Department of Public Relation:Government of Madhya Pradesh

विशेष ग्रामसभा
असंगठित श्रमिक कल्याण योजना के हितग्राहियों को दिये जायेंगे हितलाभ

भोपाल, मध्यप्रदेश में असंगठित श्रमिकों के कल्याण के लिये ‘असंगठित श्रमिक कल्याण योजना’ चलाई जा रही है। इस योजना के पात्र हितग्राहियों को विशेष ग्रामसभाओं में हितलाभ वितरित किये जायेंगे। यह बात मुख्यमंत्री श्री शिवराज सिंह चौहान ने भोपाल जिले की बैरसिया तहसील के ग्राम गुनगा में आयोजित ‘विशेष ग्रामसभा’ को संबोधित करते हुये कही।

श्री चौहान ने कहा कि महिला स्व-सहायता समूहों को सशक्त बनाने के लिये समूहों के ऋण का 3 प्रतिशत ब्याज राज्य सरकार भरेगी। मुख्यमंत्री ने बताया कि 10 जून को इस वर्ष गेहूं विक्रय करने वाले किसानों को 265 रुपये प्रति क्विंटल की दर से प्रोत्साहन राशि दी जायेगी। उन्होंने कहा कि चना, मसूर और सरसों के समर्थन मूल्य पर भी सौ रुपये प्रति क्विंटल प्रोत्साहन राशि दी जा रही है।

मुख्यमंत्री श्री चौहान ने कहा कि श्रमिकों के कल्याण के लिये राज्य सरकार द्वारा असंगठित श्रमिक कल्याण योजना बनाई गई है। इस योजना से श्रमिकों के परिवार के सदस्यों को शासन की विभिन्न योजनाओं के सभी लाभ दिये जायेंगे। श्रमिकों को रहने के लिये जमीन का पट्टा दिया जायेगा और अगले चार वर्षों में सभी को पक्के मकान बनवाकर दिये जायेंगे।

मुख्यमंत्री ने ग्रामीणों, विशेषकर श्रमिकों से कहा कि अपने बच्चों को खूब पढ़ायें। प्रधानमंत्री श्री नरेन्द्र मोदी के स्वच्छता अभियान में सहयोग करें। पानी बचायें और पौधे लगायें। सब मिलकर एक नया मध्यप्रदेश बनायें। मुख्यमंत्री ने इस अवसर पर गरीब हितग्राहियों और श्रमिकों को विभिन्न योजनाओं के हितलाभ वितरित किये।