दिनांक
विभाग
भोपाल : शुक्रवार, सितम्बर 21, 2018, 18:52 IST

सीपीसीटी की तैयारी पर वर्चुअल कक्षा से 22 सितम्बर को व्याख्यान

विद्यार्थियों को रोजगारोन्मुखी मार्गदर्शन उपलब्ध कराने के लिए 22 सितम्बर को 100 वर्चुअल कक्षाओं के माध्यम से सी.पी.सी.टी. (कम्प्यूटर प्रोफिशियंसी सर्टिफिकेशन टेस्ट) पर दोपहर 12 से 1 बजे तक एक घंटे का व्याख्यान आयोजित किया जायेगा। यह व्याख्यान प्रदेश के समस्त 514 शासकीय महाविद्यालयों में संचालित विवेकानन्द कैरियर मार्गदर्शन केन्द्र द्वारा आयोजित किया जा रहा है।

आईटी तथा विज्ञान एवं प्रौद्योगिकी विभाग द्वारा अभ्यर्थियों को कम्प्यूटर ऑपरेशन में दक्षता प्रमाणित करने के लिए सीपीसीटी द्वारा यह व्याख्यान आयोजित किया जाता है। इससे अभ्यर्थियों को कम्प्यूटर ऑपरेटर तथा संबंधित रोजगार प्राप्त करने और व्यवसाय में सहायता मिल सकेगी।

व्याख्यान में सीपीसीटी की महत्ता, तैयारी के लिए मार्गदर्शन, यूनिकोड प्रणाली के उपयोग और सीपीसीटी पास करने पर उपलब्ध रोजगार के अवसरों की जानकारी प्रदान की जाएगी।

संदीप कपूर

महाविद्यालय और विश्वविद्यालय के एल-2 अधिकारियों को मास्टर-ट्रेनर का प्रशिक्षण
वर्चुअल कक्षाएँ 17 से 29 सितम्बर तक
सभ्यताएँ युग के साथ बदलती हैं, मगर संस्कृति नहीं : उच्च शिक्षा मंत्री श्री पवैया
सकारात्मक दृष्टिकोण से निराकृत होती हैं समस्याएँ
वर्तमान शिक्षण सत्र से लागू मुख्यमंत्री जन-कल्याण (शिक्षा प्रोत्साहन) योजना
टूरिज्म और हॉस्पिटेलिटी में बी.बी.ए. स्नातक पाठ्यक्रम को मंजूरी
ऑनलाईन प्रवेश के लिए सी.एल.सी. का द्वितीय चरण
जनजातीय विभाग की योजनाओं का कम्प्यूटरीकरण
शासकीय महाविद्यालयों निर्धारित सीट संख्या में वृद्धि के निर्देश
दतिया में महारूद्राभिषेक में शामिल हुए मंत्री श्री पवैया
ऑनलाइन प्रवेश के लिये होगा सी.एल.सी. द्वितीय चरण: मंत्री श्री पवैया
नवीन शासकीय महाविद्यालयों में स्थानांतरित हो सकेंगे पंजीकृत विद्यार्थी
बी.एड., एम.एड. में सीट आवंटन का तृतीय चरण 17 अगस्त को
ई-प्रवेश पोर्टल से प्रवेश शुल्क जमा करने की तिथि बढ़ी
महाविद्यालयों में सीट संख्या में वृद्धि कर सकेंगे प्राचार्य: मंत्री श्री पवैया
एक्सीलेंस कॉलेज में प्रवेश के लिये 60 प्रतिशत अंक की अनिवार्यता समाप्त
बी.यू. उत्तर-पुस्तिका मामले की जाँच लोकपाल को सौंपने के निर्देश
एक अगस्त से लगेंगी वर्चुअल कक्षाएँ
आधुनिक शिक्षा व्यवस्था के लिये 31 लाख जारी
महाविद्यालयों को नवीन संकाय खोलने के लिये 18 लाख आवंटित
1