आज के समाचार

पिछला पृष्ठ

आर.टी.ई. में 2 लाख 50 हजार बच्चों को प्रायवेट स्कूलों में मिलेगा निःशुल्क प्रवेश

स्कूल शिक्षा मंत्री कुंवर विजय शाह ने निकाली लॉटरी  

भोपाल : मंगलवार, जुलाई 10, 2018, 18:30 IST
 

शिक्षा का अधिकार अधिनियम (आर.टी.ई.) में गैर अनुदान प्राप्त अशासकीय स्कूलों में वंचित समूह एवं कमजोर वर्ग के बच्चों के निःशुल्क प्रवेश के लिए स्कूल शिक्षा मंत्री डॉ. कुँवर विजय शाह ने एन.आई.सी. के सर्वर का बटन दबाकर ऑनलाईन लॉटरी का शुभारंभ किया। लॉटरी में दो लाख 50 हजार बच्चों को स्कूल आवंटित किये गये। इनमें से 2 लाख 5 हजार 843 बच्चों को उनके द्वारा चाहे गए प्रथम वरीयता (फर्स्ट च्वाइस) के स्कूलों में प्रवेश मिला। इसके साथ ही 24 हजार 600 को द्वितीय, 12 हजार 734 को तृतीय, 3 हजार 579 को चौथी, 1820 को पाँचवी और 865 को छठवीं, 430 को सातवी, 292 को ऑठवी, 166 को नौंवी तथा 91 बच्चों को उनके द्वारा चाही गई दसवीं वरीयता के स्कूलों में सीट्स आवंटित हुई हैं। उल्लेखनीय है कि इस वर्ष प्रदेश के 26 हजार से अधिक प्रायवेट स्कूलों की प्रथम प्रवेशित कक्षा में निःशुल्क प्रवेश के लिये लगभग 2 लाख 94 हजार बच्चों ने प्रवेश के लिए ऑनलाइन आवेदन किया था, जो कि विगत वर्ष की तुलना में लगभग 47 हजार से अधिक हैं। गत वर्ष 2 लाख 47 हजार बच्चों ने आवेदन किया था।

शिक्षा का अधिकार अधिनियम के प्रावधान अंतर्गत निजी स्कूलों की प्रथम प्रवेशित कक्षा में निःशुल्क प्रवेश की इस प्रक्रिया में नर्सरी के लिये एक लाख 5 हजार 95, केजी-1 के लिये 80 हजार 895, केजी-2 के लिये 12 हजार 23 और कक्षा एक के लिये 52 हजार 415 बच्चों को स्कूल आवंटित हुए हैं। इनमें से गरीबी रेखा से नीचे जीवन यापन करने वाले (बीपीएल) परिवारो के एक लाख 83 हजार 8, अनुसूचित जाति के 48 हजार 436, अनुसूचित जनजाति के 15 हजार 440 तथा 175 दिव्यांग, 67 अनाथ, विमुक्त जाति के 298, एचआईवी प्रभावित 68 एवं वनग्राम के पट्टाधारी परिवारों के 253 बच्चे शामिल हैं।

उल्लेखनीय है कि, मध्यप्रदेश में शिक्षा का अधिकार अधिनियम के लागू होने के साथ ही वर्ष 2011-12 से 2017-18 तक लगभग 10 लाख बच्चे इस प्रावधान के तहत निजी स्कूलों की प्रथम प्रवेशित कक्षाओं मंे प्रवेश ले चुके हैं। वर्ष 2016-17 से शिक्षा का अधिकार अधिनियम के तहत निजी स्कूलों में निःशुल्क प्रवेश की यह प्रक्रिया ऑनलाइन की गयी है। आरटीई के प्रावधान के तहत निजी विद्यालयों में अध्ययनरत् इन बच्चों की फीस प्रतिपूर्ति राज्य सरकार द्वारा नियमानुसार की जाती हैं।

स्कूल शिक्षा मंत्री ने बताया कि इस लॉटरी के माध्यम से आज अनेक मंहगे और संभ्रांत स्कूलों में भी बच्चों को निःशुल्क प्रवेश मिला है। उन्होंने बताया कि ऑनलाइन आवेदन के लिए सभी विकास खण्ड में हेल्प सेंटर भी खोले गए थे। स्कूल शिक्षा मंत्री डॉ. कुंवर विजय शाह ने कहा कि अगले सत्र से आरटीई के तहत निजी विद्यालयों में निःशुल्क प्रवेश के लिये यह लॉटरी प्रक्रिया 30 मई 2019 तक पूर्ण कर ली जायेगी।

राज्य शिक्षा केन्द्र संचालक श्री लोकेश कुमार जाटव ने इस अवसर पर बताया कि इस अधिनियम के अंतर्गत सर्वाधिक बच्चों को मध्यप्रदेश में प्रवेश दिलवाया गया है। इस दौरान एन.आई.सी. और राज्य शिक्षा केन्द्र के अनेक अधिकारी भी उपस्थित थे।


राजेश पाण्डेय
Post a Comment

राज्यपाल ने देखी आँगनवाड़ी केन्द्र, स्कूल और अस्पताल की व्यवस्थाएँ
13 जुलाई को इंदौर में होगा माइन्स एण्ड मिनरल्स पर आधारित चौथा नेशनल कॉन्क्लेव
पर्यावरण बचाने के लिये सोलर एनर्जी है प्रभावी विकल्प - मुख्यमंत्री श्री चौहान
प्रदेश में 15 जुलाई से चलेगा पौधा रोपण अभियान: मुख्यमंत्री श्री चौहान
मासूम बालिकाओं से दुराचार के मामलों में फांसी की सजा सुनिश्चित करवाई जाये
मुख्यमंत्री श्री चौहान ने की कुलदेवी और माँ नर्मदा की पूजा-अर्चना
मध्यप्रदेश में छोटे उद्योगों का विस्तार एक महत्वपूर्ण उपलब्धि - मंत्री डॉ. मिश्र
जनसम्पर्क मंत्री डॉ. मिश्र दतिया में देंगे हितग्राहियों को प्रमाण-पत्र
मंत्री सुश्री महदेले द्वारा स्व. स्वामी लोधी को श्रद्धांजलि
आर.टी.ई. में 2 लाख 50 हजार बच्चों को प्रायवेट स्कूलों में मिलेगा निःशुल्क प्रवेश
स्कूल शिक्षा मंत्री श्री शाह ने नवीन स्कूल का किया निरीक्षण
मुख्यमंत्री युवा उद्यमी, कृषक उद्यमी तथा स्वरोजगार योजना से लाभान्वित होंगे महिला स्व-सहायता समूह
ग्लोबल स्किल पार्क में अगस्त से शुरू होगी ट्रेनिंग
29 अगस्त को सभी स्कूलों में होगा आ-खेलें जरा" कार्यक्रम
ऊर्जा अधोसंरचना विकास पर्व पर 4500 करोड़ से अधिक कार्यो का शिलान्यास और लोकार्पण
सरल बिजली एवं बिल माफी स्कीम में अब तक 39 लाख हितग्राहियों ने कराया पंजीयन
मानसून में बिजली की समस्याओं का तत्काल निराकरण करने के निर्देश
राजस्व मंत्री ने वार्ड-25 और 29 में बाँटे संबल योजना के पंजीयन प्रमाण-पत्र
प्रदेश के 9 जिलों में सामान्य से अधिक और 22 जिलों में सामान्य वर्षा दर्ज
मछली पालन और पशुपालन से करोड़पति बने वर्मा बंधु
बकाया बिजली बिल माफी से गरीबों के घर फिर हुए रौशन
मासूम नमन को मुख्यमंत्री बाल हदय उपचार योजना से मिला नया जीवन
नगरीय निकायों के आम निर्वाचन स्थगित
प्रदेश में 11 जुलाई को मनाया जाएगा ऊर्जा विकास पर्व
मध्यप्रदेश का 52वाँ जिला बनेगा निवाड़ी
मुख्यमंत्री युवा स्व-रोजगार योजना से स्वावलम्बी बनते लोग
1