आज के समाचार

पिछला पृष्ठ

मंत्री श्री पवैया हिन्दी भाषा कार्यशाला का 9 मार्च को करेंगे शुभारंभ

 

भोपाल : गुरूवार, मार्च 8, 2018, 17:31 IST
 

उच्च शिक्षा मंत्री श्री जयभान सिंह पवैया हिन्दी भाषा में तकनीकी, चिकित्सा एवं वैज्ञानिक लेखन, अनुवाद एवं प्रकाशन विषय पर दो दिवसीय कार्यशाला का शुभारंभ 9 मार्च को सुबह 10 बजे करेंगे। कार्यशाला अटल बिहारी वाजपेयी हिन्दी विश्वविद्यालय और मध्यप्रदेश विज्ञान एवं प्रौद्योगिकी परिषद के तत्वाधान में नेहरू नगर विज्ञान भवन में होगी।

हिन्दी विश्वविद्यालय के कुलसचिव डॉ. एस.के. पारे ने बताया कि कार्यशाला में वैज्ञानिक तकनीकी शब्दावली आयोग नई दिल्ली के अध्यक्ष श्री अवनीश कुमार, मध्यप्रदेश विज्ञान एवं प्रौद्योगिकी परिषद के महानिदेशक डॉ. नवीन चन्द्रा और हिन्दी विश्वविद्यालय के कुलपति प्रो. रामदेव भारद्वाज विभिन्न सत्र को सम्बोधित करेंगे।


दुर्गेश रायकवार
दिव्यांगों को शिक्षित करने वाले शिक्षक माता-पिता तुल्य- राज्यपाल श्रीमती पटेल
प्रदेश में विकास के लिये जो भी संभव होगा राज्य सरकार करेगी
कामकाजी महिलाओं के लिये निजी भवनों में संचालित होंगे वसति गृह
म.प्र में बनेगा मुख्यमंत्री महिला कोष : मुख्यमंत्री श्री चौहान
लोकसभा-विधानसभा निर्वाचन एक साथ कराने राज्य स्तरीय समिति गठित
गृह मंत्री ने गाड़ी रोककर किया महिला सुरक्षाकर्मी का सम्मान
सड़क सुरक्षा परिषद की बैठक 13 मार्च को
इन्दौर में 12 मार्च से तीन दिवसीय संगीत समारोह राग अमीर
पन्ना के दो प्राचीन स्मारक घोषित होंगे राज्य संरक्षित स्मारक
मंत्री श्री पवैया हिन्दी भाषा कार्यशाला का 9 मार्च को करेंगे शुभारंभ
सिर्फ महिलाओं को 60 हजार आबादी को 24 घंटे बिजली देने का जिम्मा
अंतर्राष्ट्रीय महिला दिवस पर उल्लेखनीय उपलब्धि के लिये महिलाएँ सम्मानित
सौभाग्य योजना से 9.64 गरीबों को मिले नि:शुल्क बिजली कनेक्शन
महिला सम्मान को अपने आचार-विचार में लायें : मंत्री श्री उमाशंकर गुप्ता
राष्ट्रीय लोक अदालत 14 अप्रैल को
उप सचिव श्री गिरीश कुमार शर्मा प्रशासन अकादमी, मसूरी में प्रतिनियुक्ति पर पदस्थ
कल तक सब्जी बेचने वाले मनोज बने दुकान के मालिक
एन.सी.सी. राज्य प्रकोष्ठ की कार्यालयीन समयावधि घोषित
प्रावधिक रूप से 233 शासकीय आवास आवंटित
मध्यप्रदेश में महिलाओं ने बनाई नई पहचान
कैक्टस चारे से दुग्ध उत्पादन में हो रही वृद्धि
5 से 16 अप्रैल के बीच होगी वैष्णो देवी, कामाख्या और पुरी तीर्थ की यात्रा
1