Department of Public Relation:Government of Madhya Pradesh

स्टार्टअप इंडिया
युवा उद्यमियों के लिये सरकार ने बनाया ‘फंड ऑफ फंड्स’

नई दिल्ली, केंद्र सरकार युवाओं को बढ़ावा देने के लिये प्रतिबद्ध है। युवा उद्यमियों को स्टार्टअप के लिये पूंजी की कमी ना पड़े इसलिये सरकार ने 10 हजार करोड़ रुपये का ‘फंड ऑफ फंड्स’ बनाया है। इस फंड से युवाओं को नवाचार के लिये राशि उपलब्ध कराई जायेगी। यह बात प्रधानमंत्री श्री नरेन्द्र मोदी ने नई दिल्ली में देश भर के युवा स्टार्टअप उद्यमियों से वीडियो ब्रिज के माध्यम से संवाद करते हुये कही।

प्रधानमंत्री ने आगे कहा कि स्टार्टअप की सफलता के लिये पर्याप्त पूंजी, साहस और लोगों से जुड़ना जरूरी है। प्रधानमंत्री ने कहा कि उस समय की तुलना में अब चीजें बदल गयी हैं, जबकि स्टार्टअप का मतलब केवल डिजिटल और तकनीक पर आधारित नवाचार था। उन्होंने कहा कि अब विविध क्षेत्रों में स्टार्टअप उद्यमी हैं। स्टार्टअप 29 राज्यों, 6 संघीय क्षेत्रों और 419 जिलों में दर्ज किये गये हैं। इनमें से 44 प्रतिशत स्टार्टअप द्वितीय एवं तृतीय श्रेणी के शहरों में पंजीकृत किये गये हैं। स्टार्टअप इंडिया उनके क्षेत्रों में नवाचारों को प्रोत्साहित करने पर ध्यान दे रहा है। इसके अलावा 45 प्रतिशत स्टार्टअप महिलाओं द्वारा शुरू किये गये हैं।

श्री मोदी ने बताया कि उनकी सरकार के कार्यकाल में पेटेंट और ट्रेडमार्क के लिये आवेदन करना आसान हो गया है। सरकार ने ट्रेडमार्क के आवेदन के लिये 74 फार्मों की जरूरत को घटाकर 8 कर दिया है जिसका नतीजा है कि पिछली सरकार की तुलना में पिछले तीन सालों में ट्रेडमार्क के पंजीकरण में तीन गुना की बढ़त हुई है।

स्टॉर्टअप पारिस्थितिकी तंत्र को मजबूत बनाने के लिये सरकार द्वारा उठाये गये कदमों की जानकारी देते हुये प्रधानमंत्री ने कहा कि गवर्नमेंट ई-मार्केट प्लेस (जीईएम) को स्टार्टअप इंडिया पोर्टल से जोड़ दिया गया है, ताकि र्टअप अपने उत्पाद सरकार को बेच सकें।

  • फंड ऑफ फंड्स के जरिये युवाओं को अब तक 1 हजार 285 करोड़ रुपये उपलब्ध कराये गये।
  • युवाओं में शोध और नवाचार को बढ़ावा देने के लिये 8 शोध पार्क और 2500 अटल टिंकरिंग लैब्स की गईं स्थापित।