Department of Public Relation:Government of Madhya Pradesh

रोहिंग्या शरणार्थी
म्यांमार और संयुक्त राष्ट्र के बीच हुआ करार

संयुक्त राष्ट्र और म्यांमार के बीच रोहिंग्या शरणार्थियों की वापसी, सुरक्षा और उनकी सेवाओं, आजीविका और रहने के स्थल को लेकर करार हुआ है। म्यांमार में संयुक्त राष्ट्र के रेजीडेंट एंड ह्यूमैनिटेरियन को-ऑर्डिनेटर के. ओस्तबी ने कहा कि यह समझौता इस संकट के समाधान में पहला महत्वपूर्ण पड़ाव साबित होगा। संयुक्त राष्ट्र ने करार पर हस्ताक्षर के बाद कहा कि समझौता उसके शरणार्थी और विकास एजेंसियों को रखाइन प्रांत तक पहुँच प्रदान करेगा।
      इस सहमति-पत्र में एक सहयोग की रूपरेखा बनाने पर सहमति बनी है।
      इस समझौते के जरिए तकरीबन 7 लाख रोहिंग्या शरणार्थियों की वापसी में मदद मिल सकेगी।
ये रोहिंग्या शरणार्थी बांग्लादेश में अस्थायी शिविरों में निवास करते हैं।