आज के समाचार

पिछला पृष्ठ

प्रधानमंत्री सुरक्षित मातृत्व अभियान क्रियान्वयन में मध्यप्रदेश सर्वश्रेष्ठ

स्वास्थ्य मंत्री द्वारा सराहनीय योगदान देने वाले निजी-शासकीय चिकित्सक पुरस्कृत 

भोपाल : मंगलवार, जुलाई 17, 2018, 18:15 IST

लोक स्वास्थ्य एवं परिवार कल्याण मंत्री श्री रुस्तम सिंह ने प्रधानमंत्री सुरक्षित मातृत्व अभियान के क्रियान्वयन में उल्लेखनीय योगदान देने वाले निजी और शासकीय चिकित्सकों को पुरस्कृत किया। उन्होंने कहा कि स्वास्थ्य विभाग के साथ निजी क्षेत्र के चिकित्सकों की भागीदारी से ही मध्यप्रदेश को देश में यह उल्लेखनीय सफलता मिली है।

उल्लेखनीय है कि हाल ही में केन्द्र शासन ने मध्यप्रदेश को प्रधानमंत्री सुरक्षित मातृत्व अभियान में सर्वाधिक गर्भवती महिलाओं की पहुँच और सर्वाधिक सेवा प्रदाताओं की संख्या, मातृ मृत्यु दर में सर्वाधिक प्रतिशत गिरावट के लिये पुरस्कृत किया है। केन्द्र शासन द्वारा करवाये जाने वाले सेम्पल रजिस्ट्रेशन सर्वे में मध्यप्रदेश में मातृ मृत्यु दर में 48 अंकों की गिरावट और प्रधानमंत्री सुरक्षित मातृत्व अभियान में निजी क्षेत्र के चिकित्सकों के सहयोग से प्रसव के पहले जाँच एवं उपचार सेवाओं के विस्तार के साथ योजना के सक्रिय क्रियान्वयन के लिये मध्यप्रदेश को केन्द्रीय स्वास्थ्य मंत्री द्वारा नई दिल्ली में पुरस्कृत किया गया।

स्वास्थ्य मंत्री ने राष्ट्रीय पुरस्कार प्राप्त करने वाले नर्मदापुरम के संभागायुक्त श्री उमाकांत उमराव, वनांचल सेवा समिति में विभिन्न जिलों में उल्लेखनीय कार्य के लिये डॉ. किरण शेजवार, डॉ. माधुरी चन्द्रा, डॉ. अलका अग्रवाल, डॉ. संगीता श्रीवास्तव, डॉ. निधि व्यास और डॉ. शारदा मिश्रा को शॉल, स्मृति-चिन्ह और प्रमाण-पत्र देकर सम्मानित किया। इस अवसर पर श्री उमाकांत उमराव द्वारा जटिल प्रसव वाली महिलाओं के लिये किये जा रहे काम पर आधारित 'हिरण्यगर्भा'' फिल्म भी प्रदर्शित की। होशंगाबाद संभाग में हिरण्यगर्भा टीम जटिल गर्भावस्था वाली महिलाओं तक पहुँचकर सुरक्षित प्रसव में सहायता करती है।

प्रधानमंत्री सुरक्षित मातृत्व योजना में प्रत्येक माह की 9 तारीख को शासकीय अस्पतालों में गर्भवती महिलाओं के स्वास्थ्य परीक्षण के लिये नि:शुल्क शिविर लगाये जाते हैं। इसमें स्वास्थ्य विभाग की टीम के साथ निजी क्षेत्र के चिकित्सक भी भाग ले रहे हैं, जिससे शिशु मातृ मृत्यु दर में लगातार गिरावट दिख रही है। श्री सिंह ने वर्ष 2017-18 में अभियान में स्वैच्छिक सेवाओं के लिये निजी क्षेत्र में आगर-मालवा जिला चिकित्सालय में डॉ. सुनीता मालानी को लगातार 12 माह तक सेवा देने और रतलाम जिले के सामुदायिक स्वास्थ्य केन्द्र में डॉ. अदिति राठौर को 11 माह तक सेवा देने के लिये पुरस्कृत किया। शासकीय क्षेत्र में यह पुरस्कार सतना जिला चिकित्सालय के डॉ. महेन्द्र सिंह और अमदरा (सतना) सामुदायिक स्वास्थ्य केन्द्र की डॉ. इन्द्राणी सेनगुप्ता को दिया गया।

सर्वश्रेष्ठ प्रदर्शन वाले जिले और जटिल गर्भावस्था की सर्वाधिक पहचान करने के लिये निजी क्षेत्र में जबलपुर और शासकीय क्षेत्र में रायसेन को दिया गया। चिकित्सा संगठनों में पुरस्कार भोपाल चेप्टर के डॉ. जायसवाल, इंदौर डॉ. मुक्ता जैन, ग्वालियर डॉ. कुसुमलता सिंघल, उज्जैन डॉ. मंजू राठी, जबलपुर डॉ. निशा साहू, रतलाम डॉ. डाली मेहरा, सागर डॉ. नीता गिडयान, सिंगरौली डॉ. संगीता प्रसाद, होशंगाबाद डॉ. सुनीता पाण्डे, इण्डियन रेडियोलॉजिकल एण्ड इमेजिन एसोसिएशन के लिये डॉ. शैलेष लूनावत को, इण्डियन मेडिकल एसोसिएशन के डॉ. राजीव गुप्ता, प्रायवेट मेडिकल प्रेक्टिशनर एसोसिएशन के डॉ. सत्यप्रकाश दुबे, नर्सिंग-होम एसोसिएशन के डॉ. उमेश शारदा, पैथालॉजी एसोसिएशन के डॉ. सुरेश कुमार, लॉयन्स क्लब के श्री कमल भण्डारी और एसोसिएशन ऑफ प्रायवेट डेंटल कॉलेज, मेडिकल कॉलेजेस ऑफ एम.पी. की डॉ. ज्योति वलेचा को दिया गया।

मातृ स्वास्थ्य में लगातार सहयोग के लिये भोपाल, इंदौर और ग्वालियर मेडिकल कॉलेज को दिया गया। निजी क्षेत्र में सर्वश्रेष्ठ स्त्री रोग विशेषज्ञ का पुरस्कार डॉ. मीना नामदेव पन्ना, डॉ. दीपक कुमार गुप्ता रायसेन और डॉ. नीना गेदियान सागर को दिया गया। शासकीय क्षेत्र में मंदसौर की डॉ. प्रमिला राठौर, खण्डवा की डॉ. लक्ष्मी दुदवे और सिवनी के डॉ. आर. कुश्राम ने यह पुरस्कार प्राप्त किया। सर्वश्रेष्ठ एनेस्थीसिया विशेषज्ञ के लिये शासकीय क्षेत्र में सागर के डॉ. संतोष राजौरिया, शहडोल के डॉ. सुनील स्थापक, छतरपुर के डॉ. विनीत पटेरिया और निजी क्षेत्र में सिवनी के डॉ. एस.एन. सोनी, उज्जैन की डॉ. डिम्पल और होशंगाबाद के डॉ. आर. माहेश्वरी को पुरस्कृत किया गया। उप जिला-स्तरीय ग्रुप में डॉ. हेमराज बोकाड़े सौंसर (छिन्दवाड़ा), डॉ. के.डी. मण्डलोई पेटलावद (झाबुआ) और डॉ. बी.टी. चतुर्वेदी पिछोर (शिवपुरी) को पुरस्कृत किया गया।

रोशनी क्लीनिक और गर्भवती महिलाओं सहित सभी आयु वर्ग की महिलाओं को उत्कृष्ट सेवा देने वाली रतलाम और शहडोल टीम को पुरस्कृत किया गया। नवजात शिशु देखभाल में उत्कृष्टता के लिये पुरस्कार पाने वालों में डॉ. शशिकला निपाने उमरिया, डॉ. वैशाली निगम देवास और डॉ. विकास शर्मा मुरैना की टीम शामिल हैं। रक्त संचयन में उत्कृष्ट कार्य करने वाली टीम सामुदायिक स्वास्थ्य केन्द्र सौंसर (छिन्दवाड़ा), सामुदायिक स्वास्थ्य केन्द्र जावरा (रतलाम) और सिविल अस्पताल मैहर (सतना) शामिल है। सुविधा विस्तार के लिये सामुदायिक स्वास्थ्य केन्द्र देवेन्द्र नगर (पन्ना), सामुदायिक स्वास्थ्य केन्द्र परासिया (छिन्दवाड़ा) और सामुदायिक स्वास्थ्य केन्द्र पटेरा (दमोह) की टीम को पुरस्कृत किया गया।


सुनीता दुबे
Post a Comment

नर्मदा मैया बदलेगी सीहोर जिले के सिंचाई से वंचित क्षेत्र की तस्वीर
स्टार्ट अप की नई राह पर चलकर नई सृष्टि की रचना करें - मुख्यमंत्री श्री चौहान
नियमित शिक्षकों की भर्ती प्रक्रिया 15 अगस्त तक प्रारम्भ होगी
किसानों को उपार्जन की शेष राशि का शीघ्र भुगतान करें : मुख्यमंत्री श्री चौहान
प्रसन्न हैं भारी-भरकम बिजली बिल से निजात पाने वाले दतिया के नागरिक
जनसम्पर्क मंत्री डॉ. मिश्र को काव्य संग्रह भेंट
जनसम्‍पर्क मंत्री डॉ. मिश्र 18 को जबलपुर जायेंगे
संघर्ष और त्याग की प्रतिमूर्ति थे यमुना प्रसाद शास्त्री
बसामन मामा गौवंश वन्य विहार देश के सर्वश्रेष्ठ गौ अभ्यारण्य के तर्ज पर स्थापित होगा
राज्य मंत्री श्री सारंग ने निचली बस्तियों में जल-भराव स्थिति का लिया जायजा
प्रधानमंत्री सुरक्षित मातृत्व अभियान क्रियान्वयन में मध्यप्रदेश सर्वश्रेष्ठ
अति वर्षा में नगरीय निकाय का अमला सजग रहे
सरल बिजली और बिजली बिल माफी स्कीम में 55 लाख से अधिक हितग्राहियों ने कराया पंजीयन
सरल बिजली और बिल माफी स्कीम का लाभ संनिर्माण मण्डल के कर्मकारों को भी मिलेगा
श्री बासंतक मणि शर्मा रोजगार बोर्ड के सदस्य मनोनीत
बीकानेरी पापड़ बन रहे हैं पन्ना की पहचान
प्रदेश के 19 जिलों में सामान्य से अधिक, 16 में सामान्य और 16 में कम वर्षा दर्ज
प्रधानमंत्री आवास में चैन की नींद सो पा रहे हैं हितग्राही
उर्दू में 90 प्रतिशत से अधिक अंक लाने वाले विद्यार्थियों को मिलेगा पुरस्कार
मुख्यमंत्री बाल हृदय उपचार योजना से निशा को मिली नई जिंदगी
खेतिहर मजदूर कमलेश जाटव मुख्यमंत्री स्व-रोजगार योजना से हुए आत्म-निर्भर
1