दिनांक
विभाग
भोपाल : मंगलवार, अक्टूबर 30, 2018, 19:18 IST

मध्यप्रदेश स्थापना दिवस पर एक नवम्बर को होंगे कार्यक्रम

जीएडी ने जारी किये निर्देश

मध्यप्रदेश स्थापना दिवस पर एक नवम्बर को जिला मुख्यालय पर कार्यक्रम होंगे। इस संबंध में सामान्य प्रशासन विभाग ने जिला कलेक्टर्स को निर्देश जारी किये हैं। राजधानी भोपाल में मध्यप्रदेश स्थापना दिवस पर भोपाल के रवीन्द्र भवन में संस्कृति विभाग द्वारा सांस्कृतिक संध्या का भी आयोजन किया गया है।

जिला मुख्यालय पर प्रात: 9 बजे जिला कलेक्टर द्वारा राष्ट्रीय ध्वज फहराया जायेगा। इसके बाद राष्ट्रीय-गान होगा। स्थापना दिवस के मौके पर सांस्कृतिक कार्यक्रम भी आयोजित होंगे। जिला मुख्यालय पर होने वाले कार्यक्रम का समापन मध्यप्रदेश-गान से होगा।

वल्लभ भाई पटेल पार्क में होगा राष्ट्रीय-गान

मध्यप्रदेश स्थापना दिवस के मौके पर एक नवम्बर को प्रात: 11 बजे भोपाल में मंत्रालय के सामने वल्लभ भाई पटेल पार्क में राष्ट्रीय-गान होगा। साथ ही, प्रति माह की भाँति वंदे-मातरम का गायन भी होगा। मध्यप्रदेश-गान भी गाया जायेगा। कार्यक्रम में विभिन्न विभागों के शासकीय अधिकारी और कर्मचारी मौजूद रहेंगे।

स्थापना दिवस पर एक नवम्बर को शासकीय भवनों में रोशनी किये जाने के निर्देश भी जारी किये गये हैं।

मुकेश मोदी

मंत्रालय के समक्ष वंदे-मातरम गायन संपन्न
भाप्रसे के 4 अधिकारियों की नई पद-स्थापना
भाप्रसे के दो अधिकारियों को अतिरिक्त प्रभार
श्रीमती नेहा मारव्या उप सचिव सामान्य प्रशासन पदस्थ
भावसे के अधिकारियों की पदस्थापना
मुख्य सचिव की 21 जून को परख वीडियो कॉन्फ्रेंस
श्री कविन्द्र कियावत बने भोपाल संभागायुक्त
पदस्थापना
आतंकवाद विरोधी शपथ दिलाई
राज्य मंत्री श्री लाल सिंह आर्य का दौरा कार्यक्रम
मंत्रालय में द्वार क्रमांक एक से प्रवेश करें अधिकारी-कर्मचारी
भाप्रसे अधिकारियों की पदस्थापना
बैकलॉग पदों पर भर्ती शीघ्र की जाये : राज्य मंत्री श्री लाल सिंह आर्य
भाप्रसे के 23 अधिकारियों की नयी पद-स्थापना
धार जिला आबकारी अधिकारी चन्द्रावत आयुक्त कार्यालय में संबद्ध
एमपी पीएससी द्वारा महू विश्वविद्यालय के लिये एसोसिएट प्रोफेसर का विज्ञापन जारी
शासकीय परिसरों के ट्यूब-वेल्स से सार्वजनिक पेयजल आपूर्ति के निर्देश
राज्य मंत्री श्री लालसिंह आर्य ने श्री बलराम पाठक को किया सम्मानित
नगरीय निकायों में अधोसंरचना विकास के लिये 1366 करोड़ स्वीकृत
जनजातीय समाज हमें प्रकृति से जोड़ता है - राज्य मंत्री श्री लालसिंह आर्य
1