दिनांक
विभाग

रोजगार सेतु पोर्टल से जारी है मजदूरों को रोजगार मिलना

कौशल एवं दक्षतानुसार 38,906 श्रमिक जुड़े रोजगार से

भोपाल : रविवार, अगस्त 9, 2020, 19:37 IST

कोरोना संक्रमण काल में प्रदेश वापस लौटे प्रवासी मजदूरों को स्थानीय स्तर पर उनकी कुशलता एवं दक्षता के अनुसार रोजगार उपलब्ध करवाने के लिये रोजगार सेतु पोर्टल प्रारंभ किया गया। पोर्टल पर सभी प्रवासी मजदूरों का पंजीयन कर ऐसे नियोक्ताओं का भी पंजीयन किया गया जिन्हें काम के लिये मजदूरों की तलाश थी। मध्यप्रदेश में कारगर हुई रोजगार सेतु पोर्टल योजना में 7 लाख 30 हजार 311 प्रवासी श्रमिकों और 31 हजार 733 नियोक्ताओं का पंजीयन हो चुका है।

रोजगार सेतु के माध्यम से 38 हजार 906 प्रवासी मजदूरों को उनकी कुशलता और दक्षतानुसार विभिन्न प्रायवेट नियोक्ताओं की संस्थाओं में रोजगार मिला है। मनरेगा के कार्यों में एक लाख 94 हजार 75 प्रवासी श्रमिकों को स्थानीय स्तर पर रोजगार उपलब्ध करवाया जा रहा है। तीन लाख 58 हजार 956 ऐसे प्रवासी मजदूरों के मनरेगा अन्तर्गत जॉब कार्ड भी बनाये गये, जिनके अभी तक जॉब कार्ड नहीं थे। इनमें ऐसे श्रमिक भी शामिल हैं, जो मध्यप्रदेश के न होकर अन्य राज्यों के हैं।

गरीबों के लिये हर स्तर पर सहायता उपलब्ध करवाने वाली संबल योजना के पोर्टल पर तीन लाख 24 हजार 715 व्यक्तियों का पंजीयन, बीओसीडब्ल्यू पोर्टल पर 16 हजार 496 का पंजीयन हो चुका है। श्रमिकों की स्किल मैपिंग में 7 लाख 20 हजार 997 श्रमिकों की उनके कौशल अनुसार मैपिंग का कार्य किया गया है।

आत्मनिर्भर भारत एवं राष्ट्रीय खाद्यान्न सुरक्षा कानून के अंतर्गत 13 लाख 10 हजार 186 व्यक्तियों को खाद्यान्न वितरण किया गया। प्रवासी श्रमिकों के शाला से बाहर 75 हजार 385 बच्चों को शालाओं में प्रवेश की कार्यवाही की गई है।

लक्ष्मण सिंह

मंत्री श्री बृजेन्द्र प्रताप सिंह आवंटित शासकीय आवास में पहुँचे
संबल योजना के स्वीकृत लंबित भुगतान प्रकरणों का सत्यापन 31 तक करने के कलेक्टर्स को निर्देश
मंत्री श्री बृजेन्द्र प्रताप सिंह ने श्रम कल्याण मण्डल अध्यक्ष का कार्यभार ग्रहण किया
राज्य के श्रमिकों को राज्य में ही रोजगार मिले
रोजगार सेतु पोर्टल के माध्यम से 24862 प्रवासी श्रमिकों को मिला स्थायी रोजगार
रोजगार सेतु पोर्टल से अब 16 हजार से अधिक प्रवासी श्रमिकों को मिला रोजगार
शहरी असंगठित कामगार पोर्टल में 8 लाख से अधिक पथ व्यवसायी पंजीकृत
आत्मनिर्भरता की ओर बढ़ता मध्यप्रदेश
मनरेगा में मिला 23 लाख से ज्यादा मजदूरों को रोजगार
प्रवासी श्रमिकों के लिए जीवन का आधार बना रोजगार सेतु पोर्टल
कामगार पोर्टल संबंधी प्रशिक्षण 18 जून को
प्रदेश में मिल रहा 25 लाख से अधिक श्रमिकों को रोजगार
श्रमिकों को रोजगार के अवसर उपलब्ध कराने लगेंगे मेले
प्रवासी श्रमिकों को रोजगार उपलब्ध कराने निकायों में एन्टी फ्लड वर्क शुरू होंगे
प्रवासी श्रमिकों के सर्वे में बढ़ईगिरी के 27 हजार और ड्रायवर के रूप में 16 हजार श्रमिक चिन्हित
अब तक 5 लाख 96 हजार श्रमिक वापस
एक ही फोरम पर उपलब्ध होंगी रोजगार लेने और देने वालों की जानकारी
श्रमिकों को लेकर अब तक 137 ट्रेन आईं मध्यप्रदेश
5 लाख 87 हजार श्रमिक प्रदेश में वापस आये
मध्यप्रदेश वापस आये श्रमिकों का सर्वे अब 6 जून तक हो सकेगा
1