आज के समाचार

पिछला पृष्ठ

मध्यप्रदेश में लोकतंत्र के महापर्व का दूसरा चरण 17 अप्रैल को

एक करोड़ 67 लाख मतदाता डालेंगे वोट
54 निर्दलीय सहित 142 उम्मीदवार चुनाव मैदान में
सबसे अधिक 28 भोपाल और सबसे कम 6 उम्मीदवार राजगढ़ में
चुनाव वाले 19 जिले में सुरक्षा की चाक-चौबंद व्यवस्था
1.20 लाख मतदानकर्मी करायेंगे चुनाव
 

भोपाल : बुधवार, अप्रैल 16, 2014, 19:53 IST

मध्यप्रदेश में 16वीं लोकसभा के लिये होने जा रहे चुनाव का दूसरा चरण 17 अप्रैल को होगा। इस चरण में 10 संसदीय क्षेत्र मुरैना, भिण्ड, ग्वालियर, गुना, सागर, टीकमगढ़, दमोह, खजुराहो, भोपाल और राजगढ़ में एक करोड़ 67 लाख 12 हजार 806 मतदाता अपने मताधिकार का उपयोग करेंगे। इनमें पुरूष मतदाताओं की संख्या 89 लाख 95 हजार 733, महिला मतदाताओं की संख्या 77 लाख 16 हजार 647 और अन्य मतदाताओं की संख्या 426 है। इसके अलावा 9 हजार 357 सर्विस वोटर और 3 एनआरआई वोटर भी हैं। दस संसदीय क्षेत्र में 142 उम्मीदवार चुनाव लड़ रहे हैं। इसमें सर्वाधिक 28 भोपाल और सबसे कम 6 उम्मीदवार राजगढ़ में चुनाव मैदान में उतरे हैं। इन चुनावों में 11 महिला उम्मीदवार भी चुनाव लड़ रही हैं। सभी क्षेत्रों में सुरक्षा की चाक-चौबंद व्यवस्था की गई है। संसदीय क्षेत्रों के जिलों को अन्य जिलों और राज्यों को जोड़ने वाली सीमाओं को सील कर दिया गया है। सी.ए.पी.एफ. (सेन्ट्रल आर्म्स पुलिस फोर्स) की 104 कम्पनी, एसएएफ की 50 कम्पनी के अलावा अन्य पुलिस बल भी तैनात रहेगा। संसदीय क्षेत्रों में 18 हजार 796 मतदान केन्द्रों में मतदान कराने के लिये एक लाख 20 हजार 431 मतदानकर्मी तैनात किये गये हैं।

कहाँ कितने मतदाता

संसदीय क्षेत्र

पुरूष

महिला

अन्य

कुल मतदाता

मुरैना

936946

763553

37

1700536

भिण्ड (अजा)

890654

707275

26

1597955

ग्वालियर

1021580

851960

118

1873658

गुना

857240

748246

21

1605507

सागर

814826

704421

57

1519304

टीकमगढ़ (अजा)

820246

708139

26

1528411

दमोह

882581

768650

34

1651265

खजुराहो

906966

795332

21

1702319

भोपाल

1037899

997413

67

1955379

राजगढ़

826795

751658

19

1578472

कुल

8995733

7796647

426

16712806

दूसरे चरण के 10 संसदीय क्षेत्रों में मतदाताओं की संख्या वाला सबसे बड़ा संसदीय क्षेत्र भोपाल है, जहाँ वोटर की संख्या 19 लाख 55 हजार 379 है। सागर कम मतदाताओं की संख्या वाला क्षेत्र है जहाँ 15 लाख 19 हजार 304 वोटर हैं।

अन्य संसदीय क्षेत्रों में मुरैना में 17 लाख 536 मतदाताओं में 9 लाख 36 हजार 946 पुरूष, 7 लाख 63 हजार 553 महिला और 37 अन्य मतदाता शामिल हैं। भिण्ड में 15 लाख 97 हजार 955 मतदाताओं में 8 लाख 90 हजार 654 पुरूष, 7 लाख 7 हजार 275 महिला एवं 26 अन्य मतदाता हैं। ग्वालियर में 18 लाख 73 हजार 658 मतदाताओं में से 10 लाख 21 हजार 580 पुरूष, 8 लाख 51 हजार 960 महिला एवं 118 अन्य मतदाता वोट डालेंगे। गुना में 16 लाख 5 हजार 507 मतदाताओं में से 8 लाख 57 हजार 240 पुरूष, 7 लाख 48 हजार 246 महिला एवं 21 अन्य शामिल हैं। सागर में 15 लाख 19 हजार 304 वोटर में से 8 लाख 14 हजार 826 पुरूष एवं 7 लाख 4 हजार 421 महिला एवं 57 अन्य सम्मिलित हैं। टीकमगढ़ 15 लाख 28 हजार 411 मतदाताओं में 8 लाख 20 हजार 246 पुरूष, 7 लाख 8 हजार 139 महिला व 26 अन्य वोटर मताधिकार का उपयोग करने जा रहे हैं।

दमोह में 16 लाख 51 हजार 265 में से 8 लाख 82 हजार 581 पुरूष, 7 लाख 68 हजार 650 महिला एवं 34 अन्य मतदाता वोट डालेंगे। खजुराहो में 17 लाख 2 हजार 319 मतदाताओं में से पुरूष 9 लाख 6 हजार 966, महिला 7 लाख 95 हजार 322 एवं 21 अन्य मतदाता मताधिकार का उपयोग करेंगे। भोपाल संसदीय क्षेत्र में 19 लाख 55 हजार 379 मतदाताओं में से 10 लाख 37 हजार 899 पुरूष, 9 लाख 97 हजार 413 महिला एवं 67 अन्य मतदाता मतदान करेंगे। राजगढ़ में 15 लाख 78 हजार 472 मतदाताओं में शामिल 8 लाख 26 हजार 795 पुरूष, 7 लाख 51 हजार 658 महिला एवं 19 अन्य मतदाता भी वोट डालेंगे।

इन संसदीय क्षेत्रों में 18-19 आयु वर्ग के 5 लाख 55 हजार 871 युवा मतदाता अपने मताधिकार का उपयोग करेंगे। इसी तरह 20-29 आयु वर्ग के 51 लाख 73 हजार 548 युवा मतदाता मतदान करेंगे। इस प्रकार दूसरे चरण में 57 लाख 29 हजार 419 युवा मतदाता अपने मताधिकार का उपयोग करेंगे। इनमें पुरूष 31 लाख 94 हजार 622 एवं 25 लाख 34 हजार 568 महिला तथा 229 अन्य मतदाता शामिल हैं।

कहाँ से कितने उम्मीदवार

संसदीय क्षेत्र

2014

2009

मुरैना

17

24

भिण्ड (अजा)

9

13

ग्वालियर

21

23

गुना

11

18

सागर

10

12

टीकमगढ़ (अजा)

13

17

दमोह

10

21

खजुराहो

17

15

भोपाल

28

23

राजगढ़

6

9

कुल

142

175

उम्मीदवार 

दूसरे चरण के 10 संसदीय क्षेत्र में 142 उम्मीदवार चुनाव लड़ रहे हैं। भोपाल संसदीय क्षेत्र में सबसे अधिक 28 तथा सबसे कम 6 उम्मीदवार राजगढ़ से चुनाव मैदान में उतरे हैं। अन्य संसदीय क्षेत्र मुरैना में 17, भिण्ड (अजा) में 9, ग्वालियर में 21, गुना में 11, सागर में 10, टीकमगढ़ (अजा) में 13, दमोह में 10, खजुराहो में 17 उम्मीदवार लोकसभा चुनाव लड़ने जा रहे हैं। वर्ष 2009 के लोकसभा चुनाव में इन्हीं संसदीय क्षेत्र में 175 उम्मीदवार चुनाव मैदान में उतरे थे। भिण्ड और टीकमगढ़ अनुसूचित जाति वर्ग के लिये आरक्षित संसदीय क्षेत्र हैं।

दूसरे चरण के निर्वाचन में राष्ट्रीय स्तर पर मान्यता प्राप्त 6 राजनैतिक दलों के अलावा 33 अन्य रजिस्टर्ड राजनैतिक दल भी चुनाव लड़ रहे हैं। इसके अलावा 54 निर्दलीय उम्मीदवार भी अपना भाग्य आजमायेंगे। दूसरे चरण में भारतीय जनता पार्टी, बहुजन समाज पार्टी और इण्डियन नेशनल कांग्रेस के 10-10, कम्युनिस्ट पार्टी ऑफ इण्डिया के 2, कम्युनिस्ट पार्टी ऑफ इण्डिया (मार्क्सवादी-लेनिनिस्ट) का एक उम्मीदवार चुनाव लड़ रहा है। चार ऐसे संसदीय क्षेत्र हैं जहाँ 16 उम्मीदवार से अधिक चुनाव लड़ रहे हैं। इनमें मुरैना में 17, ग्वालियर में 21, खजुराहो में 17 और भोपाल में 28 शामिल है।

राजनैतिक दल और उम्मीदवार

भाजपा

बसपा

इनेकां

सीपीआई

सीपीआई (एम)

एनसीपी

पंजीबद्ध राजनैतिक दल

निर्दलीय

10

10

10

2

1

0

55

54

 

142

 पंजीबद्ध अन्य राजनैतिक दलों में आम आदमी पार्टी के 10, समाजवादी पार्टी के 6, राष्ट्रीय समता दल के 3, ऑल इण्डिया फारवर्ड ब्लॉक, अपना दल, बहुजन मुक्ति पार्टी, भारतीय जनयुग पाटी, भारतीय शक्ति चेतना पार्टी, सोशलिस्ट यूनिटी सेन्टर ऑफ इण्डिया (कम्युनिस्ट) के 2-2 तथा अखिल भारत हिन्दू महासभा, अल-हिन्द पार्टी, ऑल इण्डिया त्रिमूल कांग्रेस, बहुजन संघर्ष दल, भारतीय नवयुवक पार्टी, भारतीय राष्ट्रीय मजदूर दल, वृहतर भारत प्रजातंत्र सेवा पार्टी, बुन्देलखण्ड कांग्रेस, सीपीआई (एम) रेड स्टार, गोंडवाना गणतंत्र पार्टी, जय महाभारत पार्टी, जन-न्याय दल, लोकतांत्रिक समाजवादी पार्टी, महानवादी पार्टी, नया दौर पार्टी, पीस पार्टी, पूर्वांचल राष्ट्रीय कांग्रेस, प्रजातांत्रिक समाधान पार्टी, प्रोटिस्ट सर्व समाज, राष्ट्रीय अहिंसा मंच, समता समाधान पार्टी, समता विकास पार्टी, शिवसेना और सोशल डेमोक्रेटिक पार्टी ऑफ इण्डिया के एक-एक प्रत्याशी लोकसभा निर्वाचन के लिये संसदीय क्षेत्र से उम्मीदवार हैं।

दूसरे चरण में चुनाव लड़ रहे 54 निर्दलीय उम्मीदवारों में सबसे अधिक 11 भोपाल में और सबसे कम एक भिण्ड में चुनाव मैदान में हैं। इसके अलावा मुरैना में 7, ग्वालियर में 6, गुना में 7, सागर में 4, टीकमगढ़ में 6, दमोह में 5, खजुराहो में 5 और राजगढ़ में 2 उम्मीदवार चुनाव मैदान में उतरे हैं।

दस संसदीय क्षेत्र में 11 महिला उम्मीदवार भी चुनाव मैदान में उतरी हैं। इनमें सर्वाधिक भोपाल और भिण्ड संसदीय क्षेत्र से 3-3 महिला चुनाव लड़ रही हैं। अन्य संसदीय क्षेत्र में ग्वालियर से 2, सागर, टीकमगढ़ और खजुराहो से एक-एक महिला उम्मीदवार चुनाव मैदान में उतरी हैं।

महिला उम्मीदवार

उम्मीदवार

दल

संसदीय क्षेत्र

आयु

श्रीमती इमरती देवी

इनेकां

भिण्ड

38

सुश्री अनिता हितेन्द्र चौधरी

समाजवादी पार्टी

भिण्ड

38

सुश्री कृष्णा देवी

आम आदमी पार्टी

भिण्ड

35

सुश्री गीता राजपूत

अल-हिन्द पार्टी

ग्वालियर

38

सुश्री नीलम अग्रवाल

आम आदमी पार्टी

ग्वालियर

38

सुश्री सरोज कटियार कुर्मी

बसपा

सागर

37

डॉ. अम्बेश कुमारी अहिरवार

समाजवादी पार्टी

टीकमगढ़

38

श्रीमती दुर्गा शर्मा

बुन्देलखण्ड कांग्रेस

खजुराहो

51

श्रीमती रचना ढींगरा

आम आदमी पार्टी

भोपाल

36

श्रीमती शीबा मलिक

समाजवादी पार्टी

भोपाल

47

सुश्री प्रभावती शाक्य खोत

निर्दलीय

भोपाल

54

इनमें इण्डियन नेशनल कांग्रेस से श्रीमती इमरती देवी (भिण्ड), समाजवादी पार्टी से सुश्री अनिता हितेन्द्र चौधरी (भिण्ड), डॉ. अम्बेश कुमारी अहिरवार (टीकमगढ़), श्रीमती शीबा मलिक (भोपाल), आप पार्टी की सुश्री कृष्णा देवी (भिण्ड), सुश्री नीलम अग्रवाल (ग्वालियर), श्रीमती रचना ढींगरा (भोपाल), अल-हिन्द पार्टी की सुश्री गीता राजपूत (ग्वालियर), बहुजन समाज पार्टी की सुश्री सरोज कटियार कुर्मी (सागर), बुन्देलखण्ड कांग्रेस की श्रीमती दुर्गा शर्मा (खजुराहो) और निर्दलीय सुश्री प्रभावती शाक्य खोत (भोपाल) शामिल हैं। 54 निर्दलीय उम्मीदवारों में मात्र एक महिला उम्मीदवार निर्दलीय है। जबकि वर्ष 2009 में हुए लोकसभा निर्वाचन में इन संसदीय क्षेत्रों में 9 महिला उम्मीदवारों ने चुनाव लड़ा था।

सुरक्षा व्यवस्था

दस संसदीय क्षेत्र में कड़ी सुरक्षा के पुख्ता इंतजाम किये गये हैं। भिण्ड, मुरैना और ग्वालियर सहित अन्य क्षेत्र में सी.ए.पी.एफ. (सेन्ट्रल आर्म्स पुलिस फोर्स) की 104 कम्पनी तैनात की गई है। इसके अलावा एसएएफ की 50 कम्पनी भी इन क्षेत्रों में सुरक्षा का मोर्चा संभालेंगी। लगभग 2852 पुलिस अधिकारी, 16 हजार 309 प्रधान आरक्षक/आरक्षक, 10 हजार 789 होमगार्ड के जवान तथा 18 हजार 790 विशेष पुलिस अधिकारी (एसपीओ) सुरक्षा की चाक-चौबंद व्यवस्था रखेंगे। अंतर्राज्यीय सीमाओं वाले जिले में भी कड़ी चौकसी रहेगी। संसदीय क्षेत्रों से जोड़ने वाली सीमाओं पर नाकेबंदी की गई है। बिना तलाशी के वाहनों को वहाँ गुजरने नहीं दिया जा रहा है। वल्नरेबल मेपिंग के तहत 2026 मजरे-टोलो की पहचान कर 37 हजार 202 मतदाताओं को चिन्हांकित किया गया है। इन क्षेत्रों में एक लाख 63 हजार 8 लायसेंसी शस्त्रों को जमा कराया गया है। सीआरपीसी की धारा 107 के तहत 93 हजार 332 व्यक्तियों को बाउण्ड ओवर किया गया है। मतदान के दिन भी 240-240 फ्लाइंग स्कवाड और एसएसटी, 378 क्यूआरटी (क्विक रिस्पांस टीम), 238 नाका तथा 1680 सेक्टर पुलिस मोबाइल तैनात रहेंगी।

क्रिटिकल मतदान केन्द्र की वेब-कास्टिंग

मतदान के दिन 18 हजार 796 मतदान केन्द्रों में से क्रिटिकल श्रेणी के 546 मतदान केन्द्रों में वेबकास्टिंग करवाई जायेगी। इन केन्द्रों में वेब कैमरे द्वारा प्रत्येक गतिविधि पर नजर रखी जायेगी। वेब-कास्टिंग वाले मतदान केन्द्रों की गतिविधियों को मुख्य निर्वाचन पदाधिकारी मध्यप्रदेश की वेबसाइट www.ceomadhyapradesh.nic.in पर मतदान के दिन देखा जा सकेगा। दस संसदीय क्षेत्र के अंतर्गत शामिल 19 जिलों में क्रिटिकल मतदान केन्द्रों की संख्या 6 हजार 42 है। इन मतदान केन्द्रों में कड़ी सुरक्षा की दृष्टि से सीएपीएफ (सेन्ट्रल आर्म्स पुलिस फोर्स) का अमला तैनात होगा, जिनकी संख्या 2 हजार 845 है। क्रिटिकल मतदान केन्द्रों में सुरक्षा के मद्देनजर 4 हजार 462 माइक्रो आब्जर्वर, 484 स्टिल कैमरा और 2 हजार 962 वीडियोग्राफी की व्यवस्था भी की गई है। इस प्रकार कुल मिलाकर 6 हजार 42 क्रिटिकल मतदान केन्द्र माइक्रो आब्जर्वर, स्टिल कैमरा, वीडियोग्राफी दल और वेबकास्टिंग के दायरे में रहेंगे।

मतदानकर्मी

मतदान सम्पन्न कराने के लिये नियुक्त एक लाख 20 हजार 431 मतदानकर्मियों ने 92 हजार 202 शासकीय कर्मचारी, 23 हजार 375 पुलिसकर्मी, 4 हजार 854 ड्रायवर-कंडक्टर तैनात किये गये हैं। इसके अलावा 14 सामान्य प्रेक्षक, 10 निर्वाचन व्यय प्रेक्षक, 80 सहायक निर्वाचन व्यय प्रेक्षक, 4460 माइक्रो आब्जर्वर भी तैनात किये गये हैं।

मतदान केन्द्र/ईवीएम

दस संसदीय क्षेत्र में 18 हजार 796 मतदान केन्द्र स्थापित किये गये हैं। इसमें 313 सहायक मतदान केन्द्र भी सम्मिलित हैं। सर्वाधिक 1977 मतदान केन्द्र भोपाल संसदीय क्षेत्र में और सबसे कम 1612 टीकमगढ़ में हैं। इसके अलावा मुरैना में 1882, भिण्ड में 1846, ग्वालियर में 1996, गुना में 1911, सागर में 1811, दमोह में 1967, खजुराहों में 1864 और राजगढ़ में 1930 मतदान केन्द्र स्थापित किये गये हैं। दूसरे चरण में कुल 29 हजार 200 बैलेट यूनिट (ईवीएम) और 20 हजार 711 कंट्रोल यूनिट (सीयू) उपयोग में लाई जायेंगी।


प्रलय श्रीवासतव
मतदान प्रारंभ होने के एक घंटे पहले होगा मॉक पोल
चुनाव में उम्मीदवार की फिल्मों का प्रदर्शन दूरदर्शन पर नहीं
मध्यप्रदेश में लोकतंत्र के महापर्व का दूसरा चरण 17 अप्रैल को
मॉनीटरिंग कमेटी का गठन
समिति का गठन
नि:शक्त मित्रों को दिया गया प्रशिक्षण
सीइओ कार्यालय में द्वितीय चरण के मतदान की प्रेस ब्रीफिंग
केवल दस बाय दस का टेन्ट लगा सकेंगे
ए.एस.डी.सूची में शामिल मतदाता घोषणा पत्र देकर ही कर सकेंगे मतदान
मतदान के पूर्व मॉक पोल सुबह 6 बजे शुरू होगा
मतदाता जान सकेंगे एस.एम.एस. द्वारा वोटर लिस्ट में अपनी स्थिति
दूसरे चरण के 10 संसदीय क्षेत्र में सवैतनिक अवकाश की सुविधा
मतदान केन्द्र के 200 मीटर परिधि के बाहर टेंट लगाने की अनुमति
चुनाव ड्यूटी में घायल सुरक्षाकर्मी को बेहतर इलाज देने के निर्देश
मुख्य सचिव श्री डिसा द्वारा इंदौर-उज्जैन संभाग में निर्वाचन तैयारियों की समीक्षा
राज्यपाल श्री यादव करेंगे मतदान
दूसरे चरण में 546 मतदान केन्द्र पर वेब-कास्टिंग होगी
मुख्य निर्वाचन पदाधिकारी श्री जयदीप गोविन्द शिवाजी नगर के मतदान केन्द्र में करेंगे मतदान
मतदान दिवस पर वैकल्पिक दस्तावेज प्रस्तुत करने की सुविधा
1