दिनांक
विभाग

सहकारी क्षेत्र में यूरिया एवं डी.ए.पी. की पर्याप्त उपलब्धता

प्रदेश में अब तक पिछले वर्ष की तुलना में दो गुना उर्वरकों का वितरण : सहकारिता मंत्री डॉ. भदौरिया

भोपाल : गुरूवार, अक्टूबर 22, 2020, 15:26 IST

सहकारिता एवं लोक सेवा प्रबंधन मंत्री डॉ. अरविन्द सिंह भदौरिया ने कहा है कि प्रदेश में सहकारी क्षेत्र के वितरण केन्द्रों में यूरिया एवं डी.ए.पी. की पर्याप्त उपलब्धता है। आज की स्थिति में वितरण/ भंडारण केन्द्रों में 2.21 लाख मीट्रिक टन उर्वरक किसानों को विक्रय के लिये उपलब्ध है। जिसमें 75 हजार टन यूरिया तथा 1.16 लाख टन डी.ए.पी. उर्वरक शामिल है। उन्होंने बताया कि इसके अतिरिक्त दिन प्रतिदिन उर्वरक निर्माताओं से रैक के माध्यम से सहकारिता क्षेत्र में यूरिया, डी.ए.पी तथा अन्य रासायनिक उर्वरकों की आवक लगातार जारी है।

सहकारिता मंत्री डॉ. भदौरिया ने बताया कि प्रदेश में सहकारिता क्षेत्र के माध्यम से गत वर्ष में एक अक्टूबर 2019 से 21 अक्टूबर 2019 तक यूरिया, डी.ए.पी. व अन्य रासायनिक उर्वरक सहित कुल मिलाकर 1.19 लाख मीट्रिक टन उर्वरकों का वितरण किया गया था, जबकि चालू वर्ष में उक्त अवधि में 2.25 लाख मीट्रिक टन उर्वरकों का विक्रय किया जा चुका है, जो कि गत वर्ष की तुलना में लगभग दो गुना है।

सहकारिता मंत्री डॉ. भदौरिया ने बताया कि वर्ष 2018-19 में रबी मौसम में एक अक्टूबर से 21 अक्टूबर की अवधि में 51 हजार 940 मीट्रिक टन, वर्ष 2019-20 में एक लाख 11 हजार 822 मीट्रिक टन तथा वर्ष 2020-2021 में एक लाख 37 हजार 828 मीट्रिक टन यूरिया का वितरण किया गया है। उन्होंने बताया कि इस प्रकार गत वर्ष की तुलना में चालू रबी मौसम में 23.26 प्रतिशत अधिक यूरिया का वितरण किया गया है। उन्होंने बताया कि सहकारी क्षेत्र के सभी वितरण केन्द्रों पर पर्याप्त मात्रा में यूरिया उपलब्ध है तथा किसानों को उनकी आवश्यकतानुसार यूरिया का वितरण किया जा रहा है।

सहकारिता मंत्री डॉ. भदौरिया ने बताया कि इसी प्रकार वर्ष 2018-19 में रबी मौसम में एक अक्टूबर से 21 अक्टूबर की अवधि में 70 हजार 572 मीट्रिक टन, वर्ष 2019-20 में 51 हजार 552 मीट्रिक टन तथा वर्ष 2020-21 में 83 हजार 171 मीट्रिक टन डी.ए.पी. का वितरण किया गया है। इस प्रकार प्रदेश में गत वर्ष की तुलना में 61.33 प्रतिशत अधिक डी.ए.पी. का वितरण किया गया है। उन्होंने बताया कि चूँकि यूरिया व डी.ए.पी. पर भारत शासन द्वारा अनुदान की सुविधा है इसलिये किसानों से प्रमाण स्वरूप एक दस्तावेज लिया जाता है। वितरण केन्द्रों पर किसानों को उर्वरकों का सुविधापूर्वक वितरण हो सके, इसलिये व्यवस्था स्वरूप पंक्ति में खड़ा किया जाता है।

श्रवण कुमार सिंह भदौरिया

सहकारिता मंत्री ने राष्ट्रपिता महात्मा गांधी व पूर्व प्रधानमंत्री श्री लाल बहादुर शास्त्री को किया नमन
सहकारिता से साकार होगा आत्मनिर्भर मध्यप्रदेश का सपना -सहकारिता मंत्री डॉ. अरविन्द भदौरिया
प्रदेश के किसानों की सेवा समर्पित भाव से करें - सहकारिता मंत्री डॉ. भदौरिया
सहकारिता मंत्री डॉ. अरविंद सिंह भदौरिया का दो दिवसीय दौरा
किसान व मजदूर आत्मनिर्भर होंगे तभी प्रदेश व देश आत्मनिर्भर बनेगा-मंत्री डॉ. भदौरिया
किसानों के कल्याण के लिए सरकार कटिबद्ध- सहकारिता मंत्री
वनाधिकार पट्टों के माध्यम से आदिवासियों को मिला भूमि का मालिकाना हक- मंत्री डॉ.भदौरिया
कृषि एवं सहकारिता के बल पर प्रदेश आत्मनिर्भर बनेगा : सहकारिता मंत्री
सहकारिता में गड़बडि़यां नहीं करेंगे बर्दाश्त
हम सभी का दायित्व, कोई भी बच्चा कुपोषित न रहे - सहकारिता मंत्री डॉ. भदौरिया
सहकारिता मंत्री डॉ. भदौरिया का गुना, अशोकनगर और शिवपुरी का दौरा
सहकारिता विभाग 69 हजार हितग्राहियों को वितरित करेगा के.सी.सी.
सहकारिता मंत्री डॉ. अरविंद सिंह भदौरिया का होशंगाबाद दौरा कार्यक्रम
सहकारिता मंत्री डॉ. अरविंद सिंह भदौरिया का दौरा कार्यक्रम
भोपाल जिले में 14 सहकारी संस्थाओं के पंजीयन निरस्त
किसानों को गुणवत्तापूर्ण खाद एवं बीज उपलब्ध करायें : मंत्री डॉ. भदौरिया
सहकारिता मंत्री डॉ. अरविंद सिंह भदौरिया का दौरा कार्यक्रम
सहकारिता मंत्री डॉ. अरविंद सिंह भदौरिया का रायसेन दौरा
गड़बड़ी करने वालों की जिम्मेदारी तय कर कठोर कार्यवाही करें
मैदानी स्तर पर सहकारिता की योजनाओं का पारदर्शी तरीके से प्रभावी क्रियान्वयन हो: मंत्री डॉ. भदौरिया
1