बोया गया है, जबकि सोयाबीन का 46 लाख हेक्टेयर क्षेत्र में बोनी का कार्यक्रम तय किया गया था। अन्य तिलहनी फसलों मूँगफली, तिल, रामतिल की बुआई करीब 60 लाख हेक्टेयर में की जा चुकी है, जो निर्धारित किये गये लक्ष्य से 111 प्रतिशत अधिक है। प्रदेश में धान की रोपाई का कार्य अभी भी किसानों द्वारा किया जा रहा है। अब तक 19 लाख 66 हजार हेक्टेयर में धान की रोपाई की जा चुकी है। इस वर्ष 22 लाख 50 हजार हेक्टेयर क्षेत्र में धान की रोपाई का अनुमान लगाया गया है। अनाज की अन्य फसलों में अब तक किसानों द्वारा मक्का 13 लाख 2 हजार हेक्टेयर, ज्वार 2 लाख 51 हजार हेक्टेयर, बाजरा 2 लाख 23 हजार हेक्टेयर तथा कोदो एक लाख 80 हजार हेक्टेयर क्षेत्र में किसानों द्वारा बोई जा चुकी है। अनाज की फसलों की बोआई 39 लाख 23 हजार हेक्टेयर में की जा चुकी है।

किसानों द्वारा दलहनी फसलों की बोआई का कार्य भी किया जा रहा है। किसान कल्याण तथा कृषि विकास विभाग द्वारा दी गई जानकारी के अनुसार अब तक प्रदेश में अरहर 6 लाख 25 हजार हेक्टेयर, उड़द 14 लाख 55 हजार हेक्टेयर, मूँग 2 लाख 10 हजार हेक्टेयर क्षेत्र में बोया गया है। इस प्रकार, 23 लाख हेक्टेयर में दलहनी फसलों की बुआई की जा चुकी है। यह निर्धारित लक्ष्य का करीब 82 प्रतिशत है।

किसानों को खरीफ फसलों के संबंध में कृषि विशेषज्ञों द्वारा कुल्फा, डोरा, हैण्ड-व्हीलहो चलाकर निदाई करने की सलाह दी गई है। किसानों से रासायनिक नींदा नियंत्रण और खेत की नमी की अनिवार्य रूप से जाँच करने के लिये भी कहा गया है। इसी के साथ कीटनाशक घोल बनाने में रसायन की अनुशंसित मात्रा का ही प्रयोग करने की सलाह दी गई है।


मुकेश मोदी
किसान परंपरागत खेती से जैविक खेती की ओर बढ़ें : राज्यपाल श्रीमती आनंदीबेन पटेल
राज्यपाल श्रीमती पटेल ने हितग्राहियों, स्व-सहायता समूह की महिलाओं से किया संवाद
बच्चों के लिए राजभवन 11 से 15 अगस्त तक दिनभर खुला रहेगा
पंजीकृत असंगठित श्रमिकों के बच्चों की फीस सरकार भरेगी
मुख्यमंत्री श्री चौहान ने "जीते हैं" लघु फिल्म का अवलोकन किया
केला उत्पादक 4894 किसानों को मिलेगी 32.50 करोड़ राहत राशि
आश्रय स्थलों का हर महीने होगा निरीक्षण : मुख्यमंत्री श्री चौहान
जनसम्‍पर्क मंत्री डॉ. मिश्र दस दिवसीय दतिया प्रवास पर रहेंगे
यातायात नियमों के उल्लघंन पर 10 हजार 509 ड्रायविंग लायसेंस निरस्त
प्रदेश के संप्रेक्षण गृहों में सुरक्षा मानकों का होगा निरीक्षण : टीम गठित
दम्पत्ति वन महोत्सव 12 अगस्त को
वर्षा ऋतु में हुआ 7 करोड़ 6 लाख पौध-रोपण
खरीफ सीजन में 129 लाख हेक्टेयर रकबे में हुई बोनी
जैव ईधन के लिए जन जागरूकता बढ़ाना जरूरी : राज्यमंत्री श्री सारंग
एक वर्ष में बदलेगी प्रदेश के शहरों की तस्वीर - मंत्री श्रीमती सिंह
15 अगस्त से प्रत्येक ग्राम में होगी ग्राम-सभाएँ
स्मार्ट सोच से बनती है स्मार्ट सिटी -श्रीमती माया सिंह
लेफ्टिनेंट जनरल पी.पी. मल्होत्रा मध्यप्रदेश के दौरे पर
विशेषज्ञों की सलाह पर कृषि को लाभकारी बना रहे किसान
विधानसभा आम चुनाव 2018 की तैयारियों की समीक्षा 13 अगस्त को
अब 31 अगस्त तक लिये जायेंगे निर्वाचक नामावली में दावे और आपत्ति
स्वतंत्रता दिवस समारोह
गरीबों के लिये मुसीबत में सहारा बन रही संबल योजना
मान्यता-अनुदान प्राप्त संस्थाओं के निरीक्षण के लिये समिति गठित होगी
14 अगस्त को मनाया जायेगा "शहीद सम्मान दिवस
बिजली माफी से खिले गरीबों के चेहरे
आज भोपाल में मैथिलीशरण गुप्त स्मृति समारोह
स्व-रोजगार योजनाओं से आत्म-निर्भरता की ओर बढ़ता युवा वर्ग
प्रदेश के 5 जिलों में सामान्य से अधिक, 36 में सामान्य वर्षा दर्ज
1