दिनांक
विभाग
भोपाल : सोमवार, सितम्बर 24, 2018, 20:42 IST

हाई स्कूल और हायर सेकेण्डरी स्कूलों में शैक्षणिक गुणवत्ता के लिए पुरस्कार योजना

प्रदेश में हाई स्कूल और हायर सेकेण्डरी स्कूलों में शिक्षा की गुणवत्ता में सुधार के लिए स्कूल शिक्षा विभाग ने शिक्षकों को सम्मानित करने की योजना प्रारंभ की हैं। योजना में उल्लेखनीय कार्य करने वाले शिक्षकों को 5 अक्टूबर को विश्व शिक्षक दिवस के अवसर पर सम्मानित किया जायेगा।

पुरस्कार के लिए 5 श्रेणियाँ तैयार की गई हैं। इनमें जिला स्तरीय प्रेरक सफलता की कहानी और नवाचारों की प्रतियोगिता पर तिमाही प्रशस्ति पत्र, राज्य स्तरीय प्रेरक सफलता की कहानी और नवाचार की प्रतियोगिता पर छमाही प्रशस्ति पत्र, अकादमिक मॉनीटरिंग के आधार पर सर्वश्रेष्ठ विद्यालयों को राज्य स्तरीय छमाही प्रशस्ति पत्र अकादमिक मॉनिटरिंग के आधार पर सर्वश्रेष्ठ जिले को राज्य स्तरीय छमाही प्रशस्ति पत्र और निरंतर उत्कष्टता प्रदर्शन आधारित राज्य स्तरीय निवेश आधारित छमाही पुरस्कार की श्रेणी होगी।

योजना में ऐसे हाई स्कूल तथा हायर सेकेण्डरी स्कूल शामिल होंगे, जिनके द्वारा विद्यालयों में नामांकन, ठहराव, समता और सीखने-सिखाने आदि से संबंधित अभिनव प्रयोग किए गए हों। प्राचार्य द्वारा सफलता की कहानियों को लेख अथवा विडियो के रूप में स्कूल शिक्षा विभाग के विमर्श पोर्टल पर प्रोफेशनल लर्निंग कम्युनिटी पर लिखित अथवा विडियो के रूप में साझा किया जायेगा। विकासखण्ड शिक्षा अधिकारी अपने विकासखण्ड के हाई स्कूल और हायर सेकेण्डरी स्कूलों से प्राप्त शीर्ष 5 प्रेरक सफलता की कहानी शिक्षा अधिकारी को उपलब्ध करायेंगे। जिला शिक्षा अधिकारी उन्हें प्राप्त सफलता की कहानियों में से 5 श्रेष्ठ कहानियों का चयन समिति के माध्यम से करेंगे। योजना के संबंध में जिला शिक्षा अधिकारियों को आयुक्त लोक शिक्षण द्वारा निर्देश जारी किए गये हैं।

मुकेश मोदी 

राष्ट्रीय स्कॉलरशिप परीक्षाओं के आवेदन की अंतिम तिथि 25 सितम्बर
भोपाल में राज्य स्तरीय कहानी उत्सव 8 अक्टूबर को
राज्य के बाहर प्रशिक्षण के लिये भेजे जायेंगे अधिकारी-प्राचार्य
राष्ट्रीय स्तर की खेलकूद प्रतियोगिता में मध्यप्रदेश का बेहतर प्रदर्शन
"शाला सिद्धि" और "हमारी शाला ऐसी हो" कार्यक्रम 25 हजार शालाओं में लागू
"स्वच्छता ही सेवा अभियान में होंगी स्कूलों में गतिविधियाँ
स्कूली परीक्षा परिणाम प्रतिशत में वृद्धि के लिये लक्ष्य तय होंगे
एक परिसर एक शाला के क्रियान्वयन के लिए जिला स्तरीय समिति का गठन
नि:शुल्क और अनिवार्य बाल शिक्षा अधिकार अधिनियम
स्कूल शिक्षा फीस निर्धारण पर परिचर्चा करेगा बाल संरक्षण आयोग
अशासकीय विद्यालयों में नि:शुल्क प्रवेश के लिये निर्देश जारी
शिक्षिका सुश्री कमला जमरे ने अपने खर्च से स्कूल में जुटाई सुविधाएँ
शासकीय स्कूलों के निजीकरण की कोई योजना नहीं - राज्य मंत्री श्री जोशी
प्रदेश में शाला त्यागी बच्चों की संख्या घटी
स्वच्छ विद्यालय अभियान में स्कूलों में बने 58 हजार शौचालय
मिल बाँचें मध्यप्रदेश
अध्यापक संवर्ग को शासकीय सेवकों के समान देय होंगे महँगाई भत्ते
आज पुरानी यादें ताजा हो गईं : स्कूल शिक्षा राज्य मंत्री
"मिल-बाँचें मध्यप्रदेश राज्य-स्तरीय कार्यक्रम ग्राम लाडकुई में 31 अगस्त को
बच्चों में वैज्ञानिक सोच विकसित करने के लिये स्कूलों में हों नियमित कार्यक्रम
1