Department of Public Relation:Government of Madhya Pradesh

 
प्रदेश के पांच मेडिकल कॉलेजों में स्थापित होगी बर्न यूनिट
 

भोपाल, मध्यप्रदेश में अग्नि-दुर्घटना से पीड़ित मरीजों के सुचारु उपचार के लिये व्यापक व्यवस्थाएँ सुनिश्चित की जा रही हैं। इस समस्या से निपटने के लिये प्रदेश के पांच मेडिकल कॉलेजों भोपाल, इंदौर, जबलपुर, रीवा और ग्वालियर में ‘बर्न यूनिट’ की स्थापना भारत सरकार की एनपीपीएमबीआई योजना के अंतर्गत की जा रही है। इन बर्न यूनिटों की स्थापना पर 20 करोड़ रुपये व्यय किये जा रहे हैं।

देश के करीब 70 लाख लोग प्रति वर्ष विभिन्न घटनाओं में जल जाते हैं। इनमें से करीब सात लाख लोगों को अस्पताल में भर्ती कर इलाज किया जाता है। इनमें से भी दो लाख 40 हजार लोग गंभीर जटिलताओं के कारण निष्क्रिय हो जाते हैं।

मेडिकल कॉलेज में प्रस्तावित बर्न यूनिट की प्रत्येक इकाई में 12 बिस्तरीय वार्ड के साथ चार बिस्तरीय की आईसीयू और ओटी भी स्थापित की जा रही है। इस यूनिट में अग्नि-दुर्घटना से घायल मरीजों की देखभाल के लिये प्रशिक्षित नर्स, पैरामेडिकल वर्कर्स, सामान्य शल्य चिकित्सक के अलावा बर्न प्लास्टिक सर्जन भी उपलब्ध रहेंगे।

यह यूनिट मरीजों को पुनर्वास और फिजियोथैरेपी जैसी सेवायें भी उपलब्ध करवायेगी। इस यूनिट से आम जनता को राहत पहुंचाने की व्यवस्था की जानकारी आम लोगों तक पहुंचाने के लिये समय-समय पर कार्यक्रम भी आयोजित किये जायेंगे।